मेरे देश के अनाड़ी PM को ट्रेनिंग की ज़रूरत, कहता है कि जर्मनी-जापान पड़ोसी हैं: हिना रब्बानी खार

पाकिस्तान की संसद में बोलते हुए उन्होंने न सिर्फ़ इमरान के कॉमन सेन्स पर सवाल खड़े किए बल्कि पाक पीएम को अनाड़ी भी बता दिया। हिना रब्बानी खार ने कहा कि इमरान को न भूगोल का ज्ञान है और न ही इतिहास का....

पाकिस्तान की पूर्व विदेश मंत्री हिना रब्बानी खार ने अपने ही देश के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान को खरी-खरी सुनाई है। पाकिस्तान की संसद में बोलते हुए उन्होंने न सिर्फ़ इमरान के कॉमन सेन्स पर सवाल खड़े किए बल्कि पाक पीएम को अनाड़ी भी बता दिया। हिना रब्बानी खार ने कहा कि इमरान को न भूगोल का ज्ञान है और न ही इतिहास का। हिना रब्बानी ने कहा, “हमारे पीएम कहते हैं कि जापान और जर्मनी पड़ोसी हैं जबकि भूगोल कहता है कि जापान ईस्ट एशिया में है और जर्मनी यूरोप में है। हमारे पीएम कहते हैं कि वर्ल्ड वॉर 2 में दोनों मुल्क़ दुश्मन थे जबकि इतिहास कहता है कि दोनों मित्र थे।

हिना रब्बानी खार का संसद में दिया यह भाषण सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो रहा है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री अपने ही देश में बुरी तरह घिर गए हैं और उनके ही देश के नेता उन पर सवाल खड़े कर रहे। आप भी इस वीडियो को देखिए:

इमरान ख़ान से नाराज़ हिना रब्बानी ने कहा कि पाक पीएम ने पाकिस्तानियों को हँसी का पात्र बना दिया है। उन्होंने कहा कि इमरान देश को शर्मिंदा कर रहे हैं। हिना रब्बानी ने पाक पीएम को लताड़ते हुए कहा कि उन्हें ट्रेनिंग की ज़रूरत है। 2011 से 2013 तक पाक की विदेश मंत्री रहीं हिना रब्बानी खार पाकिस्तानी पीपल्स पार्टी (पीपीपी) की नेता हैं। मात्र 33 वर्ष की उम्र में वह पाकिस्तान की सबसे युवा विदेश मंत्री बनी थीं।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

इससे पहले इमरान ख़ान की पूर्व पत्नी रेहम ने भी उनकी नीतियों पर सवाल खड़े किए थे। रेहाम ने कहा था कि इमरान ने कश्मीर पर भारत के साथ डील कर लिया है और वह बिक गए हैं। हाल ही में पाकिस्तानी संसद में एक नेता ने अपने ही मंत्री को कुत्ता और बेशर्म कह कर सम्बोधित किया था।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by paying for content

बड़ी ख़बर

नरेंद्र मोदी, डोनाल्ड ट्रम्प
"भारतीय मूल के लोग अमेरिका के हर सेक्टर में काम कर रहे हैं, यहाँ तक कि सेना में भी। भारत एक असाधारण देश है और वहाँ की जनता भी बहुत अच्छी है। हम दोनों का संविधान 'We The People' से शुरू होता है और दोनों को ही ब्रिटिश से आज़ादी मिली।"

ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

92,258फैंसलाइक करें
15,609फॉलोवर्सफॉलो करें
98,700सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: