Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाज'वो मेरे बाल खींचता था.. मेरा बदन नोंचता था' : सहरसा में स्कूल संचालक...

‘वो मेरे बाल खींचता था.. मेरा बदन नोंचता था’ : सहरसा में स्कूल संचालक के बेटे ने 2 साल तक किया नाबालिग का रेप, महिला प्रिंसिपल देती थी दरिंदगी में साथ

“मैं चिल्लाई क्योंकि कमरे में मैं अकेली नहीं थी, स्कूल संचालक का बेटा मेरा इंतजार कर रहा था। वह मेरे करीब आया, मेरे बाल खींचे, मुझे चोट पहुँचाई, मेरे साथ बलात्कार किया और पूरी घटना का वीडियो बना लिया।"

“वो मेरे बाल खींचता था.. मेरा बदन नोंचता था। मेरे साथ उसने 2 साल तक रेप किया।” 12 साल की उम्र में अपने साथ हुए रेप की भयावह घटना को बिहार के सहरसा की एक लड़की ने साझा किया है। हालाँकि, यह घटना तब हुई जब वह 2017 में कक्षा 6 में पढ़ती थी।

इतना ही नहीं दरिंदगी के इस अपराध में  आरोपित का साथ स्कूल की महिला प्रिंसिपल भी देती थी। लड़की ने रेप का आरोप प्राइवेट स्कूल के संचालक के बेटे पर लगाया है। दरिंदगी की इस घटना की शुरुआत उसके स्कूल की लाइब्रेरी में 6 साल पहले हुई। इसके बाद यह सिलसिला 2 साल तक चलता रहा।

क्या है पूरा मामला 

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पूरा मामला बिहार के सहरसा के शांति शिक्षण संस्थान का है। इस मामले में स्कूल के डायरेक्टर अजीत विश्वास के बेटे सम्राट विश्वास पर दो साल तक एक नाबालिग लड़की से रेप का आरोप लगा है। सबसे पहले चार साल बाद 28 अगस्त, 2023 को इस मामले का खुलासा हुआ है। परिजन ने थाने में रेप की एफआईआर दर्ज कराई। 29 अगस्त को पुलिस ने आरोपित सम्राट को गिरफ्तार कर लिया। 

इस पूरे मामले में लड़की ने खुद ही आपबीती सुनाई है। हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, वर्तमान में करीब 17 साल की नाबालिग का आरोप है जब उसके साथ पहली बार रेप हुआ तब वह छठवी क्लास में पढ़ती थी। अभी वह पटना में नीट की तैयारी कर रही है। अपने साथ हुई रेप की घटना बयान करते हुए उसने कहा, “मेरे साथ साल 2017 से साल 2019 तक लगातार रेप हुआ। पहली बार मेरे स्कूल की टीचर अनीता मिश्रा मुझे लाइब्रेरी के बगल में एक कमरे में ले गई। फिर लाइट ऑफ कर दी और बाहर से दरवाजा बंद कर दिया।”

पीड़िता ने कहा, “मैं चिल्लाई क्योंकि कमरे में मैं अकेली नहीं थी, स्कूल संचालक का बेटा मेरा इंतजार कर रहा था। वह मेरे करीब आया, मेरे बाल खींचे, मुझे चोट पहुँचाई, मेरे साथ बलात्कार किया और पूरी घटना का वीडियो बना लिया। जब वह मेरे साथ बलात्कार कर रहा था, तब मेरी शर्ट के बटन टूट गए।”

नाबालिग ने बताया कि एक बार जब उसका काम पूरा हो गया और उसकी पकड़ ढीली हो गई, तो वह बस भाग जाना चाहती थी। लेकिन प्रिंसिपल दरवाजे पर पहरा दे रहे थे। तब प्रिंसिपल ने उसे पकड़ लिया और बाल, कपड़े ठीक करने से पहले उसे थप्पड़ मारा…। उसने पीड़िता को क्लास में लौटने और घटना के बारे में किसी से कोई बात न करने को कहा।”

 पीड़िता ने पहले भी इस दरिंदगी को बताना चाहा लेकिन उसकी हिम्मत नहीं हुई। घटना के बाद अब वह स्कूल जाने से कतराने लगी थी और स्कूल न आने के लिए नए-नए बहाने खोजती थी। लेकिन इन सब बहानों ने बहुत लंबे समय तक काम नहीं किया और उसे स्कूल वापस जाना पड़ा। उसने उसके साथ अगले दो वर्षों तक बार-बार बलात्कार किया, ज्यादातर पुस्तकालय के अंदर एक ही कमरे में।

एक समय ऐसा भी आया जब सदमे में डूबी लड़की ने अपने बलात्कारी और प्रिंसिपल का सामना करने की हिम्मत जुटाई और उनके बारे में शिकायत करने की धमकी दी। लेकिन वे बहुत आश्वस्त थे कि उनको कुछ नहीं होगा। पीड़िता ने बताया कि उन्होंने मुझसे कहा, “तुम क्या बताओगी?…. तुम्हारे माता-पिता तुम पर विश्वास नहीं करेंगे और जिस समाज में तुम रहती हो वह तुम्हारा बहिष्कार करेगा।”

उन्होंने बलात्कार के वीडियो लीक करने की धमकी भी दी। वह शिकायत से पीछे हट गई लेकिन अपने माता-पिता को 2018 में उसे लड़कियों के स्कूल में स्थानांतरित करने के लिए मना लिया।

दर्द होता तो रोती थी, मैडम थप्पड़ मारकर चुप करा देती

पीड़िता ने बताया, “मैं उस वक्त बहुत छोटी थी। मुझे दर्द होता तो मैं बैठ कर रोती रहती थी। टीचर अनीता से कुछ कहती तो वो मुझे थप्पड़ मारती थी। मैं घटना के बाद से ही डिप्रेशन में रहने लगी थी। बीमार पड़ी तो 2019 में शांति शिक्षण संस्थान को छोड़ दिया। सहरसा के ही दूसरे स्कूल में नाम लिखावाया। वहाँ  10वीं पास करने के बाद साल 2022 से मेडिकल की तैयारी के लिए पटना आकर रहने लगी। 

पीछा करते हुए पटना पहुँचा आरोपित 

लड़की ने बताया कि साल 2020 में मुझे उसके साथ लिव इन में रहने वाली एक लड़की ने कॉल किया था। कहती थी सम्राट तुमसे मिलना चाहता है। अभी कुछ दिन पहले भी उसका कॉल आया था। उसने कहा कि सम्राट पटना आया है, वो तुमसे मिलना चाहता है।

पीड़िता ने बताया कि ये सुनकर ही उसकी हालत खराब हो गई, वह डिप्रेशन में चली गई। वह पिछले सात साल से घुट-घुट कर जी रही थी। और एक बार फिर से आरोपित का कॉल आने के बाद उसका शरीर काँपने लगा। 23 अगस्त को जब उसकी तबीयत बहुत ज्यादा खराब हो गई तब उसे अस्पताल में भर्ती कराया। 

साइकियाट्रिस्ट के सामने हुआ रेप का खुलासा

पीड़िता ने बताया कि 24 अगस्त को उसे पटना के ही एक साइकेट्रिस्ट के पास ले जाया गया। वहाँ उसने अपने अतीत की सारी कहानी डॉक्टर से बताई। डॉक्टर ने रेप वाली बात मेरी फैमिली को बता दी। जैसे ही इस बात की जानकारी पीड़िता के परिजनों को लगी तो 28 अगस्त को सहरसा आकर सदर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गई। अगले दिन ही पुलिस ने पटना से आरोपित सम्राट को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। 

छोटी बच्चियों को सम्राट बनाता था शिकार

पीड़िता ने यह भी आरोप लगाया कि सम्राट विश्वास क्लास 5वीं से लेकर क्लास 10वीं में पढ़ने वाली बच्चियों के साथ गंदा काम करता है। शर्म और परिवार की बदनामी के कारण कोई लड़की सामने नहीं आना चाहती है। उसने मेरी एक दोस्त के साथ भी रेप किया है। मैं चाहती हूँ कि सम्राट को फाँसी मिले। प्रिंसिपल अनीता मिश्रा को अरेस्ट किया जाए। इन लोगों ने मिलकर बहुत सारी बच्चियों के साथ रेप किया है।

मामले की छानबीन में जुटी बिहार पुलिस

वहीं इस मामले में पुष्टि करते हुए पुलिस अधीक्षक उपेंद्र नाथ वर्मा ने बताया कि रेप का मामला सामने आया है। मुख्य आरोपित को जेल भेज दिया गया है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। जो भी दोषी पाया जाएगा, उस पर कार्रवाई की जाएगी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -