Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाज'मुस्कुराइए… अब आप भारत के नागरिक हैं': इस्लामी मुल्कों से भागकर आए 108 हिंदुओं...

‘मुस्कुराइए… अब आप भारत के नागरिक हैं’: इस्लामी मुल्कों से भागकर आए 108 हिंदुओं को अहमदाबाद में मिली नागरिकता, बोले- यही हमारे लिए स्वर्ग

आँकड़ों की चर्चा करते हुए कार्यक्रम में मौजूद भाजपा नेता पायल कुकराणी ने बताया कि पिछले 5 वर्षों के अंदर अकेले गुजरात में 1149 लोगों को भारत की नागरिकता मिल चुकी है। डॉक्टर गणेश कुमार नाम के एक पाकिस्तान शरणार्थी ने बताया कि वहाँ रहने वाले हिन्दुओं को नाबालिग बच्चियों के अपहरण, फिरौती और धार्मिक भेदभाव झेलने पड़ते हैं।

गुजरात के अहमदाबाद में विभिन्न इस्लामी मुल्कों से प्रताड़ित होकर आए 108 हिन्दू शरणार्थियों को भारत की नागरिकता दी गई है। इस मौके पर गुजरात के गृह राज्यमंत्री हर्ष संघवी ने इन सभी हिन्दुओं को प्रमाण पत्र वितरित किए। बुधवार (12 सितंबर 2023) को आयोजित इस समारोह में नागरिकता पाए हिन्दुओं ने ख़ुशी जाहिर की। संघवी ने भी सभी का भारत में स्वागत करते हुए उनसे देश के विकास में भागीदारी सुनिश्चित करने का आग्रह किया।

यह आयोजन अहमदाबाद के होटल सिल्वर क्लाउड में आयोजित किया गया। नागरिकता पाने वाले लोगों में पाकिस्तान के साथ अफगानिस्तान और बांग्लादेश से आए हिन्दू भी शामिल हैं। इस कार्यक्रम की तस्वीरें अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर शेयर करते हुए हर्ष संघवी ने लिखा कि भारत की नागरिकता चुनने वाले सभी परिवारों ने देश के प्रति समर्पण दिखाया।

हर्ष संघवी ने यह भी कहा कि नागरिकता मिलने के बाद सभी परिवार बेहद खुश हैं, क्योंकि अब वे भारत के स्थाई नागरिक बन चुके हैं। जिन नागरिकों को प्रमाण पत्र दिए गए हैं, उनमें महिलाएँ और बच्चे भी शामिल हैं। इनमें बुजुर्गों एवं बच्चों सहित सभी उम्र वर्ग के लोग शामिल हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हर्ष संघवी ने कहा कि नागरिकता पाने वाले हिन्दुओं के घर दीपावली जैसा माहौल है। उन्होंने सभी 108 लोगों से भारत के विकास में सक्रिय भागीदारी निभाने का भी आह्वान किया। पहले की बातें याद दिलाते हुए संघवी ने बताया कि कभी नागरिकता पाने के लिए लोगों को दिल्ली के चक्कर लगाने पड़ते थे।

नरेंद्र मोदी की सरकार की तारीफ करते हुए हर्ष संघवी ने कहा कि इन नीतियों को मोदी सरकार ने सरल कर दिया। एक स्वर में सभी को सम्बोधित करते हुए संघवी ने कहा, “मुस्‍कुराइए आप अब भारत के नागरिक हैं।” इस कार्यक्रम को गुजरात के गृह राज्यमंत्री संघवी ने शरणार्थियों के तीसरे जन्म के तौर पर बताया।

आंकड़ों की चर्चा करते हुए कार्यक्रम में मौजूद भाजपा नेता पायल कुकराणी ने बताया कि पिछले 5 वर्षों के अंदर अकेले गुजरात में 1149 लोगों को भारत की नागरिकता मिल चुकी है। डॉक्टर गणेश कुमार नाम के एक पाकिस्तान शरणार्थी ने बताया कि वहाँ रहने वाले हिन्दुओं को नाबालिग बच्चियों के अपहरण, फिरौती और धार्मिक भेदभाव झेलने पड़ते हैं।

डॉक्टर गणेश ने भारत में बसना ही अंतिम विकल्प बताया। नागरिकता पाने वाली कौशल्या ने भारत को अपने लिए स्वर्ग जैसा बताया। डॉक्टर अशोक शेखानी के अनुसार, वो पाकिस्तान में हर दिन प्रताड़ना का शिकार होते थे। 73 साल की खेमी देवी ने भी भारत को अपने लिए स्वर्ग बताया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

पुरी के जगन्नाथ मंदिर का 46 साल बाद खुला रत्न भंडार: 7 अलमारी-संदूकों में भरे मिले सोने-चाँदी, जानिए कहाँ से आए इतने रत्न एवं...

ओडिशा के पुरी स्थित महाप्रभु जगन्नाथ मंदिर के भीतरी रत्न भंडार में रखा खजाना गुरुवार (18 जुलाई) को महाराजा गजपति की निगरानी में निकाल गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -