Monday, July 15, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयउसके जीवन की क्या ही कीमत थी...: कैमरे में कैद हुआ भारतीय छात्रा की...

उसके जीवन की क्या ही कीमत थी…: कैमरे में कैद हुआ भारतीय छात्रा की मौत पर हँसता हुआ अमेरिकी अधिकारी, पुलिस की कार ने कुचल दिया था

इस वीडियो में ऑडरर को हँसते हुए और ये कहते हुए सुना जा सकता है कि कुंडला 26 साल की थी और उसका जीवन अनमोल नहीं था, और नगर प्रशासन को सिर्फ 11,000 डॉलर (9.12 लाख रुपए) का चेक जारी कर देना चाहिए।

अमेरिका की नॉर्थईस्टर्न यूनिवर्सिटी के सिएटल कैंपस में 23 साल की मास्टर्स की छात्रा जाह्नवी कंडुला की 23 जनवरी, 2023 में हुए कार हादसे में मौत हो गई थी। दरअसल, गश्त के दौरान सिएटल पुलिस ऑफिसर की SUV कार ने पैदल चल रही इस छात्रा को टक्कर मार दी थी। उस वक्त ऑफिसर केविन डेव गाड़ी चला रहे थे।

इस हादसे को लेकर सिएटल पुलिस ऑफिसर्स गिल्ड के उपाध्यक्ष जासूस डैनियल ऑडरर की उक्त अधिकारी के साथ बातचीत का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। ये वीडियो बॉडीकैम (शरीर के किसी हिस्से में छिपाया गया कैमरा) से रिकॉर्ड किया गया है। इस बातचीत के दौरान वह हँस रहा है और कह कह रहा है, “वह 26 साल की थी, वैसे भी उसके जीवन का मूल्य बस इतना ही था।”

सिएटल पुलिस विभाग के कर्मचारी ने जताई चिंता

रिपोर्ट्स के मुताबिक, एक कॉल का जवाब देते वक्त डेव अपनी कार 119 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चला रहा था। घटनास्थल पर उसने पैदल सड़क पार कर रही जाह्नवी कंडुला को टक्कर मार दी। ‘द सिएटल टाइम्स’ के अनुसार, ड्रग्स एक्सपर्ट डैनियल ऑडेरर को ये जाँच करने के लिए मामला सौंपा गया था कि कहीं डेव ने शराब तो नहीं पी थी। हादसे के बाद ऑडरर ने ही गिल्ड के अध्यक्ष माइक सोलन को फोन करके बताया कि वहाँ क्या हुआ था।

शुरुआत में ऑडरर ने बताया कि ऑफिसर डेव अपनी कार को लगभग 80 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चला रहा था। स्थानीय नियमों के हिसाब से कार उसके ‘नियंत्रण से बाहर’ नहीं थी। हालाँकि, बाद में पुलिस जाँच में पता चला कि जब कार ने जाह्नवी को टक्कर मारी तो उसकी रफ्तार 119 किलोमीटर प्रति घंटा थी। यही वजह रही कि वो इस टक्कर से 100 फीट दूर जा गिरी थी।

सिएटल पुलिस विभाग ने बॉडीकैम की ये रिकॉर्डिंग सोमवार (11 सितंबर, 2023) को जारी की। इस वीडियो में ऑडरर को हँसते हुए और ये कहते हुए सुना जा सकता है कि कुंडला 26 साल की थी और उसका जीवन अनमोल नहीं था, और नगर प्रशासन को सिर्फ 11,000 डॉलर (9.12 लाख रुपए) का चेक जारी कर देना चाहिए।

गौरतलब है कि हादसे के वक्त कंडुला 23 साल की थी, लेकिन डैनियल उनकी उम्र गलत बता रहे थे। हालाँकि, इस वीडियो में गिल्ड के अध्यक्ष सोलन की टिप्पणी रिकॉर्ड नहीं की गई। सिएटल पुलिस विभाग के मुताबिक, ये वीडियो उन्हीं के एक कर्मचारी के हाथ लगा था, जो रोज वहाँ काम करने जाता था।

ये कर्मचारी वीडियो पर सुने गए बयानों को लेकर फिक्रमंद थे। उन्होंने इस वीडियो को अपने सीनियर के पास भेज दिया। विभाग की समीक्षा के बाद जाँच के लिए मामले को आगे भेजा गया। ‘पुलिस एकाउंटेबिलिटी ऑफिस’ के संचालन की अस्सिटेंट डॉयरेक्टर केटी मायर ने बयान में कहा कि ऑफिस को 2 अगस्त को सिएटल पुलिस विभाग के एक कर्मचारी से शिकायत मिली और मामले की जाँच शुरू की गई।

क्या था मामला?

आंध्र प्रदेश के कुरनूल की रहने वाली जाह्नवी कंडुला मास्टर डिग्री के लिए 2021 में बेंगलुरु से अमेरिका के सिएटल गई थीं। वो वहाँ के इंजीनियरिंग कॉलेज में सूचना प्रणाली में मास्टर ऑफ साइंस की पढ़ाई कर रही थीं। वह इस दिसंबर में 2023 में वो पोस्ट ग्रेजुएट होने वाली थी।

‘फॉक्स 13 सिएटल’ के मुताबिक, डेक्सटर एवेन्यू नॉर्थ और थॉमस स्ट्रीट के चौराहे पर उसे पुलिस की तेज रफ्तार कार ने टक्कर मार दी। इस हादसे के बाद उसे हार्बरव्यू मेडिकल सेंटर ले जाया गया जहाँ उसने दम तोड़ दिया।

जाह्नवी की मौत के बाद, ह्यूस्टन में उनके चाचा, अशोक मंडुला ने ‘द सिएटल टाइम्स’ को बताया, “परिवार के पास कहने के लिए कुछ नहीं है, सिवाय इसके कि मुझे हैरानी है कि क्या इनलोगों की बहन-बेटियों के जीवन की कीमत है भी या नहीं? किसी का भी जीवन, जीवन होता है।”

वहीं इस मामले को लेकर सिएटल पुलिस का कहना है कि वो मृतका के परिवार के संपर्क में है और गोपनीयता के उनके अनुरोध का सम्मान करता है। विभाग ने कहा, “हम एक बार फिर इस दुर्घटना को लेकर अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बैकफुट पर आने की जरूरत नहीं, 2027 भी जीतेंगे’: लोकसभा चुनावों के बाद हुई पार्टी की पहली बैठक में CM योगी ने भरा जोश,...

लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की लखनऊ में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकर्ताओं में जोश भरा।

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -