कमलेश तिवारी मर्डर: हत्यारों के 3 नए वीडियो सामने आए, योगी आदित्यनाथ से मिला पीड़ित परिवार

कमलेश तिवारी के परिजनों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भेंट की। कमलेश तिवारी की पत्नी किरण तिवारी ने बताया कि सीएम ने न्याय दिलाने का भरोसा दिलाया है। पीड़ित परिवार ने 11 सूत्री मॉंग पत्र सीएम को सौंपा।

हिन्दू महासभा के पूर्व अध्यक्ष कमलेश तिवारी हत्याकांड मामले में तीन नए वीडियो सामने आए हैं। इन वीडियो में संदिग्ध हत्यारे नज़र आ रहे हैं। पहले वीडियो में, खालसा होटल (लखनऊ) का वह कमरा है जहाँ संदिग्ध हत्यारे ठहरे हुए थे। इसी कमरे से पुलिस ने ख़ून में सने कुरता, बैग समेत बरामद किया है।

जाँच में पता चला है कि हत्यारों ने अशफ़ाक़ और मोईनुद्दीन के नाम से होटल का कमरा बुक कराया था। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार होटल मालिक के पास से आरोपियों की आईडी भी मिली है, जिस पर नाम के साथ सूरत का पता दर्ज है। हत्यारों की लोकेशन भी ट्रेस हो गई है। लखनऊ से निकल के हरदोई और बरेली होते हुए गाज़ियाबाद तक की लोकेशन मिली है।

इसके अलावा, एक दूसरा वीडियो सामने आया है जिसमें हत्यारे होटल के रिसेप्शन काउंटर पर नज़र आ रहे हैं। शायद यह वीडियो हत्या करने से पहले होटल का कमरा बुक करने के समय का है। 

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

तीसरे वीडियो में संदिग्ध हत्यारा भगवा कपड़े में नज़र आ रहे हैं। एक के हाथ में पॉलीथिन है। शायद इसमें वही मिठाई का डिब्बा रहा होगा जिसमें छिपाकर हत्यारे चाकू और पिस्टल लेकर तिवारी के कार्यालय पहुॅंचे थे। इस फुटेज को देखकर यह पता चल रहा है कि यह वीडियो हत्या की वारदात को अंजाम देने से पहले का है। बता दें कि हत्या के दौरान कमलेश तिवारी के सीने और ठोड़ी पर 15 से अधिक वार किए गए थे।

इस बीच, तिवारी के परिजनों ने रविवार को लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनके सरकारी आवास पर भेंट की। मुलाकात के बाद कमलेश तिवारी की पत्नी किरण तिवारी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने न्याय दिलाने का आश्वासन दिया है। किरण तिवारी ने कहा कि हत्यारों को मृत्युदंड दिए जाने की माँग पर मुख्यमंत्री ने उन्हें आश्वासन दिया है कि दोषियों को कड़ी सज़ा दिलवाई जाएगी। पीड़ित परिवार ने 11 सूत्री मॉंग पत्र सीएम को सौंपा। परिवार लखनऊ में कमलेश तिवारी की प्रतिमा लगाने की मांग कर रहा है। खुर्शीद बाग का नाम बदलकर कमलेश बाग रखने के साथ ही अपराधियों पर कठोर कार्रवाई करने की मांग की गई है।

ग़ौरतलब है कि लखनऊ में नाका क्षेत्र स्थित हिन्दू महासभा कार्यालय में कमलेश तिवारी को बदमाशों ने गला रेतकर व गोली मारकर हत्या कर दी थी। शुक्रवार (18 अक्टूबर 2019) को हत्या की वारदात को अंजाम देकर हत्यारे वहाँ से फ़रार हो गए थे। गंभीर हालत में तिवारी को ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया, जहाँ इलाज के दौरान उनकी मृत्यु हो गई थी।

इस मामले में गुजरात एटीएस ने सूरत के मौलाना मोहसिन शेख, फैजान पठान और राशिद पठान को हिरासत में लिया है। इसके साथ ही महाराष्ट्र एटीएस ने सैयद आसिम अली नाम के शख़्स को हिरासत में लिया है। राशिद पठान के पाकिस्तान से भी कनेक्शन होने की बात सामने आई है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

बीएचयू, वीर सावरकर
वीर सावरकर की फोटो को दीवार से उखाड़ कर पहली बेंच पर पटक दिया गया था। फोटो पर स्याही लगी हुई थी। इसके बाद छात्र आक्रोशित हो उठे और धरने पर बैठ गए। छात्रों के आक्रोश को देख कर एचओडी वहाँ पर पहुँचे। उन्होंने तीन सदस्यीय कमिटी गठित कर जाँच का आश्वासन दिया।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

114,578फैंसलाइक करें
23,209फॉलोवर्सफॉलो करें
121,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: