Wednesday, July 24, 2024
HomeराजनीतिPM मोदी के दौरे पर प्रोपेगेंडा कर रहे थे CM अशोक गहलोत, PMO ने...

PM मोदी के दौरे पर प्रोपेगेंडा कर रहे थे CM अशोक गहलोत, PMO ने खोल दी पोल: बताया- आमंत्रित किया था, लेकिन कहा नहीं आ पाएँगे

"अशोक गहलोत जी, प्रोटोकॉल के अनुसार, आपको आमंत्रित किया गया है। आपका भाषण भी निर्धारित किया गया है। लेकिन आपके कार्यालय ने बताया कि आप शामिल नहीं हो पाएँगे। आज के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आपका हार्दिक स्वागत है। विकास कार्यों की पट्टिका पर भी आपका नाम है।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 27 जुलाई 2023 के राजस्थान दौरे को कॉन्ग्रेसी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजनीतिक विवाद में घसीटने का प्रयास किया है। गहलोत ने दावा किया कि पीएम के कार्यक्रम से उनका भाषण हटा दिया गया है। इस प्रोपेगेंडा की पोल खोलते हुए प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) ने बताया है कि प्रोटोकॉल के तहत मुख्यमंत्री गहलोत को कार्यक्रम में आमंत्रित किया गया था। उनका संबोधन भी था। लेकिन उनके कार्यालय ने बताया कि मुख्यमंत्री कार्यक्रम में शामिल नहीं हो पाएँगे।

जिस कार्यक्रम को लेकर गहलोत ने दावा किया था वह सीकर में होना है। यहाँ से प्रधानमंत्री नौ करोड़ किसानों के खाते में किसान सम्मान निधि (Kisan Samman Nidhi Yojana) की 14वीं किस्त ट्रांसफर करेंगे। प्रधानमंत्री किसान समृद्धि केंद्र, और यूरिया गोल्ड की शुरुआत करेंगे। सीकर सहित राज्य में 5 मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन और 7 का शिलान्यास करेंगे। इसके बाद प्रधानमंत्री जनसभा को संबोधित भी करेंगे।

लेकिन प्रधानमंत्री के सीकर पहुँचने से कुछ घंटे पहले गहलोत ने एक लंबा ट्ववीट कर आरोप लगाया कि उनका पूर्व निर्धारित तीन मिनट का संबोधन पीएमओ ने हटा दिया है। उन्होंने लिखा, “माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी। आज आप राजस्थान पधार रहे हैं। आपके कार्यालय PMO ने मेरा पूर्व निर्धारित 3 मिनट का संबोधन कार्यक्रम से हटा दिया है। इसलिए मैं आपका भाषण के माध्यम से स्वागत नहीं कर सकूँगा। अतः मैं इस ट्वीट के माध्यम से आपका राजस्थान में तहेदिल से स्वागत करता हूँ।”

इस ट्वीट में गहलोत ने 5 माँगें भी रखी है। इसके जवाब में पीएमओ ने बताया है कि गहलोत के कार्यालय ने बताया था कि वे इस कार्यक्रम में नहीं रहेंगे। पीएमओ ने अपने ट्वीट में कहा है, “अशोक गहलोत जी, प्रोटोकॉल के अनुसार, आपको आमंत्रित किया गया है। आपका भाषण भी निर्धारित किया गया है। लेकिन आपके कार्यालय ने बताया कि आप शामिल नहीं हो पाएँगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पिछली यात्राओं के दौरान भी आपको हमेशा आमंत्रित किया गया है। आपने अपनी उपस्थिति से उन कार्यक्रमों की शोभा भी बढ़ाई है। आज के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आपका हार्दिक स्वागत है। विकास कार्यों की पट्टिका पर भी आपका नाम है। अगर आपको हाल ही में लगी चोट के कारण कोई शारीरिक परेशानी न हो, तो आपकी उपस्थिति बहुत महत्व रखेगी।”

CM गहलोत की माँगें

CM अशोक गहलोत ने ट्वीट कर जो माँगें रखी हैं उनमें अग्निवीर स्कीम वापस लेकर सेना में पहले जैसी भर्ती चालू करवाना, केंद्र सरकार द्वारा जातिगत जनगणना पर निर्णय लेना, राज्य के किसानों की कर्जमाफी के लिए वन टाइम सेटेलमेंट के प्रस्ताव को मँजूरी देना, जनजातीय इलाकों ने खुले 3 मेडिकल कॉलेजों के लिए केंद्र सरकार से आर्थिक सहायता और पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना को राष्ट्रीय महत्व परियोजना का दर्जा दिया जाना शामिल है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बंद ही रहेगा शंभू बॉर्डर, JCB लेकर नहीं कर सकते प्रदर्शन’: सुप्रीम कोर्ट ने ‘आंदोलनजीवी’ किसानों को दिया झटका, 15 अगस्त को दिल्ली कूच...

सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब और हरियाणा के बीच शंभू बॉर्डर को अभी बंद ही रखने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा किसान JCB लेकर प्रदर्शन नहीं कर सकते।

2018, 2019, 2023, 2024… साल दर साल ‘ये मोदी सरकार का अंतिम बजट’ कह-कह कर थके संजय झा: जिस कॉन्ग्रेस ने अनुशासनहीन कह कर...

संजय झा ने 2023 के वार्षिक बजट को उबाऊ बताया था और कहा था कि ये 'विनाशकारी' भाजपा को बाय-बाय कहने का समय है, इसे इनका अंतिम बजट रहने दीजिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -