Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाजईसाई बनाने के लिए घर खाली करने का प्रेशर, फिर धक्का-मुक्की और मौत: पुलिस...

ईसाई बनाने के लिए घर खाली करने का प्रेशर, फिर धक्का-मुक्की और मौत: पुलिस जिसे बता रही हार्ट अटैक, परिवार वाले YMCA पर लगा रहे गंभीर आरोप

"लम्बे समय से ईसाई संगठन की तरफ से धर्म परिवर्तन का दबाव था, जिसे न मानने पर मोहनलाल के साथ ऐसी घटना को अंजाम दिया गया।" - यह आरोप पीड़ित परिवार ने लगाया है। पुलिस हालाँकि मौत की वजह हार्ट अटैक बता रही।

मध्य प्रदेश के जबलपुर में मोहनलाल नाम के एक व्यक्ति की संदिग्ध मौत पर विवाद खड़ा हो गया है। परिजनों का आरोप है कि ईसाई न बनने पर मोहनलाल की हत्या कर दी गई है। पुलिस हालाँकि इसे हार्ट अटैक से हुई मौत बता रही।

इस घटना के विरोध में हिन्दू संगठनों ने विरोध दर्ज करवाते हुए पुलिस से आरोपित ईसाई संगठन से जुड़े लोगों पर कड़ी कार्रवाई की माँग की है। घटना शनिवार (23 सितंबर 2023) की है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मामला जबलपुर के सदर इलाके का है। यहाँ मोहनलाल पासी का ईसाई संगठन यंग मेंस क्रिश्चियन एसोशिएशन (YMCA) से एक जमीन को लेकर विवाद था।

पीड़ित परिवार का आरोप है कि शनिवार को ईसाई संगठन के लोग उनके घर पहुँचे। उनके साथ स्थानीय पुलिस भी थे। YMCA के सदस्यों ने पीड़ित परिवार पर तुरंत मकान खाली करने का दबाव बनाया। आरोपित अदालत के किसी आदेश का हवाला दे रहे थे। हालाँकि मोहनलाल ने मकान खाली करने से मना कर दिया। इसी बात पर दोनों पक्षों में तनातनी हो गई।

पीड़ित घर वालों का आरोप है कि ईसाई संगठन से जुड़े लोगों ने विवाद के दौरान मोहनलाल को धक्का दे दिया। इस धक्के से मोहनलाल को चोट लगी और थोड़े समय के बाद उनकी मौत हो गई। मोहनलाल की मौत के बाद पीड़ित परिजनों ने कैंट थाने पर हंगामा खड़ा कर दिया। मामले की भनक लगते ही हिन्दू संगठन से जुड़े लोग भी थाने पहुँचे। हिन्दू सेना ने इस घटना के पीछे ईसाई धर्मान्तरण की साजिश का आरोप लगाया।

पीड़ित परिजनों ने भी बताया कि उन पर लम्बे समय से ईसाई संगठन की तरफ से धर्म परिवर्तन का दबाव था, जिसे न मानने पर मोहनलाल के साथ ऐसी घटना को अंजाम दिया गया। हालाँकि पुलिस प्रथम दृष्टया मोहनलाल की मौत की वजह हार्ट अटैक को बता रही है।

ईसाई संगठन (YMCA) पर मृतक के परिवार की महिलाओं से छेड़खानी का भी आरोप है। पुलिस के सीनियर अधिकारियों ने इस मामले का संज्ञान लिया है। उन्होंने मीडिया से बताया कि पूरे प्रकरण की गहनता से जाँच करवाई जा रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -