Wednesday, March 3, 2021
Home देश-समाज व्यस्त CM नहीं सुन रहे मुआवजे की बात, रास्ते में है मस्जिद तो बदली...

व्यस्त CM नहीं सुन रहे मुआवजे की बात, रास्ते में है मस्जिद तो बदली गई नीरज के अंतिम संस्कार की जगह

अंतिम संस्कार के लिए जो पारम्परिक शमशान है, जहाँ वर्षों से इलाके के लोग अपने मृत परिजनों का अंतिम संस्कार करते आ रहे थे, उसे भी बदला जा रहा है। ऐसा इसलिए, क्योंकि उस रास्ते में बड़ी मस्जिद, छोटी मस्जिद और अमला टोली...

झारखण्ड के लोहरदगा में सीएए के समर्थन में निकली रैली पर मुस्लिम भीड़ ने लोहे की रॉड से हमले किए, गोली चलाई और पेट्रोल बम फेंके। मुस्लिम महिलाओं ने गर्म पानी और मिर्ची पाउडर से हमला किया। इस वारदात में ‘रघुनन्दन लेन’ के रहने वाले नीरज प्रजापति की मौत हो गई। नीरज का पार्थिव शरीर फ़िलहाल राँची के रिम्स में ही रखा हुआ है। पोस्टमॉर्टम की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है लेकिन अभी तक राज्य सरकार का कोई भी नेता वहाँ पर नहीं आया है। किसी भी मंत्री ने पीड़ित परिजनों की सुध लेने की कोशिश नहीं की।

ऑपइंडिया ने इसी बीच नीरज की पत्नी और कुछ परिजनों से बातचीत की, जिसके बाद राज्य सरकार के नेताओं की पोल खुलती हुई नज़र आई। पीड़ित के परिजनों ने बताया कि राज्य सरकार मुआवजे को लेकर अभी तक कोई आश्वासन नहीं दे रही है। राँची में बैठे अधिकारियों का कहना है कि इस सम्बन्ध में लोहरदगा का प्रशासन ही कुछ कर सकता है। परिजन फ़िलहाल राँची में ही हैं। भाजपा विधायक सीपी सिंह पीड़ित परिजनों से मिलने पहुँचे और उन्होंने सरकार पर निशाना साधा।

मृतक की पत्नी की माँग है कि उन्हें सरकारी नौकरी दी जाए। उनकी एक बेटी और एक बेटा है। दोनों ही छोटे हैं। पत्नी व परिजनों ने बतौर मुआवजा 50 लाख रुपए की भी माँग की है। हालाँकि, राँची प्रशासन बार-बार कह रहा है कि मुख्यमंत्री काफ़ी व्यस्त हैं और उनके पास समय नहीं है। परिजनों ने अधिकारियों को एक चिट्ठी सौंपी है, जिसे मुख्यमंत्री तक पहुँचाए जाने का आश्वासन दिया गया है। जब हमने छानबीन की तो पता चला कि झारखण्ड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन मंत्रिमंडल विस्तार में व्यस्त हैं।

जब हमें झारखण्ड की ख़बरों को खंगाला तो पता चला कि मुख्यमंत्री सोरेन सचमुच मंत्रिमंडल विस्तार में व्यस्त हैं और उन्हें पीड़ित परिजनों की चिट्ठी पढ़ने तक का समय नहीं है। हेमंत कैबिनेट में पहली बार विस्तार हुआ है और 7 नए मंत्रियों को शामिल किया गया है। इनमें दो विधायक कॉन्ग्रेस के भी शामिल हैं, जिन्हें मंत्री बनाया गया है। हमने जब बजरंग दल के राज्य संयोजक दीपक ठाकुर से पूछा कि मुआवजा देने में प्रशासन इतनी आनाकानी क्यों कर रहा है तो उन्होंने पूरा दोष सीएम को दिया।

दीपक ठाकुर ने कहा कि सारा खेल ख़ुद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के इशारे पर हो रहा है। अगर वो मुआवजा का आश्वासन भी देते हैं तो वो बस एक वादा ही होगा, उसके लिए परिवार चक्कर काटते रह जाएगा लेकिन मुआवजा नहीं मिलेगा। हिंदूवादी संगठनों ने माँग की है कि उन्हें लिखित में भरोसा चाहिए। ठाकुर ने ऑपइंडिया से बातचीत करते हुए कहा कि जिस तरह से मृतक नीरज के मोहल्ले को पुलिस द्वारा घेर लिया गया है, इससे लगता है कि सरकार इस मामले को दबाने पर तुली हुई है। उन्होंने कहा कि लोहरदगा के हिन्दुओं का गुस्सा उफान पर है क्योंकि यहाँ आपातकाल जैसे हालात हैं।

नीरज की मृत्यु के बाद सभी लोग न्याय की उम्मीद में हैं, लेकिन अधिकारी नहीं सुन रहे

एक और मुद्दा है अंतिम संस्कार का। राँची रिम्स में कई हिंदूवादी नेता जमा हैं और वो नीरज राम प्रजापति के पार्थिव शरीर के साथ लोहरदगा जाना चाहते हैं। उनकी माँग है कि अंतिम यात्रा में वो सभी शामिल होंगे जबकि प्रशासन का कहना है कि इससे माहौल बिगड़ जाएगा, इसीलिए वो परिजनों के अलावा किसी को भी अंतिम संस्कार की प्रक्रिया में शामिल नहीं होने देंगे। रिम्स में जमा हिंदूवादी नेताओं ने प्रशासन के इस फ़ैसले को लेकर आक्रोश जताया। ‘हिन्दू जागरण मंच’ ने कहा कि जल्द ही प्रदेश के हिन्दू हेमंत सरकार को जवाब देंगे।

ख़बर है कि प्रशासन ने सिर्फ 35 लोग को शव यात्रा में जाने की अनुमति दी है। स्थानीय लोगों का कहना है कि बुरहान वाणी जैसे आतंकी के जनाजे में लाखों लोग शामिल होते हैं लेकिन एक निर्दोष व्यक्ति के अंतिम संस्कार में लोगों को शामिल होने से रोका जा रहा है। एक पड़ोसी ने बताया कि अंतिम संस्कार के लिए जो पारम्परिक शमशान है, जहाँ वर्षों से इस इलाके के लोग अपने मृत परिजनों का अंतिम संस्कार करते आ रहे थे, उसे भी बदला जा रहा है। ऐसा इसलिए, क्योंकि पारंपरिक शमशान की शवयात्रा का मार्ग बड़ी मस्जिद, शिव मंदिर, अमला टोली, छोटी मस्जिद, कॉन्ग्रेस कार्यालय और देवी मंदिर होकर जाती है। जहाँ पर CAA समर्थकों की रैली पर हमला किया गया, वो हमला अमला टोली और कॉन्ग्रेस कार्यलय से ही किया गया था। इस बात को लेकर स्थानीय लोग काफी नाराज हैं, और यही वजह है कि पारंपरिक शमशान की जगह को बदला जा रहा है।

कौन ख़रीदेगा उसकी गढ़ी हुई माँ शारदा की मूर्तियाँ, CAA का समर्थन करने पर नीरज को मिली मौत

मुस्लिमों ने रॉड नहीं मारी, बाथरूम में गिर कर मरे नीरज, बयान बदलो: झारखंड सरकार का पीड़ित परिजनों पर दबाव

नहीं रहे नीरज प्रजापति! CAA समर्थक जुलूस पर ‘पाकिस्तान ज़िंदाबाद’ चीखते भीड़ के हमले में हुए थे घायल

मस्जिद व कॉन्ग्रेस दफ्तर से चले पत्थर: मुस्लिमों ने की गोलीबारी, ‘पाकिस्तान ज़िंदाबाद’ चीखते हुए टूट पड़ी भीड़

हिन्दुओं के घरों को फूँका, CAA समर्थक जुलूस पर हमले के लिए छतों पर जमा कर रखे थे ईंट-पत्थर

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अमेजन प्राइम ने तांडव पर माँगी माफी, कहा- भावनाओं को ठेस पहुँचाना ध्येय नहीं, हटाए विवादित दृश्य

हिंदूफोबिक कंटेट को लेकर विवादों में आई वेब सीरिज 'तांडव' को लेकर ओटीटी प्लेटफॉर्म अमेजन प्राइम वीडियो ने माफी माँगी है।

ट्विटर पर जलाकर मारे गए कारसेवकों की बात करना मना है: गोधरा नरसंहार से जुड़े पोस्ट डिलीट करने को कर रहा मजबूर

गोधरा नरसंहार के हिंदू पीड़ितों की बात करने वाले पोस्ट डिलीट करने के लिए ट्विटर यूजर्स को मजबूर कर रहा है।

हिंदू अराध्य स्थल पर क्रिश्चियन क्रॉस, माँ सीता के पद​ चिह्नों को नुकसान: ईसाई प्रचारकों की करतूत से बीजेपी बिफरी

मंदिरों को निशाना बनाए जाने के बाद अब आंध्र प्रदेश में हिंदू पवित्र स्थल के पास अतिक्रमण कर विशालकाय क्रॉस लगाए जाने का मामला सामने आया है।

भगवान श्रीकृष्ण को व्यभिचारी और पागल F#ckboi कहने वाली सृष्टि को न्यूजलॉन्ड्री ने दिया प्लेटफॉर्म

भगवान श्रीकृष्ण पर अपमानजनक टिप्पणी के बाद HT से निकाली गई सृष्टि जसवाल न्यूजलॉन्ड्री के साथ जुड़ गई है।

‘बिके हुए आदमी हो तुम’ – हाथरस मामले में पत्रकार ने पूछे सवाल तो भड़के अखिलेश यादव

हाथरस मामले में सवाल पूछने पर पत्रकार पर अखिलेश यादव ने आपत्तिजनक टिप्पणी की। सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद उनकी किरकिरी हुई।

काम पर लग गए ‘कॉन्ग्रेसी’ पत्रकार: पश्चिम बंगाल में ‘मौत’ वाले मौलाना से गठबंधन और कलह से दूर कर रहे असम की बातें

बंगाल में कॉन्ग्रेस ने कट्टरवादी मौलाना के साथ गठबंधन किया, रोहिणी सिंह जैसे पत्रकारों ने ध्यान भटका कर असम की बातें करनी शुरू कर दी।

प्रचलित ख़बरें

‘प्राइवेट पार्ट में हाथ घुसाया, कहा पेड़ रोप रही हूँ… 6 घंटे तक बंधक बना कर रेप’: LGBTQ एक्टिविस्ट महिला पर आरोप

LGBTQ+ एक्टिविस्ट और TEDx स्पीकर दिव्या दुरेजा पर पर होटल में यौन शोषण के आरोप लगे हैं। एक योग शिक्षिका Elodie ने उनके ऊपर ये आरोप लगाए।

‘बिके हुए आदमी हो तुम’ – हाथरस मामले में पत्रकार ने पूछे सवाल तो भड़के अखिलेश यादव

हाथरस मामले में सवाल पूछने पर पत्रकार पर अखिलेश यादव ने आपत्तिजनक टिप्पणी की। सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद उनकी किरकिरी हुई।

‘बीवी के सामने गर्लफ्रेंड को वीडियो कॉल करता था शौहर, गर्भ में ही मर गया था बच्चा’: आयशा की आत्महत्या के पीछे की कहानी

राजस्थान की ही एक लड़की से आयशा के शौहर आरिफ का अफेयर था और आयशा के सामने ही वो वीडियो कॉल पर उससे बातें करता था। आयशा ने कर ली आत्महत्या।

आगरा से बुर्के में अगवा हुई लड़की दिल्ली के पीजी में मिली: खुद ही रचा ड्रामा, जानिए कौन थे साझेदार

आगरा के एक अस्पताल से हुई अपहरण की यह घटना सीसीटीवी फुटेज वायरल होने के बाद सामने आई थी।

सपा नेता छेड़खानी भी करता है, हत्या भी… और अखिलेश घेर रहे योगी सरकार को! आरोपित के खिलाफ लगेगा NSA

मृतक ने गौरव शर्मा नाम के आरोपित (जो सपा नेता भी है) के खिलाफ अपनी बेटी के साथ छेड़छाड़ की शिकायत पुलिस थाने में दर्ज कराई थी।

जरासंध की जेल में मकबरा क्यों? मजार की तस्वीर और फेसबुक पर सवाल को लेकर भड़का PFI, दर्ज हुई FIR

ये मामला नालंदा जिले के बिहारशरीफ में स्थित हिरण्य पर्वत (बड़ी पहाड़ी) पर स्थित एक मंदिर और मकबरे से जुड़ा हुआ है। PFI ने की शिकायत।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,216FansLike
81,876FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe