Monday, July 15, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयUN में भारतीय पत्रकार ने पूछा सवाल, जवाब दिए बिना ही भाग निकले जस्टिन...

UN में भारतीय पत्रकार ने पूछा सवाल, जवाब दिए बिना ही भाग निकले जस्टिन ट्रूडो: भारत ने कनाडा के नागरिकों के लिए वीजा सेवा बंद की

इससे पहले कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के बयान के बाद नई दिल्ली स्थित कनाडाई दूतावास ने अपने यहाँ काम करने से भारतीय कर्मचारियों को छुट्टी पर भेज दिया था। उन्हें इसके लिए कोई स्पष्ट कारण नहीं बताए गए थे। वहीं, भारत और कनाडा ने एक दूसरे से अपने दूतावासों की सुरक्षा बढ़ाने का आग्रह किया है।

अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में जारी संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में शामिल होने पहुँचे कनाडा के प्रधानमंत्री भारतीय पत्रकार के सवालों से बचते नजर आए। पत्रकार ने कनाडाई पीएम जस्टिन ट्रूडो से उनके द्वारा भारत पर लगाए गए आरोपों को लेकर सवाल किया था। वहीं, भारत ने रिश्तों में आई खटास के बीच कनाडाई नागरिकों को वीजा देना बंद कर दिया है।

संयुक्त राष्ट्र महासभा की वार्षिक बैठक में शामिल होने पहुँचे ट्रूडो से भारतीय समाचार एजेंसी PTI की महिला पत्रकार योषिता सिंह ने सवाल किया था। योषिता ने भारत द्वारा उनके आरोपों को खारिज करने को लेकर दो बार प्रश्न पूछा, लेकिन खिसियाये ट्रूडो ने कोई उत्तर नहीं दिया।

जस्टिन ट्रूडो ने 18 सितम्बर 2023 को कनाडा की संसद में खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या का आरोप भारत पर लगाया था। निज्जर की इस साल जून में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। ट्रूडो के लगाए गए आरोपों को भारत ने सिरे से खारिज कर दिया था और कनाडा की आलोचना की थी।

पत्रकार योषिता सिंह ने दो बार ट्रूडो से उनके हालिया बयानों और भारत के जवाब को लेकर प्रश्न पूछा, लेकिन उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया और हँसते हुए अपने अधिकारियों के साथ आगे बढ़ गए। गौरतलब है कि ट्रूडो पर अब यह दबाव है कि वह भारत के विरुद्ध लगाए गए आरोपों के साक्ष्य सामने रखें।

जस्टिन ट्रूडो की इस बचकाना हरकत के बाद कनाडा और भारत के सम्बन्ध काफी निचले स्तर पर पहुँच गए हैं। दोनों देशों ने एक दूसरे के देश में जाने वाले अपने नागरिकों के लिए सुरक्षा चेतावनियाँ जारी की हैं।

भारत कनाडा के नागरिकों को नहीं देगा वीजा

भारत और कनाडा के बीच जारी कूटनीतिक लड़ाई के बीच भारत के विदेश मंत्रालय ने बड़ा निर्णय लिया है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने कनाडा के नागरिकों को वीजा देने पर रोक लगा दी है। यह रोक अनिश्चितकाल के लिए लगाई गई है। अभी इस बात की विदेश मंत्रालय ने आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं की है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, कनाडा में वीजा सेवाएँ देने वाली कम्पनी BLS इंटरनेशनल ने अपनी वेबसाइट पर इस संबंध में जानकारी दी है। BLS ने लिखा है कि भारतीय विदेश मंत्रालय ने ऑपरेशनल कारणों का हवाला देते हुए भारत का वीजा देने पर रोक लगा दी है।

इससे पहले कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के बयान के बाद नई दिल्ली स्थित कनाडाई दूतावास ने अपने यहाँ काम करने से भारतीय कर्मचारियों को छुट्टी पर भेज दिया था। उन्हें इसके लिए कोई स्पष्ट कारण नहीं बताए गए थे।

भारत और कनाडा ने एक दूसरे से अपने दूतावासों की सुरक्षा बढ़ाने का आग्रह किया है। हालाँकि, बीते कुछ समय में कनाडा स्थित भारतीय दूतावासों के बाहर खालिस्तानी प्रदर्शन हुए हैं और कनाडाई सुरक्षा एजेंसियाँ मूकदर्शक बनी रही हैं, जबकि भारत में ऐसा मामला सामने नहीं आया है।

कनाडाई नागरिकों को भारत सरकार कब वीजा देना शुरू करेगी, इसकी अभी कोई तारीख नहीं बताई गई है। किसी भी देश का दूसरे देश के नागरिकों को वीजा देने पर रोक लगाना कूटनीतिक स्तर पर बड़ा कदम माना जाता है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बैकफुट पर आने की जरूरत नहीं, 2027 भी जीतेंगे’: लोकसभा चुनावों के बाद हुई पार्टी की पहली बैठक में CM योगी ने भरा जोश,...

लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की लखनऊ में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकर्ताओं में जोश भरा।

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -