Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाज25 साल पहले अब्बा ने किया था हिन्दू पीड़ित की बहन का रेप, बहलीम...

25 साल पहले अब्बा ने किया था हिन्दू पीड़ित की बहन का रेप, बहलीम ने बेटी के साथ दोहराई वही हरकत: एक मानसिक विक्षिप्त हो गई, एक करने वाली थी आत्महत्या

पीड़िता के पिता ने कहा कि उसके गाँव में हिन्दू-मुस्लिम के हिसाब से मिश्रित आबादी है, जिसमें दबदबा मुस्लिमों का रहता है। पीड़ित पिता ने बताया कि घटना के बाद उसकी बेटी दुःखी होकर आत्महत्या करने जा रही थी। पीड़िता कक्षा 7 तक पढ़ी बताई जा रही है।

उत्तर प्रदेश के नेपाल सीमा से सटे श्रावस्ती जिले में एक मुस्लिम युवक द्वारा हिन्दू लड़की को भगाने का मामला सामने आया है। आरोप है कि शादीशुदा और बाल-बच्चेदार बहलीम द्वारा पीड़िता को न सिर्फ 2 दिनों तक बंधक बनाए रखा गया, बल्कि उस से 93,000 रुपए भी ऐंठ लिए। बहलीम पहले पीड़िता के साथ रेप कर चुका है। पुलिस ने FIR दर्ज कर जाँच शुरू की है। घटना सोमवार (6 फरवरी 2023) की है।

मामला श्रावस्ती के मल्हीपुर थाना क्षेत्र के गाँव जैता जानकी नगर का है। मामले में शिकायकर्ता लड़की के पिता हैं। पुलिस को दी गई शिकायत में उन्होंने बताया कि उनकी 18 साल की बेटी है और उसे 6 फरवरी 2023 को शाम 5 बजे शहजाद का बेटा बहलीम बहला-फुसला कर अपने साथ ले गया। इस दौरान आरोपित की नीयत पीड़िता से शादी करने की बताई गई। आरोप है कि बहलीम ने लड़की को 2 दिनों तक अपने घर में रखा और फिर भगा दिया।

शिकायत में लड़की के पिता ने आगे लिखा है कि बहलीम द्वारा भगाए जाने के बाद पीड़िता अपने घर लौटकर नहीं गई। वहाँ से वो फकीरा मंदिर चली गई और एक दिन मंदिर में रही रही। इस दौरान लड़की के घर वालों ने पीड़िता की तलाश जारी रखी। आखिरकार 8 फरवरी को मंदिर के पुजारी ने एक व्यक्ति के साथ पीड़िता को उसके घर भेजवा दिया।

घर आकर पीड़िता ने अपने साथ की गई बहलीम की करतूत को परिजनों से बताया। आखिरकार लड़की के घर वालों ने 10 फरवरी (शुक्रवार) को पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई। पीड़िता के पिता का कहना है कि घर से निकलते वक्त उसकी बेटी घर में रखा 93,000 रुपए भी अपने साथ लेकर गई थी। यह पैसा बहलीम ने हड़प लिया है।

शिकायतकर्ता ने बताया कि वह इस घटना से वह काफी डर गया था, इसलिए उसने 6 फरवरी को हुई घटना का FIR 10 तारीख को कराई। पुलिस ने यह केस IPC की धारा 366 के तहत दर्ज किया है। FIR दर्ज होते ही आरोपित बहलीम फरार हो गया है। ऑपइंडिया के पास FIR कॉपी मौजूद है।

लड़की करने जा रही थी आत्महत्या

लड़की का पिता मजदूरी करके घर चलाता है। ऑपइंडिया ने इस घटना की जानकारी लड़की के पिता से ली। उन्होंने बताया कि आरोपित बहलीम के अब्बा शहजाद मुंबई से फोन और दूसरे माध्यम से केस वापस लेने का दबाव बना रहा है।

पीड़िता के पिता ने कहा कि उसके गाँव में हिन्दू-मुस्लिम के हिसाब से मिश्रित आबादी है, जिसमें दबदबा मुस्लिमों का रहता है। पीड़ित पिता ने बताया कि घटना के बाद उसकी बेटी दुःखी होकर आत्महत्या करने जा रही थी। पीड़िता कक्षा 7 तक पढ़ी बताई जा रही है।

बहलीम पहले कर चुका है रेप

पीड़िता के पिता का कहना है कि आरोपित बहलीम पहले लड़की से घर में घुसकर रेप कर चुका है। रेप के लिए पीड़ित पिता ने ग्रामीण शब्द (घटिहई) का प्रयोग किया। हमें बताया गया कि घर के आगे बहलीम के परिवार वाले रात में तेज-तेज म्यूजिक सिस्टम बजा दिया करते थे, जिससे पीड़ित के घर वालों को सोने में भी दिक्क्त होती है। लड़की के पिता का कहना है कि पड़ोसी बहलीम को वो बेटे जैसा मानते थे पर उन्हें बदले में धोखा मिला।

बहन के साथ बहलीम का अब्बा कर चुका है रेप

ऑपइंडिया को पीड़िता के पिता ने आगे बताया कि आज बहलीम ने उनकी बेटी की जिंदगी खराब की, लेकिन लगभग 25 साल पहले बहलीम के अब्बा शहजाद ने यही हरकत उनकी बहन के साथ किया था। पीड़िता के पिता ने शहजाद और बहलीम को एक जैसा बताया।

25 साल पहले की घटना की जानकारी देते हुए लड़की के पिता ने बताया कि तब उनकी शादीशुदा बहन के साथ बहलीम के अब्बा ने घर में घुसकर रेप किया था। इस रेप के चलते पीड़ित की बहन को उसके पति ने छोड़ दिया था। बताया गया कि इसी घटना से दुःखी होकर उनकी बहन मानसिक तौर पर विक्षिप्त हो चुकी है।

नवभारत टाइम्स के पंचायत के दावे का खंडन

नवभारत टाइम्स में प्रकशित खबर में बताया गया है कि घटना के बाद गाँव में 2 दिनों तक पंचायत चली। लड़की के पिता ने किसी भी तरह की पंचायत से इंकार किया है। उन्होंने कहा कि जो भी अख़बार ऐसी खबर छाप रहा है, तो वो गलत है। उन्होंने कहा कि आरोपितों द्वारा कुछ पत्रकारों को बुलाकर उलटी-सीधी खबर छापने की साजिश भी रची जा रही है।

मुंबई और दुबई के पैसे का जोर

पीड़िता के पिता का कहना है कि उसके घर के ठीक आगे आरोपित बहलीम की परचून की दुकान है। हमें बताया गया कि उनके गाँव के अधिकतर मुस्लिम सऊदी और मुंबई में मोटी कमाई करते हैं। उस पैसे के दम पर वो पीड़ित के घर वालों से आर्थिक तौर पर कई गुना मजबूत हैं।

पीड़ित ने डर के तमाम कारणों में ये वजह अपनी आर्थिक तंगी भी बताया। इन्हीं डर की वजह से पीड़ित के पिता ने घटना के चार दिन बाद FIR कराई। फिलहाल इस मामले में पुलिस कानूनी कार्रवाई कर रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

राहुल पाण्डेय
राहुल पाण्डेयhttp://www.opindia.com
धर्म और राष्ट्र की रक्षा को जीवन की प्राथमिकता मानते हुए पत्रकारिता के पथ पर अग्रसर एक प्रशिक्षु। सैनिक व किसान परिवार से संबंधित।

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -