Thursday, February 25, 2021

विषय

Sports

क्या यही है वो ‘गुरु’ जिसे ढूँढ रहे हैं सचिन तेंदुलकर, जिसके कहने पर बदल दिया था…

गुरु यानी गुरु प्रसाद। सचिन तेंदुलकर उनसे 19 साल पहले मिले थे। अब एक वीडियो जारी कर उनकी तलाश करने में लोगों से मदद मॉंगी है। ऐसा क्या है गुरु में खास कि खुद तलाश रहे क्रिकेट के भगवान?

‘मुझे तो नहीं लगता सचिन को क्रिकेट बहुत पसंद है’ – तेंदुलकर की माँ ने क्यों और कब कहा था ऐसा

"सचिन के साथ शैफ़ाली पढ़ती थी। उसने एक बार स्कूल में कह दिया, 'सचिन की माँ कितनी अजीब दिखती है।' अगले दिन मुझे स्कूल बुलाया गया। क्योंकि सचिन ने शैफ़ाली को सीने में मारा था और वो रो रही थी। सचिन ने बेझिझक बताया कि शैफ़ाली ने जो आपके बारे में कहा, इसलिए मारा।"

मिलिट्री वर्ल्ड गेम्स से बाहर हुए चीनी चीटर: मेजबान चीनी टीम के एथलीटों ने की थी बेईमानी

चीनी खिलाड़ियों ने दौड़ के नियत ट्रैक से इतर छोटे रास्तों (शॉर्टकट) का इस्तेमाल किया था। दोषी पाए गए एथलीटों को बाकी रेसों में भाग लेने से भी रोक दिया गया। आयोजकों ने चीनी एथलीटों की अपील भी ख़ारिज कर दी।

गलत दिखा रहा मीडिया… नहीं रिटायर हुए हैं ‘यूनिवर्स बॉस’ क्रिस गेल, गेंदबाजों पर अत्याचार रहेगा चालू

गेल के साथ और उनके खिलाफ खेल चुके कई क्रिकेटर भी जब रिटायरमेंट की बधाईयाँ पोस्ट करने लगे तो ICC को आगे आकर स्थिति स्पष्ट करनी पड़ी। गेल को बधाई देने वालों में इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन और भारत के विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा शामिल हैं।

रेसलर संगीता फोगाट बनेंगी नंबर वन पहलवान बजरंग पूनिया की दुल्हनिया

फोगाट बहनें पहली बार चर्चा में 2017 के राष्ट्रमंडल खेलों से आईं थी। फोगाट बहनों में तीन सगी बहनें गीता फोगाट, रितु फोगाट, संगीता फोगाट और उनकी चचेरी बहन विनेश फोगाट शामिल हैं। गीता और विनेश की शादी पहले ही हो चुकी है।

मेरी बात को तोड़ा-मरोड़ा: पीवी सिंधु ने TOI को लताड़ा

सिंधु के अनुसार उन्होंने कहा था कि एथलीट होने के नाते (ऐसी प्रतिष्ठित प्रतियोगिता में) वह हिस्सा अवश्य लेना चाहतीं हैं, लेकिन साथ में यह भी जोड़ा था कि ऐसा देश की कीमत पर नहीं होगा। वह IOA और सरकार के हर फैसले के साथ हैं।

20 दिन में 5 गोल्ड, स्टार एथलीट हिमा दास का स्वर्णिम सफर जारी

हिमा ने 2 जुलाई को पोजनान एथलेटिक्स ग्रांड प्रिक्स में 200 मीटर का रेस 23.65 सेकंड में जीतकर पहला गोल्ड मेडल जीता था। इसके बाद 7, 13 और 17 जुलाई को भी अलग-अलग स्पर्धाओं में गोल्ड हासिल किया।

15 दिन में 4 गोल्ड मेडल: हिमा दास ने फिर लहराया जीत का परचम, किया देश का नाम रोशन

महिलाओं की 200 मीटर रेस में हिमा ने चेक रिपब्लिक में चल रहे टबोर एथलेटिक्स मीट में एक और गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया। 19 साल की हिमा दास ने यह दौड़ मात्र 23.25 सेकंड में पूरी कर ली।

Video: 11.32 सेकंड में दूती चंद ने गोल्ड जीतकर रचा इतिहास, बनीं देश की पहली महिला एथलीट

23 साल की दूती मात्र 11.32 सेकंड में रेस पूरी कर पहले पायदान पर रहीं। स्विट्जरलैंड की डेल पोंटे 11.33 सेकंड के साथ दूसरे और जर्मनी के लीसा क्वायी 11.39 सेकंड के साथ कांस्य पदक जीतने में सफल रहीं।

माननीया मंगते चुंगनेशांग मैरी कॉम: राज्य सभा सदस्या, ओलंपियन बॉक्सर, संसद में आकर्षण की केंद्र

मैरी कॉम के प्रशंसक राजनीति की हर धारा और विचार धारा में हैं। 2016 में प्रणब मुखर्जी द्वारा राज्य सभा में नामित मैरी बॉक्सिंग में सरकार की ऑब्ज़र्वर भी हैं।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

291,795FansLike
81,852FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe