Monday, July 15, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयईरान की गोला-बारूद फैक्ट्री में ड्रोन हमले से हुआ जोरदार धमाका, इस्लामी मुल्क और...

ईरान की गोला-बारूद फैक्ट्री में ड्रोन हमले से हुआ जोरदार धमाका, इस्लामी मुल्क और इजरायल की चलती है दुश्मनी

"ईरान के रक्षा मंत्रालय का कहना है कि इस्फहान में गोला-बारूद की फैक्ट्री को तीन ड्रोन द्वारा टारगेट किया किया गया था। इसमें से एक ड्रोन सेना ने गोली मारकर गिरा दिया।"

ईरान के इस्फहान शहर में स्थित गोला बारूद की फैक्ट्री में जोरदार धमाका हुआ। यह धमाका ड्रोन हमले के कारण हुआ। ईरान के रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि हमले में 3 ड्रोन शामिल थे। इसमें से 2 ड्रोन एयर डिफेंस सिस्टम में फँस गए। वहीं, 1 को मार गिराया गया। इस हमले में किसी प्रकार के जान-माल के नुकसान होने की पुष्टि नहीं हुई।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इस्फान में यह हमला शनिवार (28 जनवरी, 2023) को स्थानीय समयानुसार करीब साढ़े दस बजे हुआ। इस हमले को लेकर ईरान इंटरनेशनल ने रक्षा मंत्रालय के हवाले से कहा है कि ड्रोन हमला असफल रहा। इसमें किसी की जान नहीं गई। गोला-बारूद बनाने वाली फैक्ट्री की छत को थोड़ा-बहुत नुकसान हुआ है। इस हमले में फैक्ट्री में चल रहे काम में किसी प्रकार की रुकावट पैदा नहीं हुई। सभी उपकरण भी सुरक्षित हैं।

ईरान इंटरनेशनल ने एक अन्य ट्वीट में कहा है, “ईरान के रक्षा मंत्रालय का कहना है कि इस्फहान में गोला-बारूद की फैक्ट्री को तीन ड्रोन द्वारा टारगेट किया किया गया था। इसमें से एक ड्रोन सेना ने गोली मारकर गिरा दिया। वहीं, दो अन्य एयर डिफेंस सिस्टम में फँस गए, जिससे इनमें विस्फोट हो गया।”

ऐसा ही दावा इस्फहान प्रांत के सुरक्षा उप प्रमुख मोहम्मद रजा जन-नेसारी भी किया है। उन्होंने कहा है, “रक्षा मंत्रालय से जुड़े सैन्य केंद्र में एक में विस्फोट हुआ है। हालाँकि विस्फोट से कुछ नुकसान हुआ है। लेकिन इसमें कोई हताहत नहीं हुआ।”

न्यूज एजेंसी एएनआई ने ईरान की सरकारी न्यूज एजेंसी आईआरएनए के हवाले से कहा है कि हमले में इस्तेमाल किए गए ड्रोन काफी छोटे थे। ईरान के सैन्य ठिकाने पर यह हमला ऐसे समय हुआ है जब अमेरिका और इजरायल के साथ उसके संबंध तनावपूर्ण बने हुए हैं। यही नहीं, इजरायल ने साल 2015 के परमाणु समझौते के उल्लंघन पर ईरान के खिलाफ सैन्य कार्रवाई की धमकी भी दी है। हालाँकि, न तो ईरान ने इस हमले के इजरायल को जिम्मेदार ठहराया है और ना ही इजरायल ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -