Monday, July 4, 2022
Homeदेश-समाज'इस्लाम में लौटो, वरना दोजख की आग में जलोगे': चैतन्य को फिर से जफर...

‘इस्लाम में लौटो, वरना दोजख की आग में जलोगे’: चैतन्य को फिर से जफर शेख बनने के लिए कैसे धमका रही हूर बानो, सब कुछ ऑपइंडिया को बताया

"आपके पीछे के लोग मौकापरस्त हैं। हालाँकि, एकाध इंसान के जाने से हमारा मज़हब कमजोर नहीं होता है। न ही हमारा इस्लाम झुक जाएगा। लेकिन मैं नहीं चाहती कि आप जहन्नमी बनिए। अगर आपने मेरी बात मान ली तो मैं...."

मध्य प्रदेश के मंदसौर में 27 मई, 2022 को जफर शेख नाम के व्यक्ति ने घर वापसी करते हुए हिन्दू धर्म को स्वीकार किया था। और उनको नया नाम मिला चैतन्य सिंह उर्फ़ चेतन सिंह। अभी महीना भर भी नहीं बीता कि चैतन्य पर फिर से इस्लाम कबूलने का दबाव बनाया जा रहा है। चैतन्य के मुताबिक यह दबाव कोई और नहीं बल्कि उन्हीं की एक पूर्व परिचित हूर बानो सैफी नाम की लड़की बना रही है। वहीं हूर बानो ने भी ऑपइंडिया से बातचीत में चैतन्य को कॉल करने और उन्हें फिर से इस्लाम कबूलने के लिए कहने की बात कबूली है।

बता दें कि हूर बानो पहले एक केबल न्यूज़ चैनल में पत्रकार थी। वहीं चैतन्य सिंह ने इस पूरे मामले में न झुकते हुए इसकी शिकायत पुलिस में करने का फैसला किया है। हालाँकि, चैतन्य सिंह के ही मुताबिक उनकी हिन्दू धर्म में घर वापसी के बाद शहर में कई मुस्लिम उनको नफरत की नजर से देखते हैं।

क्या है पूरा मामला

ऑपइंडिया से बात करते हुए चैतन्य सिंह (पूर्व जफर शेख) ने बताया, “मेरे घर वापसी के 3 दिन बाद से ही हूर बानो मुझे लगातार फोन करके फिर से मुस्लिम बनने का दबाव डाल रही है। वो लगातार मज़हबी किताबों में लिखी बातों को मुझे बता कर डराती है। कभी वो दोखज की आग में जलने का हवाला देती है तो कभी खुदा के कहर का। लेकिन कभी-कभी वो इमोशनल हो कर रोने भी लगती है।”

शहर क़ाज़ी से कब मिलवाऊँ?

चैतन्य सिंह ने ऑपइंडिया को एक रिकार्डिंग भी भेजी है जिसे उन्होंने अपनी और हूर बानो के बीच हुई बातचीत बताया है। इस रिकॉर्डिंग में लड़की ने कहा, “मैंने शहर काज़ी और युवाओं से बात कर ली है। बोलो कब मिलवाऊँ उनसे तुम्हे? अल्लाह की कसम तुम बहुत आसानी से वापस आ सकते हो। कोई तुम पर ऊँगली नहीं उठाएगा। तुम्हें मैं बताऊँगी कि क्या बोलना है। तुम्हें लोग (हिन्दू) शक की नजर से देख रहे हैं। आप वापस लौट कर जन्नती बन जाओ। आप अल्लाह को बहुत प्यारे हो। अल्लाह ने तुम्हारी वापसी की जिम्मेदारी मुझे दी है।”

एक दिन हम लोगों को मारा और काटा जाएगा

ऑडियो में आगे लड़की कहती है, “आपके पीछे के लोग मौकापरस्त हैं। एकाध इंसान के जाने से हमारा मज़हब कमजोर नहीं होता है। न ही हमारा इस्लाम झुक जाएगा। लेकिन मैं नहीं चाहती कि आप जहन्नमी बनिए। अगर आपने मेरी बात मान ली तो मैं जिंदगी भर आपका साथ निभाऊँगी। एक बार मोमिन बनो तो सही हर मुस्लिम आपके लिए मरने को तैयार है। शहर क़ाज़ी ने आपके इस्तकबाल का ऐलान किया है। ज्यादा देर हो जाएगी तो लौटना मुश्किल होगा। सबसे अच्छा और सच्चा मज़हब इस्लाम है। एक बार मुझसे मिलो तो तुम समझ क्यों नहीं रहे हो कि एक दिन हम सबको चुन-चुन कर मारा और काटा जाएगा। मैं छोटी भले हूँ पर अल्लाह ने मुझे अक्ल दी है।”

एक केबल चैनल में साथ कर चुकी है काम

चैतन्य सिंह के मुताबिक, “हूर बानो साल भर पहले मेरे साथ एक लोकल केबल चैनल SRM टुडे में काम करती थी। तब मैं वहाँ स्क्रिप्ट लिखता था। यह चैनल विश्व हिन्दू परिषद के एक नेता युवराज सिंह का था जिनकी बाद में हत्या हो गई थी। अब ये चैनल बंद हो चुका है। हमारी तब से बातचीत होती रही।”

CAA प्रदर्शन में रह चुकी है शामिल

चैतन्य ने आगे हूर बानो के बारे में बताते हुए कहा, “मुझे दबाव दे रही हूर बानो लगभग 30-35 साल की अविवाहिता है। उसका ब्रेनवाश हो चुका है। वो CAA प्रदर्शनों के दौरान मंदसौर में काफी एक्टिव थी और यहाँ हुए प्रदर्शनों में उसकी बड़ी भूमिका रही है। इस दौरान उसने बेहद उग्र भाषण दिए थे। उसके पीछे कुछ अन्य कट्टरपंथी लोग भी हैं। मुझसे बातचीत के दौरान हूर बानो ने मुस्लिम महासभा के मज़हर और एक अन्य साबिर का नाम लिया है।”

नफरत भरी निगाह से देख रहे हैं मुस्लिम

चैतन्य के मुताबिक, “हिन्दू बनने के बाद मैं बाजार आदि जाता हूँ तो मुझे अन्य मुस्लिम नफरत भरी निगाह से देखते हैं। कुछ तो मेरे खिलाफ बातें भी करते हैं। फ़िलहाल मैंने पूरे मामले को लेकर पुलिस से शिकायत करने का फैसला किया है। मैं SP को अपनी सुरक्षा का प्रार्थना पत्र देने जा रहा हूँ।”

वापस जाने का तो सवाल ही नहीं पैदा होता

चैतन्य सिंह ने आगे किसी भी दबाव से इनकार करते हुए कहा, “दबाव या किसी भी हालत में अब वापस जाने का सवाल ही नहीं पैदा होता। मेरे घर वाले पढ़े लिखे लोग हैं। उन्हें मेरे हिन्दू होने से कोई दिक्क्त नहीं है। पत्नी पहले से ही हिन्दू थी। बचपन से ही मैं जिस धर्म में आस्था रख कर मंदिर बना कर पूजा करता था अब हमेशा उसी में रहना है।”

सोशल मीडिया पर हूर बानो की सेना विरोधी पोस्ट

ऑपइंडिया ने जब सोशल मीडिया पर हूर बानो की प्रोफ़ाइल को खंगाली तब 27 मार्च 2022 को उन्होंने सेना विरोधी एक पोस्ट की है। इस पोस्ट में उन्होंने रियल कश्मीर फाइल्स टैग देते हुए एक व्यक्ति के बयानों के आधार पर भारतीय सेना पर एक व्यक्ति के साथ अमानवीय अत्याचार का आरोप लगाया है। ऐसे और भी कई पोस्ट हैं जिससे देश और सेना के प्रति उसके रवैए के बारे में साफ पता लगता है।

ऑपइंडिया ने की हूर बानो से भी बात

सामने आए रिकॉर्डिंग और चैतन्य के दावों को लेकर ऑपइंडिया ने हूर बानो से भी संपर्क किया। उन्होंने बताया, “हाँ, मैंने उन्हें इस्लाम में फिर से आने की दावत दी और मुझे इसका कोई गम नहीं है। इस्लाम में लिखा है कि मजहब छोड़ने वाले जहन्नुम की आग में जलाए जाते हैं। मैंने उनकी भलाई सोची थी। उन्होंने भी मुझसे पूछा था कि यदि वे वापस लौटेंगे तो क्या मुस्लिम लोग उन्हें कबूल करेंगे। लेकिन यदि अब वे पुलिस में इसकी शिकायत करते हैं तो मेरा उनसे कोई वास्ता नहीं होगा।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

राहुल पाण्डेय
राहुल पाण्डेयhttp://www.opindia.com
धर्म और राष्ट्र को जीवन की प्राथमिकता मानते हुए पत्रकारिता के पथ पर अग्रसर एक प्रशिक्षु। सैनिक व किसान परिवार से संबंधित।

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

AG के पास पहुँचा TMC वाला साकेत गोखले, हमारे खिलाफ चलाना चाहता है अदालत की अवमानना का मामला: हम अपने शब्दों पर अब भी...

ऑपइंडिया की एडिटर नुपूर शर्मा के लेख की शिकायत लेकर टीएमसी नेता साकेत गोखले अटॉर्नी जनरल के पास गए हैं ताकि अदालत की अवमानना का केस चलवा सकें।

‘शौच करने गई थी, मोहम्मद जाकिर हुसैन सर पीछे-पीछे आ गए’: मिडिल स्कूल में शिक्षक ने नाबालिग छात्रा से की छेड़खानी, हुआ गिरफ्तार

बिहार के सुपौल में शिक्षक जाकिर हुसैन ने 7वीं कक्षा की लड़की के साथ छेड़छाड़ किया। परिजनों ने थाने में दर्ज कराया मामला। आरोपित गिरफ्तार।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
203,064FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe