Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाज'मुस्लिम धर्म छोड़ना चाहती हूँ, योगी सर हेल्प मी': रामपुर की महिला का Video...

‘मुस्लिम धर्म छोड़ना चाहती हूँ, योगी सर हेल्प मी’: रामपुर की महिला का Video वायरल, कहा- बुर्के के अंदर मेरे साथ गलत काम करवाना चाहते हैं

"योगी आदित्यनाथ जी मुझे ऐसा बुर्का नहीं चाहिए जो बुर्का नंगा करता हो। मैं मुस्लिम से नफरत करती हूँ। मैं मुस्लिम से नफरत करती हूँ। योगी आदित्यनाथ सर... प्लीज सर हेल्प मी, मैं मुस्लिम धर्म छोड़ना चाहती हूँ। मुझे मुस्लिम धर्म से नफरत है। मुझे नफरत हो गई है। बुर्के के अंदर मेरे साथ गलत काम करवाना चाहते हैं।"

सोशल मीडिया में एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में एक महिला इस्लाम छोड़ने की बात कह रही है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मदद की गुहार लगा रही है। कह रही है कि बुर्के के अंदर उसके साथ गलत काम करवाने की कोशिश हो रही है। यह वीडियो यूपी के रामपुर कोर्ट के बाहर का बताया जा रहा है। वीडियो में कुछ पुलिसकर्मी इस महिला को गाड़ी में बिठाते भी दिख रहे हैं।

वीडियो में लड़की को कहते सुना जा सकता है, “योगी आदित्यनाथ जी मुझे ऐसा बुर्का नहीं चाहिए जो बुर्का नंगा करता हो। मैं मुस्लिम से नफरत करती हूँ। मैं मुस्लिम से नफरत करती हूँ। योगी आदित्यनाथ सर… प्लीज सर हेल्प मी, मैं मुस्लिम धर्म छोड़ना चाहती हूँ। मुझे मुस्लिम धर्म से नफरत है। मुझे नफरत हो गई है। बुर्के के अंदर मेरे साथ गलत काम करवाना चाहते हैं।” इस दौरान महिला अपने रिश्तेदारों पर नंगा करने और प्रताड़ित करने का भी आरोप लगाती सुनी जा सकती है। साथ ही अपनी हत्या की भी आशंका जता रही है।

रामपुर पुलिस ने एक ट्वीट में बताया है कि यह वीडियो 21 जुलाई 2023 की है। घटना रामपुर कोर्ट परिसर की है। पुलिस के अनुसार महिला का वकील पत्नी से झगड़ा हो गया था। इसके कारण आवेश में आकर महिला ने अपना कपड़ा उतार दिया। सूचना मिलने पर पुलिस ने मौके पर पहुँचकर महिला को कपड़ा पहनाया। उसकी तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार दो साल पुराने एक मामले की सुनवाई को लेकर महिला 21 जुलाई को कोर्ट आई थी। इसके बाद शाम उसने एसपी कार्यालय के बाहर हंगामा करना शुरू कर दिया। महिला का आरोप है कि उस पर मुकदमा वापस लेने का रिश्तेदार दबाव बना रहे हैं।

इस मामले में रामपुर के सिविल लाइंस कोतवाली प्रभारी शरद पंवार का कहना है कि एसपी कार्यालय के बाहर हंगामा करने वाली महिला डिप्रेशन में लग रही थी। एक मामले की सुनवाई के लिए वह कोर्ट आई थी। जहाँ वकील की पत्नी के साथ उसकी बहस हो गई। हंगामा करने के बाद उसे थाने लाया गया। लेकिन उसके खिलाफ किसी ने शिकायत नहीं की थी, इसलिए छोड़ दिया गया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

वामपंथी सरकार ने चलवाई गोली, मारे गए 13 कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता: जानें क्यों ममता बनर्जी मना रहीं ‘शहीद दिवस’, TMC ने हाईजैक किया कॉन्ग्रेस का...

कभी शहीद दिवस कार्यक्रम कॉन्ग्रेस मनाती थी, लेकिन ममता बनर्जी ने कॉन्ग्रेस पार्टी से अलग होने के बाद युवा कॉन्ग्रेस के 13 कार्यकर्ताओं की हत्या को अपने नाम के साथ जोड़ लिया और उसका इस्तेमाल कम्युनिष्टों की जड़ काटने में किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -