‘ऐसी कार्रवाई की जाएगी कि दंगाइयों की 7 पुश्तें गुंडई करने से डरेंगी, कोई बख्शा नहीं जाएगा’

उत्तर प्रदेश में दंगाइयों के ख़िलाफ़ योगी आदित्यनाथ की सरकार कड़ी कार्रवाई कर रही है। जहाँ एक तरफ सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुँचाने वालों की संपत्ति को नीलाम कर भरपाई की जा रही है, वहीं दूसरी तरफ पत्थरबाजों को सीसीटीवी के माध्यम से चिह्नित कर उन्हें गिरफ़्तार किया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश में दंगाइयों के ख़िलाफ़ योगी आदित्यनाथ की सरकार कड़ी कार्रवाई कर रही है। जहाँ एक तरफ सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुँचाने वालों की संपत्ति को नीलाम कर भरपाई की जा रही है, वहीं दूसरी तरफ पत्थरबाजों को सीसीटीवी के माध्यम से चिह्नित कर उन्हें गिरफ़्तार किया जा रहा है। यूपी पुलिस भी दंगाइयों को लेकर सख्त है। मेरठ के एसपी ने ‘पाकिस्तान ज़िंदाबाद’ का नारा लगाने वालों को जम कर फटकार लगाई। वहीं वाराणसी में एक पुलिस अधिकारी ने बिना अनुमति उपद्रव करने वालों को कड़ी डाँट पिलाई। यूपी में सीएए के ख़िलाफ़ हुई हिंसा में 20 लोग मारे जा चुके हैं।

वहीं योगी सरकार में मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला ने कहा है कि दंगाइयों और गुंडों के ख़िलाफ़ ऐसी कार्रवाई की जाएगी कि उनकी सात पुश्तें याद रखेंगी। विपक्ष लगातार दंगाइयों पर कार्रवाई करने को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व यूपी पुलिस पर निशाना साध रहा है। ग्रामीण विकास व संसदीय कार्य राज्यमंत्री आनंद स्वरूप ने गाजीपुर में ये बातें कहीं। उन्होंने न सिर्फ़ अपनी सरकार की पीठ थपथपाई बल्कि जनता को भी आश्वासन दिया कि हिंसा करने वाले बख्शे नहीं जाएँगे। मंत्री शुक्ला ने कहा:

दंगाइयों पर पुलिसिया कार्रवाई का मैं पूर्ण समर्थन करता हूँ। जो भी व्यक्ति संविधान के खिलाफ जाकर हिंसात्मक रवैया अपनाएगा, उसके ख़िलाफ़ सख्त से सख्त कार्रवाई करने में प्रदेश सरकार पूरी तरह सक्षम है। मैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को दंगाइयों पर कड़ी कार्रवाई करने के लिए बधाई देता हूँ। आगे भी दंगाइयों पर ऐसी कार्रवाइयाँ होनी हैं कि उनकी सात पुश्तें याद रखेंगी। उनकी सात पुश्तें गुंडई और दंगा करने से डरेंगी।”

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

मंत्री ने इस दौरान कॉन्ग्रेस को भी निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि विपक्ष देश में अशांति फैलाना चाहता है। उन्होंने पूर्व कॉन्ग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि वो वही भाषा बोल रहे हैं, जिसका इस्तेमाल पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान करते आए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि ये सभी नेता प्रधानमंत्री मोदी द्वारा किए जा रहे बड़े-बड़े कार्यों से चिढ़ते हैं और इसीलिए जनता को भड़काने में लगे हुए हैं।

आनंद स्वरूप शुक्ला को योगी मंत्रिमंडल के विस्तार के क्रम में अगस्त 2018 में राज्यमंत्री का पद दिया गया था। इसके बाद बलिया पहुँचे शुक्ला काफ़ी भावुक हो गए थे। सतीश चंद्र पीजी कॉलेज में पढ़ने के दौरान छात्र संघ के अध्यक्ष रहे शुक्ला ने मंत्री बनने के बाद कॉलेज के प्रवेश द्वार की मिट्टी को माथे से लगाया था और अपनी माँ के पैर छू कर आशीर्वाद लिया थे। इसकी चर्चा पूरे यूपी में हुई थी।

NDTV का नया कारनामा: दंगाइयों को बताया ‘प्रदर्शनकारी’, रिपोर्ट में बदला CM योगी का बयान

पाकिस्तान परस्त दंगाइयों को जब SP ने समझाया, तो NDTV ने उसे ‘मुसलमानों को धमकाया’ कह कर दिखाया

जब दंगाई पत्थर बरसा रहे थे, एक शख्स ने पुलिस वालों के खाने का भरा बिल… वो भी बिना बताए!

कॉन्ग्रेस व विपक्ष की दंगाइयों, घुसपैठियों के साथ खड़े होने की क्या मजबूरी है?

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

मोदी, उद्धव ठाकरे
इस मुलाकात की वजह नहीं बताई गई है। लेकिन, सीएम बनने के बाद दिल्ली की अपनी पहली यात्रा पर उद्धव ऐसे वक्त में आ रहे हैं जब एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार के साथ अनबन की खबरें चर्चा में हैं। इससे महाराष्ट्र में राजनीतिक सरगर्मियॉं अचानक से तेज हो गई हैं।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

153,901फैंसलाइक करें
42,179फॉलोवर्सफॉलो करें
179,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: