Tuesday, July 23, 2024
Homeविविध विषयअन्यइतिहास का सबसे तेज़ दोहरा शतक, 24 साल के ईशान किशन ने तोड़ा गेल...

इतिहास का सबसे तेज़ दोहरा शतक, 24 साल के ईशान किशन ने तोड़ा गेल का रिकॉर्ड: बांग्लादेशी गेंदबाजों हुई ऐसी पिटाई, कोहली भी करने लगे भांगड़ा

क्रिस गेल का सबसे तेज दोहरा शतक का रिकॉर्ड तोड़ने अलावा ईशान ने कई और रिकॉर्ड बनाए। इनमें एक रिकॉर्ड बांग्लादेश की पिच पर सबसे बड़ी पारी खेलने का है। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के शेन वॉटसन ने वहाँ 185 रन बनाए थे। अब किशन, वॉटसन से भी ऊपर आ चुके हैं।

भारत के युवा क्रिकेटर ईशान किशन ने आज (10 दिसंबर 2022) बांग्लादेश के खिलाफ एकदिवसीय मैच खेलते हुए जहूर अहमद चौधरी स्टेडियम में रिकॉर्ड पर रिकॉर्ड बनाए। उन्होंने मात्र 126 गेंदों में दोहरा शतक जड़ा और इसी के साथ वह बन गए दुनिया में सबसे तेज डबल सेंचुरी मारने वाले क्रिकेटर। ईशान किशन ने क्रिस गेल का रिकॉर्ड तोड़कर अपना नया रिकॉर्ड बनाया है।

इससे पहले विश्व में केवल 7 खिलाड़ी क्रिकेट जगत में दोहरे शतक के लिए जाने जाते थे। इनमें तीन भारतीय हैं- सचिन तेंदुलकर, रोहित शर्मा और वीरेंद्र सहवाग। अब इसी लिस्ट में ईशान किशन का नाम जुड़ गया है। 24 साल के इस खिलाड़ी ने किस ग्रेल को पछाड़ अपने नाम ये उपलब्धि की है। गेल ने जिम्बाब्वे के खिलाफ 138 गेंदों पर यह कारनामा किया था और किशन ने 126 गेंदों में बांग्लादेश के खिलाफ।

दिलचस्प बात यह है कि सबसे तेज दोहरा शतक मारने के अलावा ईशान ने कई और रिकॉर्ड बनाए हैं। इनमें एक रिकॉर्ड बांग्लादेश की पिच पर सबसे बड़ी पारी खेलने का है। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के शेन वॉटसन ने वहाँ 185 रन बनाए थे। अब किशन, वॉटसन से भी ऊपर आ चुके हैं। इस लिस्ट में तीसरा नाम विराट कोहली का है जिन्होंने बांग्लादेश की पिच पर 183 रन जड़े थे। इसके अलावा किशन की आज की पारी के बाद वह बांग्लादेश में शतक जमाने वाले 5वें भारतीय ओपनर बन गए हैं। उनसे पहले सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली, सहवाग और गौतम गंभीर ही ऐसा कारनामा कर पाए हैं।

बता दें कि ईशान की आज की पारी इतनी शानदारा रही कि उसे देखने के बाद पूर्व कप्तान विराट कोहली भी मैदान में भंगड़ा करते नजर आए। दोनों की साझेदारी के बूते भारत ने पहले 300 से ज्यादा रन बनाए और अब 5 विकट खोकर 382 रन बना चुका है। इसमें से जहाँ 210 रन अब तक अकेले ईशान के हैं।

ईशान के नाम जुड़ी यह उपलब्धि इसलिए भी इतनी यादगार है क्योंकि उन्हें भारतीय क्रिकेट टीम में अचानक मौका मिला। रोहित शर्मा के अंगूठे में आई चोट के बाद ईशान को टीम 11 में मौका मिला और उन्होंने इस अवसर का इस्तेमाल ऐसा किया कि इस समय उनके चर्चे हर जगह हैं। उन्होंने जिस तरह शिखर धवन के आउट होने के बाद पारी संभाली उसे देख लोग अभी से उन्हें 2023 में होने वाले वर्ल्ड कप में शामिल करने की अपील कर रहे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राक्षस के नाम पर शहर, जिसे आज भी हर दिन चाहिए एक लाश! इंदौर की महारानी ने बनवाया, जयपुर के कारीगरों ने बनाया: बिहार...

गयासुर ने भगवान विष्णु से प्रतिदिन एक मुंड और एक पिंड का वरदान माँगा है। कोरोना महामारी के दौरान भी ये सुनिश्चित किया गया कि ये प्रथा टूटने न पाए। पितरों के पिंडदान के लिए लोकप्रिय गया के इस मंदिर का पुनर्निर्माण महारानी अहिल्याबाई होल्कर ने करवाया था, जयपुर के गौड़ शिल्पकारों की मेहनत का नतीजा है ये।

मार्तंड सूर्य मंदिर = शैतान की गुफा: विद्यार्थियों को पढ़ाने वाला Unacademy का जहरीला वामपंथी पाठ, जानिए क्या है इतिहास

मार्तंड सूर्य मंदिर को 8वीं शताब्दी ईस्वी में बनाया गया था और यह हिंदू धर्म के प्रमुख सूर्य देवता सूर्य को समर्पित है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -