Saturday, July 31, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयजैक मा नहीं रहे चीन के सबसे अमीर व्यक्ति, कम्युनिस्ट पार्टी पर उँगली उठाने...

जैक मा नहीं रहे चीन के सबसे अमीर व्यक्ति, कम्युनिस्ट पार्टी पर उँगली उठाने की भुगतनी पड़ी सजा! जानिए किसने ली उनकी जगह

2020 में 24 अक्टूबर को एक भाषण में जैक मा ने चीन के नियम-कानूनों पर उँगली उठाई थी। इसके बाद दिसंबर 2020 में उनकी कंपनियों के खिलाफ जाँच का दायरा बढ़ा दिया गया और उनका कारोबार गिरता चला गया।

कभी दुनिया के शीर्ष अरबपति कारोबारियों में गिने जाने वाले चीन के सबसे अमीर व्यक्ति रहे जैक मा के सितारे अब गर्दिश में चल रहे हैं। मंगलवार (मार्च 2, 2021) को जारी की गई शीर्ष चीनी अरबपतियों की एक सूची में जैक मा का नाम शीर्ष 3 में नहीं है।

जैक मा के साथ इस सूची में आने वाले अन्य अरबपतियों का कारोबार जहाँ बढ़ता ही चला गया, वहीं उनकी संपत्ति लगातार घट गई है। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ हुए खटपट को इसके लिए जिम्मेदार माना जा रहा है।

2019 और 2020 के लिए आए हुरुन ग्लोबल रिच लिस्ट में जैक मा और उनके परिवार का नाम सबसे ऊपर था, लेकिन अब वो टॉप-3 में न आकर चौथे नंबर पर फिसल गए हैं। उनके ‘Ant ग्रुप’ और ‘अलीबाबा’ के ट्रस्ट के मामलों में चीनी नियामकों की जाँच चल रही है और इसे ही उनकी संपत्ति में गिरावट का कारण बताया गया है।

अक्टूबर 24, 2020 के एक भाषण में उन्होंने चीन के नियम-कानूनों पर उँगली उठाई थी। इसके बाद ‘Ant Group’ के 37 बिलियन डॉलर (2.71 लाख करोड़ रुपए) के IPO को सस्पेंड कर दिया गया।

दिसंबर 2020 में उनकी कंपनियों के खिलाफ जाँच का दायरा बढ़ा दिया गया और उनका कारोबार गिरता चला गया। इसके बाद जैक मा तीन महीनों तक सार्वजनिक चर्चाओं से गायब रहे थे और मीडिया से भी दूर रहे थे, जबकि उन्हें मोटिवेशन टॉक शो, टीवी शोज और इंटरव्यूज के लिए भी जाना जाता रहा है।

चीन के अभी जो सबसे अमीर व्यक्ति हैं, उनका नाम झोंग है। जहाँ उनकी कंपनी ‘Nongfu Spring’ के शेयर के भाव बढ़ने का उन्हें फायदा मिला, वहीं उनकी एक अन्य कंपनी ‘Beijing Wantai Biological Pharmacy Enterprise’ द्वारा कोरोना वैक्सीन बनाने से उनकी संपत्ति में इजाफा हुआ।

TikTok की स्वामित्व वाली कंपनी Bytedance के मालिक झांग ईमिंग इस सूची में पहली बार आए। वहीं Tencent के पोनी मा का भी सूची में नाम है।

जैक मा पिछले साल अपने ही टीवी शो ‘अफ्रीका के बिजनेस हीरो’ में नजर आने वाले थे, लेकिन उनकी गैर उपस्थिति ने कई सवाल खड़े कर दिए। शो में उनकी जगह किसी और शख्स को भेज दिया गया। टीवी शो में शामिल नहीं होने पर अलीबाबा के प्रवक्ता ने कहा था कि शेड्यूल को लेकर हुए विवाद की वजह से वे टीवी शो में शामिल नहीं हुए। फिर जनवरी 2021 में वो एक बैठक में कुछ सेकेंड्स के लिए दिखे थे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,101FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe