Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजकर्नाटक में रमजान के लिए बदल दिया स्कूलों का टाइम, हनुमान ध्वज के लिए...

कर्नाटक में रमजान के लिए बदल दिया स्कूलों का टाइम, हनुमान ध्वज के लिए यहीं की पुलिस ने बरसाई थी हिंदुओं पर लाठियाँ, आँध्र प्रदेश में भी यही आदेश

कर्नाटक में रमजान के लिए उर्दू स्कूलों का समय बदल दिया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस शासित राज्य में हिंदुओं को हनुमत ध्वजा तक लहराने नहीं दिया जाता। जनवरी माह के आखिर में मंड्या में ग्रामीणों ने चंदे से 108 फीट की ध्वजा लहराई थी, जिसे सरकार ने उतरवा दिया था।

रमजान को देखते हुए कर्नाटक की कॉन्ग्रेस सरकार ने स्कूलों की टाइमिंग में बदलाव का आदेश जारी किया है, ताकि माह-ए-रमजान में पढ़ाई और नमाज साथ-साथ चल रहे। स्कूलों से बच्चे गायब भी न रहें और वो अपनी ‘धार्मिक’ कार्यकलापों को भी अंजाम दे सकें। कर्नाटक के उर्दू और अन्य अल्पसंख्यक भाषा स्कूल निदेशालय ने आदेश जारी कर रमजान के दौरान स्कूलों का समय बदल दिया है। ये आदेश 6 मार्च को ही जारी किया जा चुका है।

कर्नाटक में स्कूलों के समय में बदलाव रमजान के पहले दिन से लागू हो गया। ये आदेश 10 अप्रैल, 2024 तक प्रभावी रहेगा। आधिकारिक आदेशों के अनुसार, स्कूल 8 से 12.45 तक चलेंगे और एक छात्रों को 15 मिनट का ब्रेक (सुबह 10 बजे से 10.15 बजे तक) प्रदान किया जाएगा। बताया जा रहा है कि इस तरह के आदेश पहले भी जारी होते रहे हैं। हालाँकि कर्नाटक में एक तरफ हिंदू छात्रों के साथ भेदभाव की घटनाएँ सामने आती हैं, जिसमें बच्चों को हनुमान चालीसा पाठ करने से भी रोका जाता है, तो दूसरी तरफ रमजान को देखते हुए स्कूलों के समय में ही परिवर्तन कर दिया गया है।

स्कूलों की टाइमिंग में बदलाव के आदेश (फोटो साभार : टाइम्स ऑफ इंडिया)

सोशल मीडिया एक्स पर मिस्टर सिन्हा नाम के यूजर ने लिखा, “कॉन्ग्रेस शासित कर्नाटक राज्य में रमजान के लिए स्कूलों की टाइमिंग बदल दी गई। यही सरकार हिंदुओं को हनुमान ध्वज तक लहराने से रोकती है। बता दें कि जनवरी महीने में ही कॉन्ग्रेस के राज वाले कर्नाटक में हिन्दुओं द्वारा लगाया गया 108 फीट का भगवा हनुमान ध्वज पुलिस जबरदस्ती उतार दिया गया था। ये मामला कर्नाटक के मंड्या जिले के केरागोडू गाँव की था, जहाँ ग्रामीणों ने आपस में चंदा इकट्ठा करके एक 108 फीट लंबा पोल स्थापित किया था। इस पर भगवा ध्वज लगा था और आंजनेय (हनुमान जी को यहाँ आंजनेय कहा जाता है) की छवि थी। इसे गाँव के रंगमंदिर के पास लगाया गया था। बताया जा रहा है कि इसके लिए ग्राम पंचायत की भी अनुमति ले ली गई थी। इसके बावजूद सरकार ने ये झंडा जबरदस्ती उतरवा दिया।

कर्नाटक के साथ ही आंध्र प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग ने भी उर्दू माध्यम स्कूलों के लिए समय में फेरबदल किया है। आंध्र प्रदेश में आज (12 मार्च 2024) से 10 अप्रैल तक स्कूल सुबह 8 बजे से दोपहर 1:30 बजे तक संचालित होंगे। यह निर्णय अल्पसंख्यक शिक्षक संघ के प्रतिनिधियों द्वारा सरकार से कई गई माँग के बाद लिया गया है। यह आदेश राज्य भर में उर्दू माध्यम के प्राथमिक, उच्च प्राथमिक, उच्च विद्यालयों, समानांतर वर्गों पर लागू होता है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

काँवड़िए नहीं जान पाएँगे दुकान ‘अब्दुल’ या ‘अभिषेक’ की, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक: कहा- बताना होगा सिर्फ मांसाहार/शाकाहार के बारे में,

सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के कांवड़ रूट पर दुकानदारों के नाम दर्शाने वाले आदेश पर अंतरिम रोक लगा दी है।

AAP विधायक की वकीलगिरी का हाई कोर्ट ने उतारा भूत: गलत-सलत लिख कर ले गया था याचिका, लग चुका है बीवी को कुत्ते से...

दिल्ली हाईकोर्ट के जज ने सोमनाथ भारती की याचिका पर कहा कि वो नोटिस जारी नहीं कर सकते, उन्हें ये समझ ही नहीं आ रहा है, वो मामला स्थगित करते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -