Wednesday, July 28, 2021
Homeराजनीतिनायर समुदाय की महिलाओं की छवि धूमिल करने के आरोप में शशि थरूर को...

नायर समुदाय की महिलाओं की छवि धूमिल करने के आरोप में शशि थरूर को अदालत ने जारी किया समन

इससे पहले, शशि थरूर के खिलाफ समन के बावजूद अदालत में पेश नहीं होने के कारण गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया था। कोर्ट ने 1 नवम्बर को इस मामले में नोटिस जारी कर थरूर को पेश होने का निर्देश दिया था।

कॉन्ग्रेस सांसद शशि थरूर के खिलाफ केरल के तिरुवनंतपुरम की एक अदालत ने शनिवार (फरवरी 20, 2021) को समन जारी किया। शशि थरूर को 10 मई को अदालत में पेश होने के लिए कहा गया है। उनके खिलाफ नायर समुदाय की महिलाओं का अपमान करने का आरोप है। यह मामला शशि थरूर द्वारा लिखे गए एक उपन्यास पर आधारित है। शिकायत में कहा गया है कि उपन्यास, ‘द ग्रेट इंडियन नोवल’ केरल में नायर समुदाय की महिलाओं का अपमान करता है।

इससे पहले, शशि थरूर के खिलाफ समन के बावजूद अदालत में पेश नहीं होने के कारण गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया था। कोर्ट ने 1 नवम्बर को इस मामले में नोटिस जारी कर थरूर को पेश होने का निर्देश दिया था।

जब कोर्ट की कार्यवाही शुरू हुई, तो न तो थरूर वहाँ मौजूद थे और न ही उनकी ओर से कोई वकील अदालत पहुँचा। इस पर फर्स्ट क्लास चीफ जूडिशियल मजिस्ट्रेट ने नाराजगी जाहिर की और उनके खिलाफ वारंट जारी कर दिया। इससे पहले भी नोटिस जारी करने पर थरूर कोर्ट नहीं पहुँचे थे।

संध्या श्रीकुमार ने दायर किया मामला

इस मामले में समुदाय की एक महिला ने शिकायत दर्ज कराई थी। संध्या श्रीकुमार ने कॉन्ग्रेस नेता थरूर के खिलाफ अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष एक निजी शिकायत दर्ज करवाई थी। संध्या श्री कुमार, एनएसएस के लोकल यूनिट नायर सर्विस सोसाइटी पेरुमथनी करायोगम की सदस्य हैं। यह संगठन नायर समुदाय का प्रतिनिधित्व करता है।

किताब को लेकर पहले भी विवादों में रहे थरूर

किताब को लेकर थरूर पहले भी विवादों में रह चुके हैं। 2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव में भी यह मुद्दा उठा था। कॉम्युनिस्ट पार्टी की महिला इकाई ने महिलाओं के प्रति अपमानजनक शब्दों के लिए माफी माँगने को कहा था। थरूर पर 1989 में प्रकाशित उनके उपन्यास ‘द ग्रेट इंडियन नॉवेल’ में नायर समुदाय महिलाओं का गलत चित्रण करने का आरोप है।

इसमें 20वीं शताब्दी का राजनीतिक इतिहास बताने के लिए महाभारत के चरित्रों का इस्तेमाल किया गया है। किताब में पांडु नाम का किरदार नायर समुदाय की महिलाओं के बारे में आपत्तिजनक शब्द कहता है। इस पर कुछ संगठनों ने भी आपत्ति जताई थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कराहते केरल में बकरीद के बाद बिकराल कोरोना लेकिन लिबरलों की लिस्ट में न ईद हुई सुपर स्प्रेडर, न फेल हुआ P विजयन मॉडल!

काँवड़ यात्रा के लिए जल लेने वालों की गिरफ्तारी न्यायालय के आदेश के प्रति उत्तराखंड सरकार के जिम्मेदारी पूर्ण आचरण को दर्शाती है। प्रश्न यह है कि हम ऐसे जिम्मेदारी पूर्ण आचरण की अपेक्षा केरल सरकार से किस सदी में कर सकते हैं?

साँवरें के रंग में रंगी हरियाणा की तेजतर्रार महिला IPS भारती अरोड़ा, श्रीकृष्‍ण भक्ति के लिए माँगी 10 साल पहले स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने इस खबर की पुष्टि की है। उन्होंने बताया है कि अंबाला रेंज की आइजी भारती अरोड़ा ने वीआरएस के लिए आवेदन किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,696FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe