Saturday, July 20, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजन'द कश्मीर फाइल्स' के सितारों को फिल्मफेयर अवॉर्ड में नहीं बुलावा, बोले विवेक अग्निहोत्री-...

‘द कश्मीर फाइल्स’ के सितारों को फिल्मफेयर अवॉर्ड में नहीं बुलावा, बोले विवेक अग्निहोत्री- यदि बुलाएँगे भी तो मैं नहीं जाऊँगा

"यह 100% सच है। साल 2014 तक फिल्मफेयर अवॉर्ड के आयोजक मुझे और मेरी पत्नी को बुलाते थे, लेकिन उसके बाद उन्होंने बुलाना बंद कर दिया। मैं इससे बहुत खुश हूँ।"

67वें फिल्मफेयर अवॉर्ड्स (Filmfare Awards 2022) का आयोजन 31 अगस्त 2022 की रात मुंबई के जियो वर्ल्ड कन्वेंशन सेंटर में हुआ। अवॉर्ड शो में रणवीर सिंह, कियारा आडवाणी, दिशा पटानी, विक्की कौशल, कैटरीना कैफ, दीपिका पादुकोण समेत कई बॉलीवुड सितारों को आमंत्रित किया गया था। लेकिन ‘द कश्मीर फाइल्स (The Kashmir Files)’ से जुड़े हुए किसी भी व्यक्ति को शो में इनवाइट नहीं किया गया था।

इस दुर्भाग्यपूर्ण वाकये को राजीव सिंह राठौर नाम के एक ट्विटर यूजर ने उठाया है। वे भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM), मध्य प्रदेश के सदस्य हैं। उन्होंने फिल्मफेयर अवॉर्ड्स के आयोजकों की साल 2022 की सबसे बड़ी ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ से दूरी का जिक्र करते हुए कहा है कि अब बॉलीवुड का पूरी तरह से बहिष्कार करने का समय आ गया है।

उन्होंने ट्वीट में कहा, “फिल्मफेयर ने फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ से जुड़े एक भी व्यक्ति को आमंत्रित नहीं किया। बॉलीवुड से किसी ने भी इसका विरोध नहीं किया। यह दर्शाता है कि न केवल कुछ फिल्मों बल्कि पूरे बॉलीवुड के बहिष्कार की आवश्यकता है। यदि आप हमारी भावनाओं का सम्मान नहीं कर सकते, तो आप हमारे पैसे और प्रशंसा के भी लायक नहीं हैं।”

इस संबंध में ऑपइंडिया ने ‘द कश्मीर फाइल्स’ के डायरेक्टर विवेक रंजन अग्निहोत्री से बात की। उन्होंने कहा, “यह 100% सच है। साल 2014 तक फिल्मफेयर अवॉर्ड के आयोजक मुझे और मेरी पत्नी को बुलाते थे, लेकिन उसके बाद उन्होंने बुलाना बंद कर दिया। मैं इससे बहुत खुश हूँ।” साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि अवॉर्ड नाइट्स में जाने की उनकी अब दिलचस्पी भी नहीं रही। इसलिए वे बुलाएँगे तो भी मैं नहीं जाऊँगा। अग्निहोत्री ने कहा, “यह स्टैंड लेने का समय है ताकि हर कोई जान सके कि कौन भारत के साथ खड़ा है और कौन नहीं। यदि पाकिस्तान मुझे बुलाएगा तो क्या मैं जाऊँगा?”

इससे पहले अग्निहोत्री ने उन मीडिया हाउसों की आलोचना की थी जिन्होंने 68वें राष्ट्रीय फिल्म अवॉर्ड्स में ‘द कश्मीर फाइल्स’ की उपेक्षा की खबर चलाई थी। दरअसल यह अवॉर्ड 2020 में रिलीज फिल्मों के लिए था, जबकि ‘द कश्मीर फाइल्स’ इस साल रिलीज हुई है। इस तथ्य की अनदेखी कर कुछ मीडिया हाउस ने खबर इस तरह चलाई जैसे ‘द कश्मीर फाइल्स’ पुरस्कार के योग्य ही नहीं पाया गया।

गौरतलब है कि ‘द कश्मीर फाइल्स’ इस साल 11 मार्च को रिलीज हुई थी। अनुपम खेर, मिथुन चक्रवर्ती, दर्शन पाठक, पल्लवी जोशी स्टारर फिल्म ने करीब 337.23 करोड़ रुपए का बिजनेस किया है। कोविड-19 महामारी के दौर में 300 करोड़ के क्लब में शामिल होने वाली यह एकमात्र हिंदी फिल्म थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

टीम से बाहर होने पर मोहम्मद शमी का वायरल वीडियो, कहा – किसी के बाप से कुछ नहीं लेता हूँ, बल्कि देता हूँ

"मुझे मौका दोगे तभी तो मैं अपनी स्किल दिखाऊँगा, जब आप हाथ में गेंद दोगे। मैं सवाल नहीं पूछता। जिसे मेरी ज़रूरत है, वो मुझे मौका देगा।"

थूक लगी रोटी सोनू सूद को कबूल है, कबूल है, कबूल है! खुद की तुलना भगवान राम से, खाने में थूकने वाले उनके लिए...

“हमारे श्री राम जी ने शबरी के जूठे बेर खाए थे तो मैं क्यों नहीं खा सकता। बस मानवता बरकरार रहनी चाहिए। जय श्री राम।” - सोनू सूद

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -