Monday, July 22, 2024
Homeसोशल ट्रेंड'हनुमान चालीसा बैन की थी, शिवसेना को शिव भी नहीं बचा सकते थे' :...

‘हनुमान चालीसा बैन की थी, शिवसेना को शिव भी नहीं बचा सकते थे’ : उद्धव ठाकरे के ‘टूटे घमंड’ पर कंगना का तंज, ट्रेंड हुआ- ‘उखाड़ दिया’

कंगना के वीडियो के अलावा उद्धव सरकार के साथ उनका दो साल पुराना विवाद सोशल मीडिया पर खूब शेयर हो रहा है। साथ ही उनके घर पर बीएमसी की कार्रवाई के बाद सामना में प्रकाशित 'उखाड़ दिया' हेडलाइन भी ट्रेंड कर रही है।

महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे की सरकार गिरने के बाद कंगना रनौत एक बार फिर चर्चा में आ गई हैं। उन्होंने इंस्टाग्राम पर वीडियो शेयर करते हुए बताया कि सरकार होने के बावजूद जिस तरह शिवसेना ने हनुमान चालीसा का अपमान किया उसके बाद उनके साथ ये सब होना लाजिमी था।

कंगना के इस वीडियो के अलावा उद्धव सरकार के साथ उनका दो साल पुराना विवाद सोशल मीडिया पर खूब शेयर हो रहा है। साथ ही उनके घर पर बीएमसी की कार्रवाई के बाद ‘सामना’ में प्रकाशित ‘उखाड़ दिया’ हेडलाइन भी ट्रेंड कर रही है।

कंगना ने अपने इंस्टाग्राम पर पोस्ट वीडियो का कैप्शन दिया, “जब पाप बढ़ जाता है तो सर्वनाश होता है और उसके बाद सृजन होता है और कमल खिलता है।”

अपनी वीडियो में अभिनेत्री कहती हैं, ” हर-हर महादेव। जय हिंद। जय महाराष्ट्र। 1975 के बाद ये समय भारत के लोकतंत्र का सबसे महत्वपूर्ण समय है। 1975 में लोक नेता जय प्रकाश नारायण की एक ललकार से ‘सिंघासन छोड़ो कि जनता आती है’ और सिंघासन गिर गए थे। 2020 में मैंने कहा था कि लोकतंत्र एक विश्वास है और सत्ता के घमंड में आकर जो इस विश्वास को तोड़ता है, उसका घमंड टूटना भी निश्चित है। यह किसी व्यक्ति विशेष की शक्ति नहीं है। ये शक्ति है सच्चे चरित्र की।”

उन्होंने आगे कहा, “दूसरी बात… हनुमान जी को शिव का 12वाँ अवतार माना जाता है और जब शिवसेना ही हनुमान चालीसा को बैन कर दे तो उन्हें शिव भी नहीं बचा सकते। हर हर महादेव, जय हिंद, जय महाराष्ट्र।”

ट्विटर पर ट्रेंड हुआ ‘उखाड़ दिया’

याद दिला दें कि साल 2020 में सुशांत सिंह राजपूत की संदिग्ध हालातों में हुई मौत के बाद कंगना रनौत ने बॉलीवुड पर सवाल उठाने शुरू किए थे और धीरे-धीरे उन्होंने महाराष्ट्र सरकार को भी घेरा था। इसके बाद बीएमसी ने उनके ऑफिस पर बुलडोजर चलाया था और कंगना ने दुखी मन मे वीडियो जारी कर उद्धव सरकार के लिए कहा था- “आज मेरा घर टूटा है जल्द ही तेरा घमंड टूटेगा।” बीएमसी कार्रवाई के बाद शिवसेना के मुखपत्र सामना में बड़ा-बड़ा ‘उखाड़ दिया’ छपा था।

इसीलिए, अब जब महाराष्ट्र की महा अघाड़ी सरकार गिर चुकी है तो कंगना के समर्थक ‘उखाड़ दिया’ हैशटैग ट्रेंड करवा रहे हैं। इस हैशटैग के अंदर वह उन घटनाओं को बता रहे हैं कि जब उद्धव सरकार से इंसाफ की गुहार लगाई गई और उस सुनवाई को अनसुना कर दिया गया। लोग इस हैशटैग में ठाकरे के साथ संजय राउत का मजाक उड़ा रहे हैं और एकनाथ शिंदे की तस्वीर शेयर करके लिख रहे हैं कि पहली बार हिंदुत्व के लिए भारत में किसी राज्य की सरकार बदली है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

काँवड़िए नहीं जान पाएँगे दुकान ‘अब्दुल’ या ‘अभिषेक’ की, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक: कहा- बताना होगा सिर्फ मांसाहार/शाकाहार के बारे में,

सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के कांवड़ रूट पर दुकानदारों के नाम दर्शाने वाले आदेश पर अंतरिम रोक लगा दी है।

AAP विधायक की वकीलगिरी का हाई कोर्ट ने उतारा भूत: गलत-सलत लिख कर ले गया था याचिका, लग चुका है बीवी को कुत्ते से...

दिल्ली हाईकोर्ट के जज ने सोमनाथ भारती की याचिका पर कहा कि वो नोटिस जारी नहीं कर सकते, उन्हें ये समझ ही नहीं आ रहा है, वो मामला स्थगित करते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -