Monday, July 22, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'उम्मीदों का दीया जलाएँ': दिवाली पर भारतीयों से इजरायल की भावुक अपील, कहा -...

‘उम्मीदों का दीया जलाएँ’: दिवाली पर भारतीयों से इजरायल की भावुक अपील, कहा – हमारे 240 बंधकों की सकुशल वापसी के लिए प्रार्थना करें, समर्थन दें

"हमारे 240 प्रियजनों को हमास के आतंकवादियों ने एक महीने से बंधक बना रखा है। हर दिवाली पर हम दीये जलाकर भगवान राम की वापसी का जश्न मनाते हैं।"

भारत में दीपावली नज़दीक आ चुकी है। लोग प्रकाश के पर्व की तैयारियाँ कर रहे हैं। वहीं, मिडिल ईस्ट में इजरायल और हमास के बीच युद्ध चल रहा है, जिसमें 240 इजरायलियों को हमास ने अभी भी बंधक बनाया हुआ है। इस बीच, भारत में इजरायल के राजदूत ने लोगों से अपील की है कि समस्त भारतीय हमास द्वारा अपहृत और बंदी बनाए गए इजरायलियों की सकुशल वापसी के लिए ‘उम्मीदों का दीया’ जलाएँ। उन्होंने भारतीयों से इजरायल के समर्थन की भी अपील की।

इजरायल के राजदूत नाओर गिलोन ने ‘X’ (पूर्व में ट्विटर) पर एक वीडियो पोस्ट किया, जिसमें वो दीया जलाते हुए दिख रहे हैं। गिलोन ने कहा, “हमारे 240 प्रियजनों को हमास के आतंकवादियों ने एक महीने से बंधक बना रखा है। हर दिवाली पर हम दीये जलाकर भगवान राम की वापसी का जश्न मनाते हैं। इस दिवाली में हम आपको हमारे प्रियजनों के वापस आने की उम्मीद में दीया जलाने के लिए आमंत्रित करते हैं। हमें टैग करें और #DiyaOfHope का उपयोग करके अपनी तस्वीरें साझा करें।”

गिलोन ने कहा, “हम भारतीयों से अपील करते हैं कि वे इन नागरिकों के लिए प्रार्थना करें। हम उम्मीद करते हैं कि हम जल्द ही उन्हें उनके परिवारों के पास वापस ला सकेंगे।”

इस बीच इजरायली रक्षा बलों ने अपने अभियानों के दौरान हमास आतंकवादियों से बरामद विभिन्न हथियारों की तस्वीरें जारी कीं। IDF के अनुसार, 7 अक्टूबर को हमास के आतंकवादियों के पास से मिले हथियारों का बड़ा जखीरा बरामद किया गया है, जिसमें 1493 हथगोले और विस्फोटक, 760 RPG, 427 विस्फोटक बेल्ट, 375 रॉकेट, 106 रॉकेट मिसाइलें शामिल हैं। IDF ने बताया कि ये केवल कुछ हथियार हैं जिनका इस्तेमाल 1400 से अधिक इजरायली नागरिकों के नरसंहार के लिए किया गया था।

इस बीच, इजरायल के प्रधानमंत्री ने कहा है कि गाजा में सुरक्षा की जिम्मेदारी अनिश्चितकाल के लिए अब इजरायल उठाएगा। उनके इस बयान के सीधे मायने है कि गाजा को इजरायल पूरी तरह से हथियारों से मुक्त करना चाहता है, साथ ही सुरक्षा की पूरी जिम्मेदारी अपने पास रखना चाहता है। इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू ने कहा है कि अगर इजरायल ऐसा पहले करता, तो हमास वाला 7 अक्टूबर को हमले की नौबत ही नहीं आती।

बता दें कि 7 अक्टूबर को हमास के आतंकियों ने जल, थल और वायु मार्ग से हमला बोला था। हमास के आतंकी हमले में 1400 से अधिक इजरायलियों की मौत हो गई, जबकि 240 लोगों को हमास के आतंकी बंधक बनाकर गाजा पट्टी ले गए। इसके बाद इजरायल ने युद्ध की घोषणा कर दी और अभी गाजा को दो हिस्सों में बाँट दिया है। इजरायल के जवाबी हमले में अब तक 10,000 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं। इजरायल लगातार गाजा पर हवाई हमलों के साथ अब जमीनी हमले भी कर रहा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

15 अगस्त को दिल्ली कूच का ऐलान, राशन लेकर पहुँचने लगे किसान: 3 कृषि कानूनों के बाद अब 3 आपराधिक कानूनों से दिक्कत, स्वतंत्रता...

15 सितंबर को जींद और 22 सितंबर को पीपली में किसानों की रैली प्रस्तावित है। किसानों ने पूर्व केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा 'टेनी' के बेटे आशीष को जमानत दिए जाने की भी निंदा की।

केंद्र सरकार ने 4 साल में राज्यों को की ₹1.73 लाख करोड़ की मदद, फंड ना मिलने पर धरना देने वाली ममता सरकार को...

वित्त मंत्रालय ने बताया है कि केंद्र सरकार 2020-21 से लेकर 2023-24 तक राज्यों को ₹1.73 लाख करोड़ विशेष मदद योजना के तहत दे चुकी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -