Tuesday, July 27, 2021
Homeसोशल ट्रेंडहाय री लॉकडाउन! स्वयंभू पत्रकार सबा नकवी के घर में दो दिन नहीं जलेगा...

हाय री लॉकडाउन! स्वयंभू पत्रकार सबा नकवी के घर में दो दिन नहीं जलेगा चूल्हा

इस मुश्किल की घड़ी में अपने आस पास वालों से संसाधन जुटाकर काम चलाएँ और फिर अपनी परेशानी का हल खोजे। मगर हाँ, इस पूरी प्रक्रिया के लिए इंसान के संबंध अपने आसपास वालों से अच्छे होने चाहिए। तो सवाल ये भी है कि अगर सबा नकवी ये कह रही है कि उनके घर में गैस सिलिंडर न आने से 2 दिन खाना नहीं बनेगा, तो क्या वे इतनी भी सामाजिक नहीं है कि उनके पड़ोसी उनकी मदद करें?

हिंदुओं के लिए घृणा फैलाने वाली और अपने कट्टरपंथी विचारों के लिए पहचाने जाने वाली सबा नकवी लॉकडाउन के कारण परेशानी में हैं। उन्हें चिंता है कि आने वाले 2 दिन वो कुछ नहीं बना पाएँगी। यहाँ बनाने का मतलब खाने से है। दरअसल, उनके घर की गैस खत्म हो गई है। आप सोचेंगे इतना घरेलू मामला है और ऑपइंडिया को इसकी जानकारी कैसे? तो बता दें इस मुश्किल दौर में आई इस आपदा के बारे में सबा ने खुद अपने ट्विटर्स को जानकारी दी है।

सबा ट्विटर पर लिखती हैं, “मैसेज के माध्यम से खाना पकाने की गैस का ऑर्डर स्वीकार नहीं हो रहा है। क्या सिलेंडरों की आपूर्ति प्रभावित हुई है या एजेंसियाँ ​​ठीक से काम नहीं कर रहीं।” बता दें सबा के पास भारत गैस है और उनका कहना है कि इस परेशानी के कारण वो 2 दिन खाना नहीं बना पाएँगी।

अब हालाँकि, किसी भी आम यूजर के लिए ये आम परेशानी हो सकती है कि उसके घर में गैस खत्म हो गई और किसी कारणवश बुक भी नहीं हो पा रही। लेकिन चूँकि ये मामला सबा नकवी से जुड़ा है, तो इसमें झोल निश्चित हैं। खुद सोचिए, लॉकडाउन के समय में सबको कुछ न कुछ परेशानियाँ हो रही हैं। मगर, इन परेशानियों से जूझने के लिए सरकार पर्याप्त इंतजाम करवा रही है और लगातार बता रही है कि आखिर क्या क्या सुविधाएँ इस लॉकडाउन में प्रभावित नहीं होंगी। इन सुविधाओं में एक सुविधा गैस सिलिंडर की भी है।

सबा नकवी का ये ट्वीट देखते ही ट्विटर पर कई यूजर्स ने अपनी प्रतिक्रिया दी। दिलचस्प ये दिखा कि उनके पर जवाब देने वाला लगभग हर यूजर उन्हें अच्छे से जानते थे, इसी कारण वे उनकी इस परेशानी का समाधान बताने से ज्यादा उनकी खिल्ली उड़ा रहे थे। इससे भी हास्यास्पद ये है कि खिल्ली उड़ाने वालों को सबा नकवी से ज्यादा लाइक रीट्वीट मिल रहे थे। उदहारण देखिए, अंकित जैन नाम के यूजर ने उनके इस ट्वीट पर लिखा बिरयानी चाहिए तो शाहीन बाग से मँगवा लो। अब खबर बनाने तक सबा के ट्वीट को 1.7K लाइक और 266 रीट्वीट मिले थे। जबकि अंकित जैन को 487 रीट्वीट और 4.2K लाइक। दरअसल, लोगों का पूछना है कि स्वघोषित पत्रकार नकवी को फेक स्टोरी पकाने के लिए गैस चाहिए। या फिर एजेंडा चलाने के लिए।

अब रही बात, सबा नकवी की समस्या के समाधान की। तो बता दें ये कोई परेशानी नहीं है। ये वही पुरानी आदतों का नतीजा है, जो इस समय में भी मामूली सी बात का बतंगड़ बनाना चाहता है। इस बात का सबूत ये है कि देश में कई लोग (सबा को छोड़कर) ऐसे हैं जिन्हें गैस ऑर्डर करने में कोई परेशानी नहीं आ रही। नीचे तस्वीरों में तस्वीरों में इसके दो उदाहरण हैं।

तस्वीर साभार: डॉ कपिल परमार का ट्विटर
तस्वीर साभार: प्लैकार्ड नाम से मशहूर मधुर का ट्विटर

इसके अलावा, ये एक और प्रमाण है, जो दर्शा रहा है कि लॉकडाउन के समय में न केवल गैस बुक हो रही हैं। बल्कि अगले ही दिन इनकी डिलिवरी भी हो रही है। इसलिए फॉलोवर्स के मन में ऐसी स्थिति बताकर डर का माहौल बनाने की कोशिश न केवल व्यर्थ हैं, बल्कि ये भी बताती हैं कि वो लॉकडाउन के दिनों में वाकई खाली हो चुकी हैं।

अब रही बात इस बिंदु की कि ऊपर दी तस्वीरें इंडियन गैस और एचपी गैस की हैं और सबा तो भारत गैस के बारे में बात कर रहीं हैं। तो ये समझने की बात है कि लॉकडाउन के समय में थोड़ी बहुत दिक्कतें सबको झेलनी पड़ रही होंगी। इसलिए, अगर मान भी लिया जाए कि किसी कारण वश उन्हें परेशानी हो रही है, उनके इलाके में सप्लाई नहीं हो रही है और वह बात का बतंगड़ नहीं बना रही हैं। तो भी आम आदमी के पास इसका एक उपाय होता है कि इस मुश्किल की घड़ी में अपने आस पास वालों से संसाधन जुटाकर काम चलाएँ और फिर अपनी परेशानी का हल खोजे। मगर हाँ, इस पूरी प्रक्रिया के लिए इंसान के संबंध अपने आसपास वालों से अच्छे होने चाहिए। तो सवाल ये भी है कि अगर सबा नकवी ये कह रही है कि उनके घर में गैस सिलिंडर न आने से 2 दिन खाना नहीं बनेगा, तो क्या वे इतनी भी सामाजिक नहीं है कि उनके पड़ोसी उनकी मदद करें?

सोशल मीडिया पर लोगों का पूछना है कि अगर उन्होंने वाकई गैस ऑर्डर की है, तो पर्ची दिखाएँ। क्योंकि उन्हें वे एक अपवाद लग रही हैं। जितने लोगों ने इसपर प्रतिक्रिया दी है सबका यही कहना है कि उन्होंने लॉकडाउन में जब भी गैस बुक की उसके कुछ दिन बाद गैस उन्हें डिलिवर हो गई। लोगों का साफ मानना है कि सबा झूठ ही बोल रही हैं। बता दें एक यूजर का ये भी कहना है कि उनके घर में गैस की पाइप लाइन हैं। अगर वो चाहें तो वे सबके सामने उसकी फोटो अपलोड कर सकते हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘परिवार को बदनाम कर दिया, कई डील हाथ से निकले’: राज कुंद्रा को देख भड़की थीं शिल्पा, पुलिस के सामने ही 4 बार रोईं

पता चला है कि उस दिन 6 घंटे की पूछताछ में शिल्पा शेट्टी 4 बार रो पड़ी थीं। पुलिस राज कुंद्रा को लेकर उनके घर पहुँची थी। पति को देखते वो चिल्लाने लगीं।

6 साल के जुड़वा भाई, अगवा कर ₹20 लाख फिरौती ली; फिर भी हाथ-पैर बाँध यमुना में फेंका: ढाई साल बाद इंसाफ

मध्य प्रदेश स्थित सतना जिले के चित्रकूट में दो जुड़वा भाइयों के अपहरण और हत्या के मामले में 5 दोषियों को आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,426FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe