Friday, July 12, 2024
Homeदेश-समाजशादी करने की चाह में बनी नकली नर्स, केरल में खाली इंजेक्शन से दोस्त...

शादी करने की चाह में बनी नकली नर्स, केरल में खाली इंजेक्शन से दोस्त की बीवी को ही अस्पताल में करने चली थी कत्ल

जब स्नेहा और उनकी माँ ने नर्स से डिस्चार्ज होने के बाद भी इंजेक्शन देने को लेकर सवाल किया तो नर्स के वेश में आई अनुशा जबरन स्नेहा का हाथ पकड़ कर उसके हाथ में खाली सीरिंज घोप दिया।

केरल के तिरुवल्ला से एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। यहाँ के एक प्राइवेट अस्पताल में 30 साल की फॉर्मेस्टिस अनुशा ने अपनी ही दोस्त की बीवी को जान से मारने की कोशिश की। ऑनमनोरमा की रिपोर्ट के मुताबिक, शादी की चाह में इस युवती ने नकली नर्स बन बच्चे के पैदा होने के बाद अस्पताल में भर्ती दोस्त अरुण की 24 साल की बीवी स्नेहा को खाली इंजेक्शन लगाकर मौत के घाट उतारना चाहा था। हालाँकि वो अपने मकसद में कामयाब नहीं हो पाई। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर उसके खिलाफ हत्या की कोशिश का केस दर्ज किया है। पुलिस के सामने आरोपित ने अपना अपराध भी कबूला है।

एयर एम्बालिज़्म से मौत को नेचुरल दिखाने की कोशिश

ऑन मनोरमा की रिपोर्ट के मुताबिक, अरुण की पत्नी स्नेहा ने केरल के पतनमतिट्टा जिले के तिरुवल्ला के नजदीक परूमाला के प्राइवेट अस्पताल में बच्चे को जन्म दिया था। उसे इस अस्पताल में बीते हफ्ते ही एडमिट कराया गया था। बच्चे को जन्म देने के बाद गुरुवार (3 अगस्त 2023) को उसे डिस्चार्ज कर दिया गया था, लेकिन नवजात बच्चे की देखभाल के लिए स्नेहा और उनकी माँ अस्पताल में ही रुक गए थे। शाम 5 बजे अनुशा नकली नर्स बन नवजात की माँ को इंजेक्शन लगाने के लिए कमरे में आई।

रिपोर्ट के मुताबिक, जब स्नेहा और उनकी माँ नर्स से डिस्चार्ज होने के बाद भी इंजेक्शन देने को लेकर सवाल किया तो नर्स के वेश में आई अनुशा जबरन स्नेहा का हाथ पकड़ कर उसके हाथ में खाली सीरिंज घोप दिया। हालाँकि अस्पताल के कर्मचारियों ने उसे मौके पर ही रोक लिया और बाद में पुलिकेझु पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया।

खाली सीरिंज के जरिए आरोपित स्नेहा के शरीर में हवा भरने की कोशिश में थी, जो कि बेहद खतरनाक माना जाता है। आरोपित अनुशा का इरादा स्नेहा की मौत को प्राकृतिक दिखाना था ताकि एयर एम्बालिज़्म के कारण उसकी हार्ट अटैक से मौत हो जाए। स्नेहा अभी डॉक्टर्स की निगरानी में है और उसकी स्थिति संतोषजनक है।

दोस्त अरुण ने ही दिया था अस्पताल का पता

आरोपी अनुशा को अपनी पत्नी स्नेहा के अस्पताल रूम का पता अरुण ने ही दिया था, लेकिन उसका दावा है कि उसे आरोपित के इरादे का कोई अंदाजा नहीं था। उसका कहना है कि अनुशा ने बच्चे और उसकी माँ को देखने की इच्छा जाहिर की थी। इस वजह से उसने अस्पताल का पता दिया था। हालाँकि इस मामले में अरुण के शामिल होने और न होने की बात पूरी जाँच के बाद ही साफ हो पाएगी।

तिरुवल्ला के डिप्टी एसपी ने मीडिया को बताया कि स्नेहा की शिकायत पर केस दर्ज कर लिया गया है। अरुण और अनुशा के फोन पुलिस ने जब्त कर लिए हैं। हालाँकि अभी तक पुलिस को अरुण के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला है।

इस दौरान अरुण ने दावा किया है कि वह आरोपित के साथ किसी भी तरह के रिश्ते में नहीं है। पुलिस आगे की कार्रवाई के लिए अनुशा को कोर्ट में पेश करने की तैयारी कर रही है और पूछताछ के दौरान सबूत इकट्ठा कर रही है।

पुलिस के मुताबिक आरोपित अनुशा ने अपने व्हॉटसएओप चैट डिलीट कर दी है। पुलिस इस चैट को रिकवर करने की कोशिश कर रही है। उधर ईटीवी भारत की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने कहा कि आरोपित का पीड़िता के पति के साथ अवैध संबंध है, जिसे उसने अपनी शादी की राह आसान बनाने के लिए उसे मारने की कोशिश की।

पहले सी की थी तगड़ी तैयारी

पुलिस की जानकारी के मुताबिक, आरोपी अनुशा ने इसके लिए पहले से ही अच्छी खासी तैयारी की थी। आरोपी ने मावेलिकारा के अस्पताल से फॉर्मेसी की ट्रेनिंग ली थी। उसने अपने काम को अंजाम देने के लिए अलग-अलग जगह से नर्सिंग का कोट और सीरिंज खरीदा था, ताकि किसी को उस पर शक न हो। मावेलिकारा से उसने 240 एमएल की सीरिंज तो कायमकुलम से नर्सिंग का कोट खरीदा था। वारदात को अंजाम देने वक्त उसने अपनी पहचान छुपाने के लिए मास्क और शाल भी ओढ़ा था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेपाल में गिरी चीन समर्थक प्रचंड सरकार, विश्वास मत हासिल नहीं कर पाए माओवादी: सहयोगी ओली ने हाथ खींचकर दिया तगड़ा झटका

नेपाल संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में अविश्वास प्रस्ताव पर हुए मतदान में प्रचंड मात्र 63 वोट जुटा पाए। जिसके बाद सरकार गिर गई।

उधर कॉन्ग्रेसी बक रहे गाली पर गाली, इधर राहुल गाँधी कह रहे – स्मृति ईरानी अभद्र पोस्ट मत करो: नेटीजन्स बोले – 98 चूहे...

सवाल हो रहा है कि अगर वाकई राहुल गाँधी को नैतिकता का इतना ज्ञान है तो फिर उन्होंने अपने समर्थकों के खिलाफ कभी कार्रवाई क्यों नहीं की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -