Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाज'इस बार माफ़ी दे दो बाबूजी, कभी ऐसा नहीं होगा': गायों की तस्करी करता...

‘इस बार माफ़ी दे दो बाबूजी, कभी ऐसा नहीं होगा’: गायों की तस्करी करता था सूफियान, फायरिंग कर भागा तो टाँग में लगी यूपी पुलिस की गोली

मुजफ्फगरनगर की कोतवाली पुलिस और एसओजी ने काली नदी के पास चेकिंग अभियान चलाया था। इसी दौरान एनकाउंटर में कथित गौतस्कर सूफियान घायल हो गया। उस पर गौतस्करी के भी केस हैं।

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में एक संदिग्ध गौ-तस्कर एनकाउंटर के बाद पकड़ा गया है। पकड़े गए बदमाश का नाम सूफियान है। उस पर कई मामले दर्ज हैं और पुलिस उसकी हिस्ट्रीशीट खंगाल रही है। उसने पुलिस द्वारा चेकिंग के दौरान रोके जाने पर पुलिस पर ही गोली चला दी थी और फरार हो गया, जिसके बाद पुलिस ने मुठभेड़ में इसके पैरों में गोली मार दी। इस दौरान उसका एक वीडियो सामने आया है, जिसमें वो खुद को बचाने की गुहार लगा रहा है और कह रहा है ‘मुझसे इस बार गलती हो गई, आगे नहीं होगी। मुझे माफ कर दो।’

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मुजफ्फगरनगर की कोतवाली पुलिस और एसओजी की टीम ने काली नदी के पास चेकिंग अभियान चलाया था। इस दौरान एक बाइक सवार युवक को रोकने का इशारा किया गया तो वह रुका नहीं, बल्कि पुलिस पर फायरिंग कर भागने लगा। पुलिस की टीम ने बदमाश का पीछा और एनकाउंटर में उसे घायल कर पकड़ लिया।

एनकाउंटर के बाद पकड़े गए अभियुक्त का नाम सोफियान है जो जनपद शामली के तीन थानों से वांछित है। वो गौतस्करी के मामले में भी लिप्त रहा है। रॉयल बुलेटिन की खबर में उसे गौतस्कर बताया जा है। इस बीच, उसका एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वो पुलिस वालों से उसे छोड़ने की गुजारिश कर रहा है। इस वीडियो में सूफियान बोलता दिख रहा है, ‘गलती हो गई साहब, एक बार माफी दे दो। आगे से ऐसा नहीं होगा बाबू जी।’

पुलिस ने बताया है कि बदमाश के पास से तमंचा, कारतूस और मोटरसाइकिल बरामद हुई है। बदमाश के ऊपर शामली जिले के थानों में गोकशी व चोरी के मुकदमें दर्ज है। फिलहाल बदमाश की हिस्ट्रीशीट निकाली जा रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -