Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाजमहाराष्ट्र में 180km लंबा बनेगा 10 लेन वाला नासिक-पुणे एक्सप्रेस-वे: शिंदे सरकार का फैसला,...

महाराष्ट्र में 180km लंबा बनेगा 10 लेन वाला नासिक-पुणे एक्सप्रेस-वे: शिंदे सरकार का फैसला, फ्लाइट लैंडिंग और टेकऑफ की भी होगी सुविधा

निर्माणाधीन एक्सप्रेस-वे के अलावा, महाराष्ट्र सरकार पहले ही पुणे और नासिक के बीच एक सेमी हाईस्पीड रेलवे के निर्माण का काम अपने हाथों में लिया है। महाराष्ट्र सरकार ने वार्षिक बजट 2021-22 में लंबित पुणे-नासिक रेलवे परियोजना को मंजूरी दे दी है।

महाराष्ट्र (Maharashtra) में भाजपा समर्थित एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) सरकार के आने के बाद से ही राज्य में विकास को प्राथमिकता मिल रही है। अभी हाल ही में 701 किलोमीटर लंबे मुंबई-नागपुर एक्सप्रेस-वे का काम पूरा हुआ है। सीएम एकनाथ शिंदे और डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस की नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार अब पुणे और नागपुर को जोड़ने वाली एक और एक्सप्रेस-वे बनाने के लिए तैयार है।

यह नियोजित एक्सप्रेस-वे चिंबली के पास प्रस्तावित पुणे रिंग रोड से शुरू होकर लगभग 180 किलोमीटर लंबा होगा और राष्ट्रीय राजमार्ग 60 पर शिंदे के पास समाप्त होगा। महाराष्ट्र राज्य सड़क विकास निगम (MSRDC) के तत्वाधान में यह काम पूरा होगा।

MSRDC के एक अधिकारी ने कहा, “एक औद्योगिक शहर होने के नाते यहाँ आर्थिक गतिविधियों में वृद्धि देखते हुए माल और यात्री परिवहन की माँग में वृद्धि होगी। वर्तमान में मुंबई और पुणे यशवंतराव चव्हाण एक्सप्रेस-वे तथा मुंबई और नासिक हिंदू हृदय सम्राट बालासाहेब ठाकरे महाराष्ट्र समृद्धि महामार्ग से जुड़े हुए हैं। हालाँकि, पुणे और नासिक के बीच कोई एक्सप्रेस-वे कनेक्टिविटी नहीं है, लेकिन एक चार लेन का कैरिजवे राष्ट्रीय राजमार्ग आंशिक रूप से पूरा हो चुका है।”

वहीं, मुंबई और पुणे पहले से ही एक एक्सप्रेस-वे से जुड़े हुए हैं। अब निर्माणाधीन मुंबई-नागपुर एक्सप्रेस-वे मुंबई को नासिक से जोड़ेगा। इस प्रकार पुणे-नासिक एक्सप्रेस-वे मुंबई, नासिक और पुणे के बीच में तेजी से विकसित हो रहे ‘गोल्डन ट्राएंगल’ क्षेत्र को आपस में जोड़ेगा।

पुणे-नासिक एक्सप्रेस-वे पुणे जिले के जुन्नेर, अम्बेगाँव, खेड़ तथा नागेड़ जिले के संगमनेर के साथ-साथ नासिक जिले के सिन्नार से होकर गुजरेगा। इसे दस लेन एक्सप्रेस-वे के रूप में विकसित करने की योजना है।

एक अधिकारी ने बताया, “एक्सप्रेस-वे पर फ्लाइट लैंडिंग और टेकऑफ़ की सुविधा होगी। इसके अलावा, हर 5 किलोमीटर पर आपातकालीन टेलीफोन, पार्किंग और ट्रक वे, एम्बुलेंस और टोइंग सुविधाएँ, त्वरित प्रतिक्रिया वाहन होगी। हर 50 किलोमीटर पर आराम क्षेत्र होगा, जिसमें फूड प्लाजा, ट्रॉमा सेंटर, आईटी पार्क शामिल हैं। सूचना प्रौद्योगिकी सेवाओं में मुफ्त वाई-फाई का उपयोग, यातायात निगरानी, सीसीटीवी आदि लगाए जाएँगे।”

निर्माणाधीन एक्सप्रेस-वे के अलावा, महाराष्ट्र सरकार पहले ही पुणे और नासिक के बीच एक सेमी हाईस्पीड रेलवे के निर्माण का काम अपने हाथों में लिया है। महाराष्ट्र सरकार ने वार्षिक बजट 2021-22 में लंबित पुणे-नासिक रेलवे परियोजना को मंजूरी दे दी है।

सेमी हाईस्पीड रेलवे लाइन की प्रस्तावित लंबाई लगभग 235 किलोमीटर है और मार्ग पर 24 स्टेशन बनाने की योजना है। ट्रेन की गति 200 किलोमीटर प्रति घंटा होगी और परियोजना की अनुमानित लागत 16,039 करोड़ रुपए है। इसमें 18 सुरंगों का निर्माण किया जाएगा। पुणे-नासिक सेमी हाईस्पीड रेल लाइन महाराष्ट्र के तीन जिलों- पुणे, अहमदनगर और नासिक से होकर गुजरेगी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मेरे बेटे को मार डाला’: आधुनिक पश्चिमी सभ्यता ने दुनिया के सबसे अमीर शख्स को भी दे दिया ऐसा दर्द, कहा – Woke वाले...

लिंग-परिवर्तन कराने वाले को उसके पुराने नाम से पुकारना 'Deadnaming' कहलाता है। उन्होंने कहा कि इसका अर्थ है कि उनका बेटा मर चुका है।

‘बंद ही रहेगा शंभू बॉर्डर, JCB लेकर नहीं कर सकते प्रदर्शन’: सुप्रीम कोर्ट ने ‘आंदोलनजीवी’ किसानों को दिया झटका, 15 अगस्त को दिल्ली कूच...

सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब और हरियाणा के बीच शंभू बॉर्डर को अभी बंद ही रखने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा किसान JCB लेकर प्रदर्शन नहीं कर सकते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -