Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजगाँव जा रही थी नीलम, बीच रास्ते में रोक मोहम्मद शकील ने हाथ-स्तन-कान काटे:...

गाँव जा रही थी नीलम, बीच रास्ते में रोक मोहम्मद शकील ने हाथ-स्तन-कान काटे: तड़पता छोड़ भागा, मरते-मरते बता गई नाम

नीलम और शकील के बीच नजदीकियाँ थीं, लेकिन नीलम ने घर वालों की सख्ती के बाद उससे मिलना बंद कर दिया था। ऐसे में शकील नाराज हो गया और उससे नीलम द्वारा अनदेखा किए जाने पर मौका देख उस पर हमला कर दिया।

बिहार के भागलपुर में एक महिला की निर्मम हत्या कर दी गई है। मृतका का नाम नीलम यादव है। आरोप है कि खुद से दूरी बनाने से नाराज मोहम्मद शकील ने नीलम के कान, हाथ और स्तन काट डाले। हत्या के बाद शकील फरार हो गया है जिसकी तलाश में लगातार छापेमारी चल रही है। पुलिस ने शकील के भाई को गिरफ्तार कर लिया है। घटना शनिवार (3 दिसम्बर 2022) की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घटना पीरपैंती थानाक्षेत्र की है। यहाँ के गाँव दिलौरी की रहने वाली 42 वर्षीया विवाहिता नीलम यादव और मोहम्मद शकील में पहले से नजदीकी बताई जा रही है। दोनों के खेत बगल-बगल थे। शकील का नीलम के घर पहले से आना-जाना भी था। इसी के चलते शकील नीलम के परिवार के बाकी सदस्यों के साथ भी घुल-मिल चुका था। कुछ दिनों बाद नीलम के परिवार वालों को शकील की नीलम पर बिगड़ी नीयत का शक हुआ। परिजनों ने उसके घर आने पर रोक लगा दी। नीलम को भी शकील से दूर रहने की हिदायत दी गई।

बताया जा रहा है कि घर वालों की सख्ती के बाद नीलम ने शकील से मिलना-जुलना बंद कर दिया। इस बात से शकील काफी नाराज रहने लगा। उसने बीच में कई बार नीलम यादव से मिलने का प्रयास किया लेकिन उसे अनदेखा कर दिया गया। घटना के दिन नीलम बाजार गई थी। वहाँ से लौटने के दौरान शकील ने रास्ते में उन पर धारदार हथियार से हमला किया। आरोप है कि इस दौरान उसने 20 से 25 वार किए। आरोपित ने नीलम के स्तनों के अलावा कानों और हाथ पर भी घाव दिए।

बेहद गंभीर रूप से घायल नीलम को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया जहाँ उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। मृतका ने मृत्यु पूर्व अपने बयान में शकील मियाँ का नाम भी लिया है। मृतका के पति अशोक यादव ने मामले की तहरीर थाने में दी है। उन्होंने पुलिस पर लीपापोती का भी आरोप लगाया है। बताया जा रहा है कि शकील की तलाश में पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। वहीं उसके भाई को गिरफ्तार कर के भी पूछताछ की जा रही है।

भाजपा ने उठाए सवाल

भाजपा ने इस घटना के बाद बिहार सरकार पर सवाल खड़े किए हैं। बीजेपी के OBC मोर्चा महासचिव निखिल आनंद ने तेस्जवी और नीतीश से सवाल किया है कि वो इस घटना को सामान्य घटना मानते हैं या साम्प्रदायिक घटना ?

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केंद्र सरकार ने 4 साल में राज्यों को की ₹1.73 लाख करोड़ की मदद, फंड ना मिलने पर धरना देने वाली ममता सरकार को...

वित्त मंत्रालय ने बताया है कि केंद्र सरकार 2020-21 से लेकर 2023-24 तक राज्यों को ₹1.73 लाख करोड़ विशेष मदद योजना के तहत दे चुकी है।

जो बायडेन फिर से बने अमेरिकी राष्ट्रपति उम्मीदवार: ‘भूलने की बीमारी’ के कारण कर दिया था ट्वीट, सदमे में कमला हैरिस, 12 घंटे से...

जो बायडेन टेस्ट ले रहे थे कमला हैरिस का। वो भोकार पार-पार के, सर पटक कर रोने के बजाय खुश हो गईं। पिघलने के बजाय बायडेन को गुस्सा आ गया और...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -