Sunday, July 21, 2024
Homeसोशल ट्रेंडडॉक्टर अलीमा अख्तर ने अपनाया हिंदू धर्म, मिल रही मौत की धमकियाँ: वीडियो बना...

डॉक्टर अलीमा अख्तर ने अपनाया हिंदू धर्म, मिल रही मौत की धमकियाँ: वीडियो बना लगाई गुहार, CM हिमंता ने पुलिस को दिया जाँच का आदेश

घर वाले कह रहे थे कि अधिक उम्र के मौलाना से निकाह कर लो... मौलाना से निकाह के कारण जन्नत मिलेगा। डॉक्टर अलीमा अख्तर ने इसके बजाय हिंदू धर्म अपना लिया। अब उन्हें जान से मारने की धमकी मिल रही है।

असम में अलीमा अख्तर नाम की एक महिला डॉक्टर का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। पीड़िता ने खुद को डिब्रूगढ़ स्थित असम मेडिकल कॉलेज की स्टाफ बताया है। वीडियो में महिला ने अपने परिवार व अपनी जमात के लोगों द्वारा मौत की धमकी मिलने का आरोप लगाया है। धमकी की वजह पीड़िता ने हिन्दू धर्म स्वीकार करना बताया है।

महिला डॉक्टर अलीमा अख्तर पर एक मौलवी से निकाह का भी दबाव बनाया जा रहा है। असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने इस वायरल वीडियो का संज्ञान लेते हुए पुलिस को जाँच और कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

एक डिजिटल चैनल न्यूज़ लाइव ने 3 मिनट 7 सेकेंड के इस वीडियो को शनिवार (2 सितम्बर 2023) को शेयर किया है। अपने वीडियो को अपना बयान बताते हुए शुरुआत में अलीमा अख्तर ने सौभाग्य से अब तक खुद को जीवित बताया। अलीमा ने कहा कि उन्हें उनके ही परिवार से मौत की धमकी दी गई है। इस धमकी के पीछे अलीमा ने अपनी 2 ‘गलतियाँ’ बताईं। पहली गलती के तौर पर खुद के द्वारा हिन्दू धर्म स्वीकार करना और दूसरी में अधिक उम्र के मौलाना से निकाह न करने का फैसला बताया।

डॉक्टर अलीमा ने वीडियो में यह भी बताया कि मौलाना से निकाह की कोशिश के पीछे उनके घर वालों के द्वारा जन्नत का लालच है। लड़की का दावा है कि ये बात उन्हें पसंद नहीं आई और इसी वजह से उन्होंने खुद को अपने परिवार से दूर कर लिया है।

मौलाना से शादी को जबरन बताते हुए डॉक्टर अलीमा ने घर जाने से इनकार कर दिया। अलीमा ने खुद के अपहरण के आरोपों को भी झूठा बताते हुए खुद को एकदम सेफ कहा। घर से दूरी को पीड़िता ने अपनी शांति व पढ़ाई के लिए जरूरी बताया।

अलीमा ने बताया कि हर दिन उन्हें मौत की धमकी मिल रही है, जिससे वो अपने जीवन के अधिकार के तहत खुद को बचा रही हैं। उन्होंने अपने घरवालों को यह भी संदेश दिया कि उन्हें खोजने की कोई जरूरत नहीं है और आशा जताई कि उनका बयान उनकी सुरक्षा में काम आएगा।

वीडियो के अंत में लड़की ने खुद को डॉक्टर बताते हुए अपना अच्छा-बुरा समझने में सक्षम भी बताया। असम के मुख्यमंत्री हिमंता विस्वा सरमा ने 3 सितम्बर (रविवार) को वीडियो का संज्ञान लिया। साथ ही उन्होंने असम के DGP को जाँच और आवश्यक कार्रवाई का आदेश दिया।

परिजनों को DGP की नसीहत

महिला डॉक्टर तिनसुकिया जिले के देहात क्षेत्र स्थित हपजन स्वास्थ्य केंद्र पर तैनात बताई जा रही है। इस मामले में लड़की के भाई वकील खान ने असम पुलिस को बताया कि उनकी बहन 17 अगस्त से घर से लापता है। वकील ने अपनी शिकायत ईमेल के जरिए करने की भी जानकारी दी है। वकील खान के इस ट्वीट पर DGP असम IPS जीपी सिंह ने उन्हें लड़की के वायरल वीडियो की जानकारी देते हुए उन्हें धमकी देने पर कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी है।

हालाँकि DGP की चेतावनी के बावजूद खुद को लड़की का भाई बता रहे वकील खान ने कहा, “मैं उसके वीडियो स्टेटमेंट को नहीं मानता। इस मामले की पड़ताल कीजिए। SP तिनसुकिया ने मेरी बहन को खोजने का आश्वासन दिया था। पर वो अब तक उसकी तलाश नहीं कर पाए हैं।” ख़ास बात ये है कि वकील खान जिस ट्विटर आईडी से DGP असम से बात कर रहा है, वो पिछले महीने अगस्त 2023 में ही बनाया गया है।

वकील खान ने अपनी बहन के वीडियो को आधारहीन बताते हुए 10 अगस्त को किसी के द्वारा 9 लाख रुपए की माँग किए जाने की जानकारी दी है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

काशी विश्वनाथ मंदिर और महाकालेश्वर मंदिर परिसर के दुकानदारों को लगाना होगा नेम प्लेट: बिहार के बोधगया की दुकानों में खुद ही लगाया बोर्ड,...

उत्तर प्रदेश के बाद मध्य प्रदेश के महाकालेश्वर मंदिर परिसर में स्थित दुकानदारों को अपना नेम प्लेट लगाने का आदेश दिया गया है।

‘मध्य प्रदेश और बिहार में भी काँवर यात्रा मार्ग में ढाबों-ठेलों पर लिखा हो मालिक का नाम’: पड़ोसी राज्यों में CM योगी के फैसलों...

रमेश मेंदोला ने कहा कि नाम बताने में दुकानदारों को शर्म नहीं बल्कि गर्व होना चाहिए। हरिभूषण ठाकुर बचौल बोले - विवादों से छुटकारा मिलेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -