Wednesday, July 24, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयऋषि सुनक को देवी माँ, बिडेन को राधा-कृष्ण; सांचेज को कुल्लू-मंडी का बाजा: G-20...

ऋषि सुनक को देवी माँ, बिडेन को राधा-कृष्ण; सांचेज को कुल्लू-मंडी का बाजा: G-20 में PM मोदी ने दुनिया को भेंट किया भारतीय हुनर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन, सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सिएन लूंग और जर्मन चांसलर ओलाफ शोल्ज़ को गुजरात के कच्छ में बना एगेट बाउल गिफ्ट किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने G-20 सम्मेलन के दौरान अमेरिका, ब्रिटेन समेत कई देशों के राष्ट्राध्यक्षों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने वैश्विक नेताओं को भारतीय संस्कृति की झलक पेश करने वाले उपहार दिए। इनमें से कई उपहार राज्यों की संस्कृति से जुड़े हुए हैं। प्रधानमंत्री ने बुधवार (16 नवंबर 2022) को G-20 सम्मेलन की समाप्ति के बाद यह उपहार भेंट किए।

पीएम मोदी ने अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) को भगवान श्रीकृष्ण और राधा की पेंटिंग गिफ्ट की। हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा के चित्रकारों ने इसे बनाया है। कांगड़ा की पेंटिंग में श्रृंगार रस और प्राकृतिक प्रेम का चित्रण किया जाता है। इसकी खासियत ये है कि इसे बनाने में सिर्फ प्राकृतिक रंगों का ही उपयोग किया जाता है।

प्रधानमंत्री मोदी ने ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक (Rishi Sunak) को ‘माता नी पछेड़ी’ उपहार के रूप में दिया। यह गुजरात का एक हस्तनिर्मित कपड़ा है। इसमें देवी माँ का चित्र बना हुआ है। नवरात्रि के समय और अन्य पूजन के दौरान इसे देवी मंदिर में चढ़ाया जाता है। यह नाम गुजराती शब्द माता से लिया गया है, जिसका मतलब देवी माँ होता है। नी का मतलब संबंधित होता है। पछेड़ी का मतलब पृष्ठभूमि से है।

प्रधानमंत्री मोदी ने ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक को ‘माता नी पछेड़ी’ उपहार में भेंट की

प्रधानमंत्री मोदी ने इटली की पहली महिला प्रधानमंत्री जॉर्जिया मेलोनी (Georgia Meloni) से मुलाकात की और उन्हें गुजरात के पाटन की परम्परा के प्रतीक ‘पाटन पटोला दुपट्टा’ (स्कार्फ) गिफ्ट किया। यह स्कार्फ उत्तरी गुजरात के पाटन क्षेत्र में साल्वी परिवार द्वारा बुना गया था। इसमें आगे और पीछे का हिस्सा एक जैसा दिखता है। इसे अलग-अलग पहचानना मुश्किल है।

PM Modi ने इटली की पहली महिला प्रधानमंत्री को ‘पाटन पटोला दुपट्टा’ (स्कार्फ) गिफ्ट किया

पीएम नरेंद्र मोदी ने ऑस्ट्रेलियाई पीएम एंथनी अल्बनीज को जनजातीय लोक कला का चित्र ‘पिथौरा’ उपहार में दिया। गुजरात के छोटा उदयपुर के राठवा कारीगरों ने इसे बना है। ये चित्र ऑस्ट्रेलिया के समुदायों की एबोरिजिनल डॉट पेंटिंग की तरह ही है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने ऑस्ट्रेलियाई पीएम एंथनी अल्बनीज को ‘पिथौरा’ उपहार में दिया है।

PM ने इंडोनेशिया के राष्ट्रपति को दिए दो तोहफे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंडोनेशिया के बाली में आयोजित जी-20 शिखर सम्मेलन में इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो (Joko Widodo) को सूरत से चाँदी का कटोरा और हिमाचल प्रदेश की किन्नौरी शॉल उपहार में दिया। उल्लेखनीय है कि इंडोनेशिया जी-20 शिखर सम्मेलन की मेजबानी कर रहा था।

सूरत से चांदी का कटोरा

वहीं, PM मोदी ने दूसरे तोहफे के रूप में इंडोनेशियाई राष्ट्रपति को किन्नौरी शॉल दिया। यह हिमाचल प्रदेश के किन्नौर के कारीगरों द्वारा हाथ से बनाया गया है।

यह हिमाचल प्रदेश के किन्नौर के कारीगरों द्वारा हाथ से बनाया गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्पेन के प्रधानमंत्री पेड्रो सांचेज को मंडी और कुल्लू का कनाल ब्रास सेट (वाद्ययंत्र) गिफ्ट किया। यह हिमाचल के आयोजनों में बजाए जाने वाला प्रमुख बाजा है, लेकिन इसका उपयोग अब सजावट के सामान के तौर पर किया जाने लगा है। इसे मंडी और कुल्लू के कलाकारों ने हाथ से ही बनाया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्पेन के प्रधानमंत्री पेड्रो सांचेज को मंडी और कुल्लू का कनाल ब्रास सेट (वाध्ययंत्र) गिफ्ट किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन, सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सिएन लूंग और जर्मन चांसलर ओलाफ शोल्ज़ को गुजरात के कच्छ में बना एगेट बाउल गिफ्ट किया।

कच्छ में बना एगेट बाउल

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -