Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाजकश्मीर घाटी में गैर-कश्मीरियों को सुरक्षाबलों के कैंप में शिफ्ट करने की एडवाइजरी, आईजी...

कश्मीर घाटी में गैर-कश्मीरियों को सुरक्षाबलों के कैंप में शिफ्ट करने की एडवाइजरी, आईजी ने किया खंडन

रविवार को दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम में आतंकियों ने दो गैर-कश्मीरी मजदूरों की बेरहमी से हत्या कर दी। मृतकों की पहचान बिहार निवासी राजा और जोगिंदर देव के रूप में हुई है। वहीं, घायल व्यक्ति की पहचान चुनचुन देव के रूप में हुई है।

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों द्वारा गैर-कश्मीरियों को टारगेट कर उनकी हत्या की जा रही है। मीडिया रिपोर्ट्स में द्वावा किया गया है कि प्रशासन ने घाटी में रहने वाले गैर-कश्मीरी लोगों की सुरक्षा के लिए एडवाइजरी जारी किया है। इसके तहत सभी जिलों के प्रशासन को उनके क्षेत्र में रहने वाले सभी गैर-कश्मीरियों को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल, सेना अथवा पुलिस के कैंपों में शिफ्ट करने के लिए कहा गया है। हालाँकि, कश्मीर के आईजीपी विजय कुमार ने इस खबर का खंडन किया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) विजय कुमार ने घाटी में गैर-स्थानीय लोगों को निकटतम पुलिस एवं सैन्य शिविरों में स्थानांतरित करने के कथित आदेश का रविवार को पूरी तरह नकार दिया। समाचार एजेंसी केएनओ के मुताबिक, आईजीपी ने कहा, “ऐसा कोई आदेश नहीं दिया गया है। यह गलत खबर है।”

गौरतलब है कि रविवार को दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम में आतंकियों ने दो गैर-कश्मीरी मजदूरों की बेरहमी से हत्या कर दी। मृतकों की पहचान बिहार निवासी राजा और जोगिंदर देव के रूप में हुई है। वहीं, घायल व्यक्ति की पहचान चुनचुन देव के रूप में हुई है। एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया, “हम अपने कमरे में बैठे थे, तभी हमारा एक साथी आया और कहा कि हमारे तीन लोगों को गोली मार दी गई है। हम उन्हें अस्पताल ले गए, जहाँ दो को मृत घोषित कर दिया गया।”

एक अन्य प्रत्यक्षदर्शी ने बताया, “उन्हें (मजदूरों को) आतंकवादियों ने छह गोलियाँ मारी थीं। मुझे नहीं पता कि कमरे के अंदर कितने बंदूकधारी थे।” एक अनुमान के मुताबिक, इस समय घाटी में 50 हजार से अधिक मजदूर रह रहे हैं। बता दें कि पिछले 15 दिनों में कश्मीर में आतंकवादियों द्वारा 11 नागरिकों की हत्या कर दी गई है।

उल्लेखनीय है कि रविवार को दो गैर-कश्मीरी युवकों की हत्या के बाद से खबर आ रही है कश्मीर घाटी के सभी जिलों के गैर-कश्मीरियों को सुरक्षाबलों के कैंपों में शिफ्ट करने का आदेश दिया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -