Friday, July 19, 2024
HomeराजनीतिUP के पहले चरण में 59% मतदान: सबसे अधिक कैराना में 65.3% वोटिंग, 623...

UP के पहले चरण में 59% मतदान: सबसे अधिक कैराना में 65.3% वोटिंग, 623 उम्मीदवारों का भाग्य EVM में कैद

ADR के अनुसार, पहले चरण के कुल प्रत्याशियों में से 156 उम्मीदवारों (लगभग 25 प्रतिशत) पर आपराधिक मामले दर्ज हैं। आपराधिक मामलों वाले उम्मीदवारों में समाजवादी पार्टी पहले स्थान (75 प्रतिशत), RLD दूसरे स्थान (51 प्रतिशत) और बसपा के तीसरे स्थान (लगभग 31 प्रतिशत) पर हैं।

उत्तर प्रदेश में जारी विधानसभा चुनावों (Uttar Pradesh Assembly Election 2022) में पहले चरण का मतदान खत्म हो गया है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 11 जिलों के 58 विधानसभा सीटों पर गुरुवार (10 फरवरी) को हुए मतदान में शाम 6 बजे तक 59.05 प्रतिशत वोटिंग हुई। चुनाव आयोग ने इस बात की जानकारी दी। सबसे अधिक मतदान कैराना में हुआ है।

उत्तर प्रदेश के 18वीं विधानसभा गठन के लिए हुए मतदान में शुरुआत धीमी रही, लेकिन दिन बीतने के साथ इसमें गति आती गई। सुबह 7 बजे शुरू हुए मतदान में इन सीटों पर 11 बजे तक सिर्फ 35.03 प्रतिशत वोटिंग ही हो पाई थी। वहीं, शाम 5 बजे तक कुल मतदान प्रतिशत 57.79 प्रतिशत बताई जा रही थी।

सबसे अधिक मतदान कैराना में हुआ है। वहाँ 65.30 प्रतिशत वोट डाले गए हैं। वहीं, सबसे कम मतदान साहिबाबाद में सिर्फ 38 प्रतिशत हुआ। अगर जिले के अनुसार मतदान की बात करें तो शामली में 69.53 प्रतिशत, मुजफ्फरनगर में 62.14 प्रतिशत, बागपत में 61.35 प्रतिशत, बुलंदशहर में 60.52 प्रतिशत, हापुड़ में 60.50 प्रतिशत, मेरठ में 58.52 प्रतिशत, मथुरा में 58.51 प्रतिशत, अलीगढ़ में 57.25 प्रतिशत, आगरा में 56.61 प्रतिशत, गाजियाबाद में 54.78 प्रतिशत और गौतमबुद्ध नगर में 54.77 प्रतिशत मतदान की खबर है।

पहले चरण में  898 मोहल्ले और 5,535 मतदान केंद्रों को संवेदनशील की श्रेणी में रखे गए थे। सुरक्षा के लिए इस दौरान केंद्रीय सुरक्षाबलों की 796 कंपनियाँ तैनात की गई थीं। इनमें 724 कंपनियों को बूथ ड्यूटी, 15 कंपनियों को स्ट्रॉन्ग रूम में, 5 कंपनियाँ EVM सिक्योरिटी के लिए और 66 कंपनियाँ कानून-व्यवस्था में तैनात की गई थीं। इसके अलावा, यूपी की PAC की 27 कंपनियों को भी तैनात किया गया था। इस दौरान लगभग 1.25 लाख पुलिसकर्मियों, होमगार्ड के जवानों और गाँव के चौकीदारों को ड्यूटी पर लगाया गया था।

पहले चरण के मतदान में 2.28 करोड़ मतदाता हैं, जिनमें 1.24 करोड़ पुरूष, 1.04 करोड़ महिला तथा 1,448 ट्रांसजेंडर वोटर हैं। पहले चरण के 58 सीटों में 9 सीटें सुरक्षित (Reserved) कैटेगरी में हैं। वहीं, इन विधानसभा सीटों पर चुनावों में 623 उम्मीदवार मैदान में थे। ADR के अनुसार, इनमें से 156 उम्मीदवारों (लगभग 25 प्रतिशत) पर आपराधिक मामले दर्ज हैं। आपराधिक मामलों वाले उम्मीदवारों में समाजवादी पार्टी पहले स्थान (75 प्रतिशत), RLD दूसरे स्थान (51 प्रतिशत) और बसपा के तीसरे स्थान (लगभग 31 प्रतिशत) पर हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -