Saturday, October 16, 2021
Homeदेश-समाजगणतंत्र दिवस पर उपद्रव मचाने वाले 2 और आरोपितों को जम्मू से पकड़ लाई...

गणतंत्र दिवस पर उपद्रव मचाने वाले 2 और आरोपितों को जम्मू से पकड़ लाई दिल्ली पुलिस, मुख्य साजिशकर्ताओं में शामिल

कथित तौर पर दोनों आरोपितों को पुलिस ने जम्मू से गिरफ्तार किया था। गणतंत्र दिवस में हुए हिंसा के मामले में सोमवार को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने जसप्रीत सिंह नाम के एक और आरोपित को गिरफ्तार किया था।

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 26 जनवरी के दिन ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा के मामले में पुलिस का ताबड़तोड़ एक्शन जारी है। इसी कड़ी में दिल्ली पुलिस ने गणतंत्र दिवस पर लाल किले में उपद्रव मचाने वाले दो और आरोपितों को गिरफ्तार किया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, गिरफ्तार आरोपितों में एक 45 वर्षीय मोहिंदर सिंह कथित तौर पर जम्मू कश्मीर यूनाइटेड किसान फ्रंट का चेयरमैन है। वहीं दूसरा आरोपित मनदीप सिंह, गोल गुजराल का रहने वाला है। पुलिस का कहना है कि दोनों आरोपितों ने 26 जनवरी में हुई हिंसा में सक्रिय भूमिका निभाई थी और मुख्य साजिशकर्ताओं में से एक थे।

कथित तौर पर दोनों आरोपितों को पुलिस ने जम्मू से गिरफ्तार किया था। गणतंत्र दिवस में हुए हिंसा के मामले में सोमवार को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने जसप्रीत सिंह नाम के एक और आरोपित को गिरफ्तार किया था। बता दें 29 वर्षीय जसप्रीत सिंह उर्फ ​​सनी दिल्ली के स्वरूप नगर का रहने वाला है। 26 जनवरी के हिंसक विरोध प्रदर्शन के दौरान उसने लाल किले में जमकर उपद्रव मचाया था। उस पर प्राचीर के दोनों तरफ लगे गुंबद में से एक पर चढ़ने का भी आरोप है।

17 फरवरी को दिल्ली पुलिस ने लाल किले पर हिंसा के मुख्य आरोपितों में से एक मनिंदर सिंह को दिल्ली के पीतमपुरा इलाके से गिरफ्तार किया था। वह भी मूलरूप से स्वरूप नगर का रहने वाला है।

दिल्ली पुलिस के मुताबिक, लाल किले पर हुई हिंसा की कई तस्वीरें सामने आई थी, जिसमें मनिंदर सिंह दो तलवारों को लहरा रहा था और पुलिसकर्मियों पर बर्बर हमला करने के लिए लोगों को प्रेरित कर रहा था। गिरफ्तार मनिंदर सिंह ने कई भड़काने वाले फेसबुक पोस्ट भी किए थे।

गौरतलब है कि गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली के दौरान आईटीओ और लाल किले में भड़की हिंसा के संबंध में दिल्ली पुलिस ने अब तक 100 से भी अधिक लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने हाल ही हिंसा में शामिल 220 लोगों की तस्वीरें जारी की थीं। इसके अलावा पुलिस ने आम जनता से भी हिंसा की तस्वीरें और वीडियो साझा करने की अपील की थी। पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए लोगों में अभिनेता और खालिस्तानी हमदर्द दीप सिद्धू और इकबाल सिंह भी शामिल हैं, जिन्होंने कथित तौर पर हिंसा के साथ- साथ पुलिस से भी बर्बरता की थी।

उल्लेखनीय है कि गणतंत्र दिवस के दिन दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान किसानों और पुलिसकर्मियों के बीच झड़प हुई थी। इस बीच, कुछ प्रदर्शनकारी ट्रैक्टर लेकर जबरन लालकिले में घुस गए और ऐतिहासिक इमारत की प्राचीर पर धार्मिक झंडा लगा दिया। हिंसा में करीब 500 पुलिसकर्मी घायल हुए थे। वहीं पुलिस ने उपद्रवियों के खिलाफ 38 एफआईआर दर्ज किए थे।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून, पुलिस से करेंगे किसानों की रक्षा’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर गर्व

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,004FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe