Monday, November 29, 2021
Homeदेश-समाजदिल्ली में 11 और 13 साल की दो बहनों को बहलाकर ले भागे नदीम...

दिल्ली में 11 और 13 साल की दो बहनों को बहलाकर ले भागे नदीम और सोनू खान, तकिया बेचने के दौरान लिया था लड़कियों का नंबर

एक आरोपित नदीम का कहना है कि एक दिन तकिया बेचने के लिए पीड़ित परिवार के घर की ओर गया था, वहीं उन लड़कियों का नंबर उसने लिया था। उसने कहा कि दोनों बहनों के गायब होने में उसका कोई हाथ नहीं है।

देश की राजधानी दिल्ली से लव जिहाद का मामला सामने आया है। पूर्वी दिल्ली के छतरपुर इलाके में लव जिहाद की शिकार 2 नाबालिग बच्चियों के पड़ोस में रहने वाले दो मुस्लिम युवकों ने पहले उन्हें झूठे प्रेम जाल में फँसाया और फिर उन्हें भगा ले गए। दोनों आरोपी उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के रहने वाले हैं। इस मामले में पिता की तहरीर पर पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, पीड़ित हिंदू परिवार बिहार का रहने वाला है, जो कि दिल्ली के छतरपुर इलाके के राजपुर गाँव में रहता है। वहीं पास में ही एक प्लॉट में गद्दा और रजाई बनाने का काम होता है, जहाँ करीब 15-20 मुस्लिम युवक काम करते हैं। इन्हीं में से नदीम और सोनू खान ने दोनों नाबालिगों से जान पहचान बढ़ाई। धीरे-धीरे दोनों में दोस्ती हो गई और नंबरों का आदान-प्रदान हुआ। वो फोन पर बातें करने लगे। इसके बाद एक दिन दोनों आरोपित लड़कियों को लेकर फरार हो गए।

पीड़िता के पिता का यह भी आरोप है कि एक आरोपित का बहनोई भी इस साजिश में शामिल है। वहीं, एक आरोपित नदीम का कहना है कि एक दिन तकिया बेचने के लिए पीड़ित परिवार के घर की ओर गया था, वहीं लड़कियों का नंबर उसने लिया था, लेकिन उनके गायब होने में उसका हाथ नहीं है। बता दें कि दोनों नाबालिग लड़कियों में से एक 11 साल और दूसरी 13 साल की है।

मैदानगढ़ी पुलिस को दी शिकायत में पीड़िता के पिता ने बताया है कि उनकी दोनों बेटियाँ छतरपुर के ही राजकीय कन्या विद्यालय में कक्षा सातवीं की छात्रा हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना के कारण ऑनलाइन क्लास चल रही थी तो एक स्मार्टफोन उनकी बेटियों को दे दिया था। जिस दिन लड़कियाँ गायब हुई थीं, उस दिन उस मोबाइल पर कई अनजान नंबरों से कॉल आए थे, लेकिन उन पर फोन किया तो उन लोगों ने लड़कियों के बारे में जानने से इनकार कर दिया। नाबालिगों के पिता के मुताबिक, उनकी लड़कियाँ 2 नवंबर 2021 की सुबह घूमने के लिए घर से निकलीं, लेकिन वापस नहीं लौटीं।

इसके बाद पीड़िता के पिता ने मैदानगढ़ी थाने में आरोपितों के खिलाफ शिकायत की। शिकायत के बाद कॉल डिटेल्स के आधार पर पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में लिया है। इसके अलावा आरोपितों की तलाश में पुलिस की टीम मेरठ और अलीगढ़ भी गई थी, लेकिन वहाँ आरोपितों का पता नहीं चला।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ का हो गया निधन, कोरोना से रिकवर होने के बाद से ही गिर रहा था स्वास्थ्य’: जानिए क्या है सच्चाई

सोशल मीडिया पर कुछ पोस्ट्स में दावा किया जा रहा है कि पत्रकार विनोद दुआ की मौत हो गई है। लेकिन, असल में सच्चाई कुछ और ही।

यीशु के नाम पर शैतानों को भगाने का खेल: नडियाद के ईसाई समूह ने गोधरा में कराया धर्मांतरण, वायरल वीडियो से खुली पोल

जब ईसाइयों का वही समूह नडियाद से दोबारा आया तो पड़ोसियों को घर में हो रही संदिग्ध गतिविधियों पर शक हुआ और उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,465FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe