Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजनाबालिग बहनों को ट्यूशन देने घर आता था 5वीं पास मौलाना आमिर, मोबाइल पर...

नाबालिग बहनों को ट्यूशन देने घर आता था 5वीं पास मौलाना आमिर, मोबाइल पर गंदी फिल्म दिखा करता था छेड़छाड़: पुलिस ने दबोचा

मौलाना आमिर नाबालिग बहनों को घर आकर ट्यूशन दे रहा था। इस दौरान वह अपने मोबाइल पर अश्लील वीडियो उन्हें दिखाता था। फिर उनसे वैसा ही करने को कहा करता था।

उत्तर प्रदेश के कानपुर में नाबालिग बहनों को अश्लील फिल्म दिखाकर छेड़छाड़ करने के आरोप में ट्यूशन पढ़ाने वाले मौलाना को गिरफ्तार किया गया हैं। आरोपित की पहचान मौलाना आमिर के रूप में हुई। आरोप है कि मौलाना आमिर ट्यूशन देने के नाम पर मासूम लड़कियों को अश्लील वीडियो दिखाकर उनसे छेड़छाड़ करता था।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मामला कानपुर के चमनगंज थाना क्षेत्र का है। यहाँ मौलाना आमिर 4-5 साल से दो बहनों को उनके घर जाकर ट्यूशन दे रहा था। इस दौरान वह अपने मोबाइल पर लड़कियों को अश्लील वीडियो दिखाता। इसके बाद जैसा वीडियो में दिखाई देता, वैसा ही करने के लिए कहता। साथ ही लड़कियों से छेड़छाड़ करता। किसी से बताने पर मारने की धमकी देता। डरी-सहमी लड़कियों ने कई दिन तक यह बात छिपाई रखी। अपने माता-पिता को भी इस बारे में कुछ नहीं बताया।

लेकिन जब मौलाना आमिर की हरकतें बढ़ने लगी तो पीड़ित लड़कियों में से बड़ी बहन ने परिजनों को आपबीती सुना दी। इसके बाद परिजनों ने स्थानीय चमनगंज थाने में मौलाना आमिर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। शिकायत के आधार पर पुलिस ने आरोपित के खिलाफ पॉक्सो एक्ट समेत अन्य संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज किया। साथ ही मौलाना आमिर को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस पूछताछ में सामने आया है कि आरोपित ट्यूशन टीचर मौलाना आमिर खुद 5वीं तक पढ़ा हुआ है। ऐसे में सवाल यह भी है कि वह बच्चों को कैसे पढ़ाता रहा होगा? इस मामले में थाना प्रभारी नवाब अहमद ने आरोपित की गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए कहा है कि मौलाना आमिर के खिलाफ जल्द ही चार्जशीट दाखिल की जाएगी। आरोपित को जल्द से जल्द सजा दिलाने के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट में भी अपील की जाएगी। वहीं, ज्वाइंट कमिश्नर आनंद प्रकाश तिवारी का कहना है कि आरोपित का मोबाइल जब्त कर जाँच की जा रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -