Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाजमोहम्मद जुनैद ने साथियों संग मिल कर 2 दलित युवकों को पीटा, जातिसूचक शब्द...

मोहम्मद जुनैद ने साथियों संग मिल कर 2 दलित युवकों को पीटा, जातिसूचक शब्द कह कर दी गाली: बचाने आई माँ को भी कर दिया घायल

शिकायत में आगे बताया गया है कि शोरगुल सुन कर दिलीप की माँ उर्मिला अपने बेटे के साथ अरविंद को बचाने दौड़ी। इस पर जुनैद और उसके साथियों ने इन दोनों माँ-बेटों को भी मारपीट कर घायल कर दिया।

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिले में एक दलित व्यक्ति की मोहम्मद जुनैद और उसके साथियों पर अपनी पिटाई का आरोप लगाया है। पीड़ित का दावा है कि उसके बेटे को जाति-सूचक शब्द बोले गए और धमकी दी गई है। यह विवाद आरोपित की कार में पीड़ित की बाइक से छू जाने से शुरू हुआ है। गुरुवार (16 फरवरी, 2023) को पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर के जाँच शुरू कर दी है। घटना शुक्रवार (9 फरवरी 2023) की है।

यह मामला प्रयागराज के नवाबगंज थानाक्षेत्र का है। यहाँ शिवमूरत अपने परिवार के साथ मंसूराबाद इलाके में रहता है। पीड़ित का आरोप है कि 9 फरवरी को उनका बेटा दिलीप अपने पडोसी अरविन्द सरोज के साथ बाइक से कहीं जा रहा था। इसी दौरान गाँव खनसाह पूरा के रजीउल्लाह का बेटा जुनैद अपनी कार से उसी रास्ते में पड़ने वाली गली से गुजरा। जुनैद की गाड़ी दिलीप की बाइक से टकरा गई। इस पर दिलीप के पीछे बैठे अरविन्द ने जुनैद को देख कर कार चलाने की नसीहत दी।

पीड़ित का आरोप है कि इस पर जुनैद ने गाली देते हुए कहा, “पासी सा@, इसी तरह गाडी चलाऊँगा।” इसके बाद जुनैद अपनी कार से बाहर निकल आया और अरविन्द को पीटने लगा। कुछ ही देर बाद जुनैद के 3 साथी वहाँ और आ गए। ये चारों अरविन्द को गली के अंदर खींच ले गए, जहाँ आरोपों के मुताबिक सबने मिल कर उसे बुरी तरह से लात-घूँसों से मारा। थोड़ी देर बाद इन सभी ने एक डंडे से अरविंद के सिर पर भी वार किया। इस वार से अरविंद बेहोश हो गया। ऑपइंडिया के पास इस घटना का एक्सक्लूसिव वीडियो मौजूद है।

शिकायत में आगे बताया गया है कि शोरगुल सुन कर दिलीप की माँ उर्मिला अपने बेटे के साथ अरविंद को बचाने दौड़ी। इस पर जुनैद और उसके साथियों ने इन दोनों माँ-बेटों को भी मारपीट कर घायल कर दिया। कुछ देर की पिटाई के बाद जब आस-पास के लोग जमा होने लगे तब जुनैद और उसेक साथी वहाँ से चले गए। पीड़ित का शिकायत में आरोप है कि जाते-जाते आरोपितों ने उन्हें धमकी भी दी है। घटना के बाद पीड़ितों ने अपना मेडिकल परीक्षण करवाया तो अरविंद के शरीर में फैक्चर पाया गया।

पीड़ित ने अपनी शिकायत में पुलिस पर भी कार्रवाई न करने का आरोप लगाया। शिवमूरत का कहना है कि पुलिस से मिली छूट से ही आरोपितों का मन बढ़ा हुआ है। पीड़ित दलित परिवार ने खुद को बेहद डरा बताते हुए आरोपितों द्वारा अपनी जान का खतरा जताया है। पुलिस ने पीड़ितों की शिकायत पर IPC की धारा 308, 323, 504 और 506 के साथ SC/ST एक्ट में FIR दर्ज कर के जाँच शुरू कर दी है। ऑपइंडिया के पास शिकायत कॉपी मौजूद है।

ऑपइंडिया ने पीड़ित शिवमूरत से बात की। शिवमूरत ने हमें बताया कि आरोपित जुनैद जिम करता है और वो उठा-उठा कर फेंक रहा था हमारे घर वालों को। शिवमूरत के मुताबिक स्थानीय थाना पुलिस ने भी उनका केस दर्ज कर के कार्रवाई में काफी हीलाहवाली की। पीड़ित ने कहा कि वो चाहते हैं कि सभी आरोपितों को जेल भेजा जाए।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

वामपंथी सरकार ने चलवाई गोली, मारे गए 13 कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता: जानें क्यों ममता बनर्जी मना रहीं ‘शहीद दिवस’, TMC ने हाईजैक किया कॉन्ग्रेस का...

कभी शहीद दिवस कार्यक्रम कॉन्ग्रेस मनाती थी, लेकिन ममता बनर्जी ने कॉन्ग्रेस पार्टी से अलग होने के बाद युवा कॉन्ग्रेस के 13 कार्यकर्ताओं की हत्या को अपने नाम के साथ जोड़ लिया और उसका इस्तेमाल कम्युनिष्टों की जड़ काटने में किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -