Wednesday, July 24, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षानासिक में बैठकर इस्लामिक स्टेट को पैसे भेज रहा था इंजीनियर: एक्सपोर्ट-इंपोर्ट की आड़...

नासिक में बैठकर इस्लामिक स्टेट को पैसे भेज रहा था इंजीनियर: एक्सपोर्ट-इंपोर्ट की आड़ में ISIS की विचारधारा को फैला रहा था

महाराष्ट्र के आतंकवाद निरोधक दस्ते (ATS) ने बुधवार (24 जनवरी 2024) को नासिक शहर से एक 32 साल के एक इंजीनियर को गिरफ्तार किया है। इस पर सीरिया-ईराक सहित विभिन्न जगहों से अपनी आतंकी गतिविधियों को संचालित करने वाले खूँखार आतंकी संगठन 'इस्लामिक स्टेट (IS)' को फंडिंग करने का आरोप है।

महाराष्ट्र के आतंकवाद निरोधक दस्ते (ATS) ने बुधवार (24 जनवरी 2024) को नासिक शहर से एक 32 साल के एक इंजीनियर को गिरफ्तार किया है। इस पर सीरिया-ईराक सहित विभिन्न जगहों से अपनी आतंकी गतिविधियों को संचालित करने वाले खूँखार आतंकी संगठन ‘इस्लामिक स्टेट ऑफ ईराक एंड सीरिया (ISIS)’ या ‘इस्लामिक स्टेट (IS)’ को फंडिंग करने का आरोप है।

आरोपित इंजीनियर को गैरकानूनी गतिविधियाँ (रोकथाम) अधिनियम (UAPA) की कोर्ट में पेश किया गया। वहाँ से उसे 31 जनवरी 2024 तक 7 दिनों की पुलिस रिमांड में भेज दिया गया है। हालाँकि, ATS टीम ने इस आरोपित का नाम एवं अन्य पहचान को अभी उजागर नहीं किया है। वहीं, उसके सहयोगियों की पहचान की कोशिश जारी है।

महाराष्ट्र ATS अब देश के अन्य राज्यों में इससे जुड़े लोगों के बारे में खोजबीन कर रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आरोपित इंजीनियर देश की आर्थिक राजधानी मुंबई से लगभग 200 किलोमीटर दूर स्थित शहर नासिक में आयात-निर्यात का व्यवसाय करता था। ATS के मुताबिक, आरोपित शख्स पिछले दिनों कट्‌टरपंथी पोस्ट भी कर चुका था।

ATS के एक अधिकारी के मुताबिक, अब तक की जाँच से पता चला है कि आरोपित ने सीरिया में तीन बार वैश्विक आतंकवादी समूह इस्लामिक स्टेट को पैसा भेजा था। आरोपित के कुछ सहयोगियों की पहचान का ATS ने खुलासा नहीं किया, लेकिन वो कई राज्यों में इनकी जाँच की जा रही है।

ATS ने आरोपित के ठिकाने से आपत्तिजनक दस्तावेजों के साथ मोबाइल फोन, सिम कार्ड, लैपटॉप और पेन ड्राइव सहित कई इलेक्ट्रॉनिक गैजेट भी जब्त किए। महाराष्ट्र आतंकवाद निरोधक दस्ते के अधिकारी के मुताबिक, महाराष्ट्र ATS की एक टीम को संदिग्ध आरोपित के बारे में इनपुट मिला था।

इसके बाद से ही उनकी एक टीम बीते कई दिनों से इसकी हरकतों और गतिविधियों पर नजर रख हुए थी। आतंकवाद रोधी एजेंसी ने एक बयान में कहा कि आरोपित इंजीनियर ISIS से जुड़ी एक विदेशी यूनिट के साथ लगातार संपर्क बनाए हुए था। आतंकी आरोपित को पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर UAPA अदालत में पेश किया गया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -