Friday, July 19, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयउम्माह के नाम पर UN में पाकिस्तान का साथ! तुर्किये ने एक झटके में...

उम्माह के नाम पर UN में पाकिस्तान का साथ! तुर्किये ने एक झटके में ही भुला दिया भारत का एहसान, भारतीय राजनयिक ने दी ये सलाह

तकरीबन 2 महीने पहले जबरदस्त भूकंप ने मुस्लिम बहुल देश को हिला कर रख दिया था। प्रकृति के इस प्रकोप से हजारों लोगों की मौत हो गई थी।

विनाशकारी भूकंप की मार झेल रहे तुर्किये ने पलक झपकते ही भारत के एहसानों को भूला दिया। संयुक्त राष्ट्र मानव अधिकार परिषद में मुस्लिम भाईचारा निभाते हुए उसने पाकिस्तान का साथ दिया। तुर्किये ने पाकिस्तान का समर्थन करते हुए भारत पर कश्मीर में मानवअधिकारों के उल्लंघन का आरोप लगाया।

तकरीबन 2 महीने पहले जबरदस्त भूकंप ने मुस्लिम बहुल देश को हिला कर रख दिया था। प्रकृति के इस प्रकोप से हजारों लोगों की मौत हो गई थी। त्रासदी के कुछ ही घंटो के बाद भारत ने तुर्किये की मदद की। भारत के इस कदम की तारीफ भारत स्थित तुर्किये के राजदूत ने भी की थी। कश्मीर मुद्दे पर UNHRC में तुर्किये ने इस्लामी देशों के संगठन OIC के साथ मिलकर पाकिस्तान का पक्ष ले लिया।

पिछले दिनों पाकिस्तान की विदेश राज्य मंत्री हिना रब्बानी खार ने मुल्क के डिफेंस एक्विजिशन की आलोचना की थी। बता दें 22 दिसंबर, 2022 को भारत के रक्षा अधिग्रहण परिषद ने 85,000 करोड़ रुपये से अधिक के 24 प्रस्तावों को मंजूरी दी थी। जिसके तहत सशस्त्र बलों के आधुनिकीकरण और रक्षा उद्योग को बढ़ावा देने संबंधी योजनाएँ शामिल हैं। हिना रब्बानी ने भारत पर कश्मीर को लेकर कई झूठे आरोप भी लगाए थे। तुर्किये और ओआईसी ने पाकिस्तान के झूठ में सुर में सुर मिला दिया।

हालाँकि भारतीय राजनयिक सीमा पुजानी ने पाकिस्तान, तुर्किये और इस्लामिक देशों के संगठन को करारा जवाब दिया। पुजानी ने पाकिस्तान को आतंकी मुल्क कहते हुए कहा कि पाकिस्तान के लोग रोजी रोटी के लिए तरस रहे हैं लेकिन उनका भारत के साथ ऑब्सेशन नहीं छूट रहा। आर्थिक बदहाली का शिकार देश भारत के खिलाफ प्रोपगेंडा फैला रहा है। सीमा पुजानी ने कहा कि पाकिस्तान के मुँह से मानवअधिकारों की बात सुनना मजाक सा लगता है।

सीमा पुजानी ने पाकिस्तान को बेनकाब करते हुए कहा कि वहाँ आवाज उठाने वालों को गायब कर दिया जाता है। उन्होंने पाकिस्तान के जाँच आयोग का ही हवाला देते हुए कहा कि पिछले एक दशक में पाकिस्तान में गुमशुदगी की 8463 शिकायतें दर्ज हुई थीं। सीमा ने कहा कि पड़ोसी मुल्क में कोई भी धार्मिक अल्पसंख्यक आजादी से नहीं रह पा रहा है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों खासकर हिंदुओं को निशाना बनाया जा रहा है।

भारतीय राजनयिक ने हाफिज सईद, मसूद अजहर और ओसामा बिन लादेन का उदाहरण देते हुए पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान हमेशा से आतंकियों का पनाहगार रहा है। भारतीय राजनयिक ने कश्मीर मसले पर तुर्किये और OIC को पाकिस्तानी झाँसे में न आने की हिदायत दी। पुजानी ने तुर्किए और OIC को भारत के अंदरूनी मामलों में दखल न देने की सलाह दी। पुजानी ने जोर देते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख का पूरा क्षेत्र भारत का हिस्सा था, है, और रहेगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

पुरी के जगन्नाथ मंदिर का 46 साल बाद खुला रत्न भंडार: 7 अलमारी-संदूकों में भरे मिले सोने-चाँदी, जानिए कहाँ से आए इतने रत्न एवं...

ओडिशा के पुरी स्थित महाप्रभु जगन्नाथ मंदिर के भीतरी रत्न भंडार में रखा खजाना गुरुवार (18 जुलाई) को महाराजा गजपति की निगरानी में निकाल गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -