Saturday, July 20, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनKarachi to Noida: सीमा हैदर पाकिस्तानी नहीं भारत की जासूस… फिल्म के टीजर में...

Karachi to Noida: सीमा हैदर पाकिस्तानी नहीं भारत की जासूस… फिल्म के टीजर में लप्पू-झींगुर और सन्नी देओल का हैंड-पंप भी

"ये बिरयानी जो तेरे सामने रखी है न, इसमें सब कुछ है... चावल है, जाफरान है... बस नहीं है तो गोश्त।" - ऐसे ही कुछ डायलॉग हैं, जिस पर विवाद हो सकता है।

पाकिस्तान से नोएडा के सचिन के इश्क में गिरफ्तार होकर भारत पहुँची सीमा हैदर को लेकर बनी फिल्म ‘कराची टू नोएडा (Karachi to Noida)’ मूवी का टीजर रिलीज हो गया है। तीन मिनट के जानी फायरफॉक्स प्रोडक्शन के इस टीजर में दिखाया गया है कि इसमें सीमा के किरदार के नाम सायमा हैदर खान है।

गौरतलब है कि प्रोड्यूसर अमित जानी ने अगस्त में सीमा हैदर बनने वाली फिल्म की स्क्रिप्ट पर काम शुरू करने की बात कही थी। फिल्म ‘कराची टू नोएडा’ में सीमा हैदर (Seema Haider) का किरदार फरहीन फलर ने निभाया है। सीमा के पति सचिन मीणा का रोल आदित्य राघव ने किया है।

सीमा हैदर के पाकिस्तानी पति के किरदार में बॉलीवुड एक्टर एहसान खान हैं। मूवी के अन्य कलाकारों में ‘गदर 2’ के मेजर मलिक रोहित चौधरी को कराची पुलिस कमिश्नर के किरदार में तो याया खान मनोज बक्शी को पाक आर्मी अफसर के किरदार में दिखाया गया है।

अमित जानी के साथ भारत सिंह की को-प्रोड्यूस इस मूवी में पाकिस्तान के कराची से लेकर भारत के नोएडा तक के कई सीन हैं। इसमें लप्पू और झींगुर सा सचिन वाले मशहूर वाकये को भी दिखाया गया है। इस फिल्म का निर्देशन जयंत सिन्हा ने किया है। कहा जा रहा है कि इस फिल्म में कुछ ऐसे डायलॉग हैं, जो विवाद पैदा कर सकते हैं।

फिल्म के डायलॉग जो बवाल पैदा कर सकते हैं, उसमें से कुछ हैं:

“जिसे तू मुमताज समझ रहा था वो हिन्दोस्तानी जासूस थी, साले लप्पू वो नहीं तू है तू।”
“मादर$@ वो हमारे डिफेंस मैकेनिज्म को चुना लगा गई और तू कहता है तुझे कुछ नहीं मालूम”
“ये बिरयानी जो तेरे सामने रखी है न, इसमें सब कुछ है… चावल है, जाफरान है… बस नहीं है तो गोश्त।”
“तेरा मर्द कौन से सन्नी देओल है, उसने कौन से हैंड-पंप उखाड़े हैं?”

फिल्म के गाने, कहानी और डायलॉग भी अमित जानी ने लिखे हैं। टीजर में इस फिल्म में सीमा को रॉ के एजेंट के तौर पर दिखाया गया है। गौरतलब है कि सीमा हैदर और सचिन की दोस्ती पबजी गेम खेलते हुए हुई। इसके बाद सीमा नेपाल के रास्ते भारत और फिर चार बच्चों सहित नोएडा आ गई।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -