Tuesday, July 23, 2024
Homeराजनीति'देश का निजाम खराब': माफिया को मिट्टी में मिलाने के बयान से CM योगी...

‘देश का निजाम खराब’: माफिया को मिट्टी में मिलाने के बयान से CM योगी पर भड़के सपा सांसद शफीकुर्रहमान, कहा – मुस्लिम युवकों को किया जा रहा टारगेट

बर्क का कहना है कि लोग अमन-चैन से रहना चाहते हैं लेकिन भाजपा की सरकार में हालात इतने खराब हैं कि उनका रहना भी दुश्वार हो गया है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा उमेश पाल की हत्या में आरोपित माफिया अतीक अहमद को मिट्टी में मिला देने के बयान पर सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने नाराजगी जताई है। सांसद ने देश के हालात खराब बताते हुए मुस्लिमों पर ज्यादा जुल्म होने की बात कही है। योगी के विधानसभा में दिए गए बयान को गुरूर भरा बताते हुए शफीकुर्रहमान बर्क ने इसे असंसदीय बताया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक संभल से सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने कहा कि एक पढ़े लिखे व्यक्ति को मिट्टी में मिला देने जैसे बयान शोभा नहीं देते हैं। LIC में पैसे डूबने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि कई अन्य माफिया भी हैं जो और ज्यादा पनप रहे हैं। इस दौरान सपा सांसद ने UP के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधा। बकौल बर्क मोदी सरकार में मुस्लिमों पर तमाम जुल्म हो रहे हैं जिसमे मॉब लिंचिंग भी शामिल है।

बर्क का कहना है कि लोग अमन-चैन से रहना चाहते हैं लेकिन भाजपा की सरकार में हालात इतने खराब हैं कि उनका रहना भी दुश्वार हो गया है। मॉब लिंचिंग के नाम पर मुस्लिमों की हत्या का आरोप लगाते हुए शफीकुर्रहमान ने कहा कि ऐसी घटनाओं से देश का नाम खराब हो रहा है। बर्क का आरोप है कि भाजपा सरकार में न सिर्फ मुस्लिम युवकों को टारगेट किया जा रहा है बल्कि बहन और बेटियाँ भी सुरक्षित नहीं हैं। इस दौरान उन्होंने पुलिस पर भी पैसे ले कर काम करने और उल्टे-सीधे इनकाउंटर करने की तोहमत लगाई।

उमेश पाल की हत्या पर शफीकुर्रहमान ने कहा, “ठीक है। झगड़े कहीं न कहीं होते रहते हैं।” बर्क ने आगे कहा कि देश में रहने वाले हर व्यक्ति की सुरक्षा की जिम्मेदारी सरकार की है भले ही वो किसी भी धर्म या जाति का क्यों न हो। उन्होंने कहा कि इंसानों की जिंदगी महफूज रहना सबसे जरूरी है। मुल्क के निजाम को ठीक न बताते हुए उन्होंने कहा कि लोगों का जीवन खतरे में है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -