Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजअलीगढ़ में 9 कोचिंग संचालकों पर FIR, उपद्रवियों ने फूँक दी थी चौकी: 55...

अलीगढ़ में 9 कोचिंग संचालकों पर FIR, उपद्रवियों ने फूँक दी थी चौकी: 55 नामजद और 500 अज्ञात, अब तक 36 दबोचे गए

"अब तक इस मामले में 4 FIR दर्ज हुई है। छात्रों को भड़का रहे कोचिंग सेंटर वालों को भी हिरासत में ले कर पूछताछ चल रही है। अब तक 36 से ज्यादा आरोपितों की गिरफ्तारी की जा चुकी है। यह संख्या अभी बढ़ेगी क्योंकि पुलिस टीमें दबिश दे रही हैं।"

अग्निपथ योजना के खिलाफ हिंसा में बिहार के बाद उत्तर प्रदेश प्रभावित रहा। इसमें अलीगढ़ जिला UP के सबसे अधिक हिंसाग्रस्त जिलों में शामिल है। यहाँ पर बीते 17 जून को न सिर्फ यमुना एक्सप्रेस पर तोड़फोड़ करत्ते हुए सड़क को जाम करने का प्रयास किया गया था बल्कि जट्टारी नाम की पुलिस चौकी में भी आग लगा दी गई थी। अब अलीगढ़ पुलिस ने हिंसा के आरोपितों और सूत्रधारों पर नकेल कसनी शुरू कर दी है। खास बात ये है कि यहाँ भी हिंसा को हवा देने वालों में कोचिंग संचालकों की भूमिका सामने आई है।

अलीगढ़ रेंज के DIG दीपक कुमार के मुताबिक, “घटना के दिन पुलिस बल जुमे की नमाज़ को ले कर सक्रिय था। छात्रों के आंदोलन के भी इनपुट थे। उनसे बात चल रही थी। भीड़ में छिपे कुछ अराजक तत्वों ने माहौल को खराब करने का प्रयास किया। सोशल मीडिया पर मामले को हवा देने वालों पर एक्शन लिया जा रहा है। सैनिक कल्याण बोर्ड कोचिंग इंस्टिट्यूट वालों से लगातार सम्पर्क में है। अब तक इस मामले में 4 FIR दर्ज हुई है। छात्रों को भड़का रहे कोचिंग सेंटर वालों को भी हिरासत में ले कर पूछताछ चल रही है। अब तक 36 से ज्यादा आरोपितों की गिरफ्तारी की जा चुकी है। यह संख्या अभी बढ़ेगी क्योंकि पुलिस टीमें दबिश दे रही हैं। FIR पुलिस, रोडवेज और नगर पालिका द्वारा करवाया गया है।”

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अलीगढ़ पुलिस ने जिस कोचिंग सेंटरों पर केस दर्ज किया है उसमें तिरुपति कोचिंग सेंटर संचालक रामकुमार, गुरुकुल कोचिंग सेंटर संचालक जट्टारी अमित चौधरी, कोचिंग सेंटर संचालक मोहन चौधरी, यंग इंडिया कोचिंग सेंटर संचालक सुधीर शर्मा, केडी इंस्टीट्यूट संचालक गौरव चौधरी, समन्वय कोचिंग सेंटर संचालक विजय उर्फ मॉटी, जीएस कोचिंग सेंटर संचालक पुष्पेंद्र सिंह, गुलिया लाइब्रेरी संचालक केशव चौधरी शामिल हैं। हिंसा में किसी भी प्रकार की भूमिका निभाने वाले 55 आरोपितों को नामजद करते हुए 500 को अज्ञात में रखा गया है। इसमें 9 कोचिंग संचालक शामिल हैं।

पुलिस द्वारा गिरफ्तार एक अन्य कोचिंग संचालक नवीन कुमार ने तो छात्रों से हथियार उठा लेने की अपील वाला भड़काऊ पोस्ट डाला था। इनके अतिरिक्त भर्मेंद्र, पुष्पेंद्र पर भी इंटरनेट से उकसाने वाले संदेश भेजे गए थे। इन पर भी पुलिस कार्रवाई की जा रही है। वहीं आज शनिवार (18 जून) को एक बार फिर से अलीगढ़ में उपद्रव की साजिश को पुलिस ने नाकाम कर दिया। खैर कस्बे में छात्रों के नाम पर जमा कुछ लोगों ने माहौल बिगाड़ने की कोशिश की। हालाँकि पुलिस ने समय रहते उन्हें काबू कर लिया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

पुरी के जगन्नाथ मंदिर का 46 साल बाद खुला रत्न भंडार: 7 अलमारी-संदूकों में भरे मिले सोने-चाँदी, जानिए कहाँ से आए इतने रत्न एवं...

ओडिशा के पुरी स्थित महाप्रभु जगन्नाथ मंदिर के भीतरी रत्न भंडार में रखा खजाना गुरुवार (18 जुलाई) को महाराजा गजपति की निगरानी में निकाल गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -