Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजचॉकलेट देने के बहाने बुलाया, कमरे में ले जाकर रेप किया: 6 साल की...

चॉकलेट देने के बहाने बुलाया, कमरे में ले जाकर रेप किया: 6 साल की बच्ची से दुष्कर्म करने वाला सिक्योरिटी गार्ड अजीमुद्दीन गिरफ्तार, पुलिस के सामने गुनाह कबूला

डोरंडा थाना में एक 6 साल की लड़की के रेप का मामला सामने आया है। आरोपित अपार्टमेंट में गार्ड का काम करने वाला मोहम्मद अजीमुद्दीन नाम का शख्स है। पुलिस ने उसको गिरफ्तार कर लिया है। वो डोरंडा के पारसटोली का निवासी है।

झारखंड के राँची के डोरंडा थाना में एक 6 साल की लड़की के रेप का मामला सामने आया है। आरोपित अपार्टमेंट में गार्ड का काम करने वाला मोहम्मद अजीमुद्दीन नाम का शख्स है। पुलिस ने उसको गिरफ्तार कर लिया है। वो डोरंडा के पारसटोली का निवासी है।

बताया जा रहा है कि लड़की उसी अपार्टमेंट के कैंपस में खेलने आती थी जहाँ उसकी (आरोपित की) ड्यूटी थी। इसी बात का फायदा उठाते हुए अजीमुद्दीन ने उसे चॉकलेट का बहाना देकर फुसलाया और फिर कमरे में ले जाकर उसका रेप किया।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, जब आरोपित ने बच्ची के साथ अश्लील हरकतें करनी शुरू कीं, तभी बच्ची इतना डर गई कि वह किसी तरह उसके चंगुल से भागी और घर आकर परिजनों को सारी बातें बताईं।

घटना की जानकारी होते ही घरवाले आग बबूला हो गए। पहले उन्होंने जाकर उसे पीटा और उसके बाद पुलिस को सूचना दी। शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। बच्ची से बदसलूकी करने की बात को आरोपित पुलिस के सामने भी स्वीकार कर चुका है। कुछ रिपोर्ट्स में आरोपित का नाम सिराजुद्दीन भी बताया जा रहा है। उसके ऊपर पॉक्सो सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज हुआ है।

घटना के संबंध में झारखंड के प्रथम मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने ट्वीट किया है। उन्होंने इस घटना के पीछे हेमंत सोरेन सरकार की तुष्टिकरण को जिम्मेदार बताया है। अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा,

“राँची शहर के डोरंडा में जिहादी ने फिर से एक मासूम बच्ची को अपना शिकार बनाया है। जानकारी के अनुसार मुहम्मद अजीमुद्दीन नामक एक सिक्योरिटी गार्ड ने महज़ छह साल की बच्ची का यौन शोषण किया। बच्ची को गोली मार कर नदी में फेंक देने की धमकी देकर कई बार वहशीपन का शिकार बनाया गया।”

उन्होंने लिखा, “हेमंत सोरेन की तुष्टिकरण के चलते ऐसे अपराधियों का मनोबल सातवें आसमान पर है। इनके मन में क़ानून प्रशासन का भय ख़त्म हो चुका है।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -