Tuesday, July 27, 2021
Homeसोशल ट्रेंडसियासी हलचल के बीच शिवराज से पूछा गया Mamaji Returns? जवाब मिला- मैं गया...

सियासी हलचल के बीच शिवराज से पूछा गया Mamaji Returns? जवाब मिला- मैं गया ही कहाँ था?

एक सोशल मीडिया यूजर ने इस जवाब को मामाजी के बल्ले का करारा प्रहार बताया और एक ने लिखा कि जो जनता के हृदय में निवास करता है। वो भला कहाँ जाएगा।

मध्यप्रदेश की राजनीति में चल रही उठा-पटक के बीच राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने एक ट्वीट से इशारा कर दिया है कि भले ही प्रदेश में आज कॉन्ग्रेस के विधायक जाने के कारण उनकी वापसी के कयास लगाए जा रहे हैं, लेकिन वास्तविकता तो ये है कि वे यहाँ से कहीं गए ही नहीं थे।

आज सुबह, ट्विटर पर हमेशा सक्रिय रहने वाले शिवराज सिंह चौहान ने सबको सुप्रभात कहा। उन्होंने लिखा, ” सुप्रभात, मेरे प्यारे भाइयों-बहनों, मेरे प्यारे भांजे-भांजियों:आप का दिन मंगलमय हो।”

अब हालाँकि ये ट्वीट बहुत साधारण था, लेकिन शायद ये मौक़ा साधारण नहीं था। इसीलिए, इस मौक़े का फायदा उठाकर द हिंदू की पत्रकार निस्तूला हेब्बर ने सवालिया निशान लगाकर उनसे पूछ डाला, “#मामाजी रिटर्न्स?” यानी क्या मामाजी वापसी कर रहे हैं? जिसपर ‘मामाजी’ कहे जाने वाले शिवराज सिंह चौहान ने उन्हें फौरन जवाब में लिखा, “निस्तूला जी, मैं गया ही कहाँ था?”

अब सियासी हलचल के बीच उनका ये रिप्लाई जैसे ही आया, उसी वक्त उनके फॉलोवर्स ने इसपर प्रतिक्रिया देना शुरू कर दिया। एक यूजर ने लिखा,“मामा, ये सब बंद करो और जल्दी से पद ग्रहण करो, कल ही दिन में 5 बार लाइट गई है। अभी तो गर्मी भी नहीं और ये हाल है। अब बर्दाश्त नहीं होता।”

इसके बाद एक यूजर्स ने लिखा, “आप ऐसे इंसान हो, जिनको दिल में आने के लिए और बसने के लिए इजाजत है पर निकलना तो मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है।”

एक सोशल मीडिया यूजर ने इस जवाब को मामाजी के बल्ले का करारा प्रहार बताया और एक ने लिखा कि जो जनता के हृदय में निवास करता है। वो भला कहाँ जाएगा।

गौरतलब है कि सोमवार को ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस्तीफे के बाद पूरे प्रदेश की राजनीति में हलचल मच गई। उनके साथ 20 अन्य विधायकों ने भी कॉन्ग्रेस से इस्तीफा दिया। जिससे कॉन्ग्रेस की सरकार खतरे में आ गई और भाजपा के सरकार बनाने पर लगाए जा रहे कयास तेज हो गए।

अब हालाँकि कमलनाथ प्रदेश में अपनी सरकार बनाए रखने के लिए पूरी कोशिश कर रहे हैं, लेकिन देखना है कि उनकी ये कोशिशें उन्हें सदन में पर्याप्त संख्याबल दिलाए रखने में मदद कर पाती हैं या नहीं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘परिवार को बदनाम कर दिया, कई डील हाथ से निकल गए’: राज कुंद्रा को देख भड़की थीं शिल्पा शेट्टी, पुलिस के सामने ही 4...

पता चला है कि उस दिन 6 घंटे की पूछताछ में शिल्पा शेट्टी 4 बार रो पड़ी थीं। पुलिस राज कुंद्रा को लेकर उनके घर पहुँची थी। पति को देखते वो चिल्लाने लगीं।

6 साल के जुड़वा भाई, अगवा कर ₹20 लाख फिरौती ली; फिर भी हाथ-पैर बाँध यमुना में फेंका: ढाई साल बाद इंसाफ

मध्य प्रदेश स्थित सतना जिले के चित्रकूट में दो जुड़वा भाइयों के अपहरण और हत्या के मामले में 5 दोषियों को आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,426FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe