Sunday, July 14, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयबेटी को उठा ले गया, बेटे को मार डाला: धरने पर बुजुर्ग हिन्दू माँ,...

बेटी को उठा ले गया, बेटे को मार डाला: धरने पर बुजुर्ग हिन्दू माँ, अब्दुल्ला पर एक FIR तक दर्ज नहीं कर रही पाकिस्तान की पुलिस

इससे पहले अब्दुल्ला ने नवंबर 2022 में लाली को जबरन उठाकर अपने घर ले गया था। उसनने लालू को अपने घर पर कैद कर लिया था। इसके बाद लालू ने अपनी बहन के अपहरण की शिकायत पुलिस से कराने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया।

पड़ोसी देश पाकिस्तान हिंदू अल्पसंख्यक समुदाय के लिए नरक बन गया है। यहाँ हिंदू महिलाओं का अपहरण, बलात्कार और हत्या की घटनाएँ आम बात है। पाकिस्तान की इस्लामी कट्टरपंथ परस्त सरकार के लिए भी ये बड़ा मुद्दा नहीं है।

सिंध में एक बार फिर अपनी बहन के अपहरण का विरोध करने पर एक हिंदू की सरेआम हत्या कर दी गई। न्याय पाने के लिए मृतक की बुजुर्ग माँ को सर्दी में थाने के सामने धरना देना पड़ा, तब जाकर इस मामले में पुलिस ने हत्या की FIR दर्ज की।

बता दें कि हाल में सिंध में एक हिंदू विधवा महिला का बलात्कार करने के बाद उसकी हत्या कर दी गई। इतना ही नहीं, उसके आरोपितों ने उसके हाथ-पैर को भी काट दिए। इस मामले में भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

यह मामला पाकिस्तान के सिंध प्रांत के उमरकोट जिले के कुंटी का है। यहाँ 35 साल के लालू काछी रहते थे। 25 दिसंबर को अब्दुल्ला खोसो नाम के स्थानीय व्यक्ति के नेतृत्व में कुछ मुस्लिम लालू के घर में घुस गए और उनकी शादीशुदा बहन लालू को उठा ले गए।

इस दौरान लालू ने इन शैतानों से अपनी बहन को बचाने की कोशिश की की, लेकिन उन लोगों ने लालू को इतना मारा कि उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। आखिरकार संसाधनों की कमी और गरीबी की वजह से लालू की 1 जनवरी 2023 की मौत हो गई।

इससे पहले अब्दुल्ला ने नवंबर 2022 में लाली को जबरन उठाकर अपने घर ले गया था। उसनने लालू को अपने घर पर कैद कर लिया था। इसके बाद लालू ने अपनी बहन के अपहरण की शिकायत पुलिस से कराने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया।

स्थानीय लोगों का कहना है कि इस दौरान अब्दुल्ला ने लाली का जबरन धर्म परिवर्तन भी करा दिया था। इतना ही नहीं शादीशुदा इस महिला के साथ अब्दुल्ला ने जबरन निकाह भी कर लिया था। लगातार होती ऐसी घटनाओं से हिंदू समुदाय उबल पड़ा।

इसके हिंदू समुदाय ने इसको लेकर जोरदार विरोध किया था। तब जाकर पुलिस ने मामला दर्ज किया। बाद में कोर्ट में लालू ने अब्दुल्ला के खिलाफ गवाही दी, तब कोर्ट ने लाली को उसके भाई को सौंप दिया था। उस वक्त अब्दुल्ला ने लालू को धमकी दी थी। अब्दुल्ला स्थानीय गुंडा बताया जा रहा है।

इसके बाद अब्दुल्ला अपने साथियों के साथ लालू के घर पर हमला कर लालू को इतना मारा कि उसकी मौत हो गई। वहीं, लाली को एक बार फिर उठा ले गया। लाली इस वक्त कहाँ है और उसके साथ क्या हुआ, इसकी जानकारी परिवार को नहीं है। लालू शादीशुदा थे और उनके चार बच्चे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -