Thursday, July 18, 2024
Homeराजनीति'बॉर्डर पर सड़क बनाने से डरती थी कॉन्ग्रेस': PM मोदी ने किया देश के...

‘बॉर्डर पर सड़क बनाने से डरती थी कॉन्ग्रेस’: PM मोदी ने किया देश के सबसे लंबे एक्सप्रेसवे का उद्घाटन, राजस्थान के इन जिलों को होगा बड़ा फायदा

उन्होंने यह भी कहा है कि दशकों तक राजस्थान को कुछ लोगों ने बीमारू राज्य कहकर के चिढ़ाया है। लेकिन भाजपा राजस्थान को विकसित भारत का सबसे मजबूत आधार बना रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार (12 फरवरी, 2023) को राजस्थान के दौसा में देश के सबसे बड़े एक्सप्रेस-वे के पहले हिस्से का उद्घाटन किया। इसके पीएम ने जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा है कि कॉन्ग्रेस बॉर्डर पर सड़क बनाने से डरती थी। उनको लगता था कि सड़क से दुश्मन देश में घुस आएगा। कॉन्ग्रेस हमारे सैनिकों की बहादुरी को कम आँकती है।

दौसा में जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है, “आज राजस्थान के, देश के विकास का उत्सव है। आज देश में बन रहे सबसे लंबे एक्सप्रेस-वे दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे का लोकार्पण हुआ है। इस एक्सप्रेस-वे के लोकार्पण से दौसा के अलावा अलवर, भरतपुर, सवाई माधोपुर, बुंदी और कोटा जिले को लाभ होगा।”

उन्होंने यह भी कहा है कि दशकों तक राजस्थान को कुछ लोगों ने बीमारू राज्य कहकर के चिढ़ाया है। लेकिन भाजपा राजस्थान को विकसित भारत का सबसे मजबूत आधार बना रही है। राजस्थान की धरती शूरवीरों की धरती है। यहाँ बच्चे-बच्चे का सपना रहा है कि भारत दुनिया में किसी से भी कम न हो। इसी सपने को पूरा करने के लिए अब भारत ने विकसित बनने का संकल्प लिया है।

प्रधानमंत्री ने आगे कहा है कि कॉन्ग्रेस की सरकार भारत के सीमावर्ती इलाकों में सड़क बनाने से डरती थी। उन्हें लगता था कि दुश्मन हमारी बनाई सड़कों से चलकर देश के भीतर आ जाएगा। यह समझ नहीं आता कि आखिर ऐसा क्या था कि कॉन्ग्रेस देश सैनिकों के शौर्य और बहादुरी को कम आँकती रही है। सीमा पर दुश्मनों को रोक देना, उन्हें मुँह तोड़ जवाब देना, हमारी सेनाओं को बखूबी आता है।

अशोक गहलोत के पुराने बजट पेश को लेकर ली चुटकी

राजस्थान सरकार के बजट सत्र के दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पुराना बजट पढ़ दिया था। इसको लेकर पीएम मोदी ने चुटकी लेते हुए कहा है, “अभी जो बजट सत्र हुआ उसकी पूरे देश में चर्चा हो रही है। मैं मानता हूँ कि गलती किसी से हो सकती है। लेकिन कॉन्ग्रेस के पास न विजन है और न वजन। बजट और घोषणाओं को लागू करने का कॉन्ग्रेस का कोई ईरादा नहीं है। सवाल ये नहीं है कि कौन सा बजट पढ़ा। सवाल ये है कि पिछला बजट भी साल भर से डिब्बे में बंद पड़ा था।”

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा है कि अब राजस्थान को अस्थिर सरकार से मुक्ति चाहिए, अनिश्चिताओं से मुक्ति चाहिए। अब राजस्थान को स्थिर और विकास वाली सरकार चाहिए, तभी राजस्थान में कानून का राज स्थापित हो पाएगा। तभी राजस्थान तेज विकास के रास्ते पर चल पाएगा। बीते 9 वर्षों से केंद्र सरकार रोड, रेल, गरीबों के लिए घर, हर घर में जल, बिजली ऐसे हर इंफ्रास्ट्रक्चर पर पैसा खर्च कर रही है। इस बार के बजट में भी गाँव, गरीब की सुविधाएँ बढ़ाने के लिए सबसे अधिक बल इंफ्रास्ट्रक्चर पर दिया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -