Sunday, May 16, 2021
Home देश-समाज प्रधानाध्यापक फ़ुरक़ान अली के पीलीभीत स्कूल में छात्रों ने कभी नहीं गाया राष्ट्रगान, जाँच...

प्रधानाध्यापक फ़ुरक़ान अली के पीलीभीत स्कूल में छात्रों ने कभी नहीं गाया राष्ट्रगान, जाँच में हुआ ख़ुलासा

प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक फ़ुरक़ान अली के निलंबन को अस्थायी रूप से रद्द करने के कुछ दिनों बाद, ज़िला प्रशासन द्वारा की गई जाँच में पाया गया कि स्कूल में छात्रों से कभी राष्ट्रगान नहीं गवाया गया।

पीलीभीत ज़िले की बेसिक शिक्षा अभियान (BSA) द्वारा ‘मानवीय आधार’ पर बीसलपुर के प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक फ़ुरक़ान अली के निलंबन को अस्थायी रूप से रद्द करने के कुछ दिनों बाद, ज़िला प्रशासन द्वारा की गई जाँच में पाया गया कि स्कूल में छात्रों से कभी राष्ट्रगान नहीं गवाया गया।

इस मामले की जाँच ज़िला मजिस्ट्रेट वैभव श्रीवास्तव के निर्देश पर, 21 अक्टूबर को सिटी मजिस्ट्रेट रितु पुनिया, अतिरिक्त ज़िला मजिस्ट्रेट (नगर) वंदना त्रिवेदी और बीएसए देवेंद्र स्वरूप सहित तीन सदस्यीय टीम ने की थी।

14 अक्टूबर को प्रशासन ने विश्व हिन्दू परिषद् (वीएचपी) के सदस्य की शिक़ायत के आधार पर स्कूल के प्रधानाचार्य फ़ुरकान अली को सस्पेंड कर दिया था। उन पर आरोप था कि उन्होंने छात्रों से प्रार्थना सभा में धार्मिक प्रार्थना कराई थी। वीएचपी सदस्य ने आरोप लगाया था कि यह प्रार्थना मदरसे में कराई जाने वाली प्रार्थना है।

वहीं, बीसलपुर के खंड शिक्षा अधिकारी (बीईओ) उपेंद्र कुमार की एक जाँच में पाया गया कि अली ने छात्रों को 1902 में कवि मुहम्मद इक़बाल द्वारा लिखी गई कविता ‘लब पे आती है दुआ’ को गवाया था। बता दें कि इक़बाल ने ‘सारे जहाँ से अच्छा’ गीत भी लिखा था।

ज़िला प्रशासन द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, रिपोर्ट में कहा गया है कि बच्चों के साथ बातचीत के दौरान, यह पाया गया कि स्कूल में बच्चों ने न तो कभी ‘राष्ट्रगान’ गाया और न ही आधिकारिक रूप से स्वीकृत प्रार्थना ‘वह शक्ति हमें दो दयानिधे’ गाई। बच्चों ने बताया कि उन्होंने हमेशा ‘लब पे आती है दुआ’ का ही पाठ किया है। नए शिक्षक पिछले दो या तीन दिनों से बच्चों को राष्ट्रगान और दूसरी प्रार्थना करवा रहे हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि जिस दिन जाँच हुई, उस दिन कुल 267 में से 53 छात्र उपस्थित थे।

रिपोर्ट में इस बात का भी जिक्र है कि स्कूल में शिक्षा की गुणवत्ता ‘असंतोषजनक’ पाई गई है। जब पाँचवी कक्षा के छात्रों को कुछ सरल इंग्लिश और हिन्दी शब्द लिखने के लिए कहा गया, तो वे नहीं लिख सके। छात्रों ने बताया कि उन्हें केवल मौखिक रूप से शिक्षा दी जाती है। कोई भी छात्र राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री का नाम नहीं बता सका। पाँचवी कक्षा के छात्र ‘ज्ञान प्रकाश’ और ‘हिन्दुस्तान’ जैसे शब्द नहीं लिख सके। छात्रों में अनुशासन की भी कमी देखी गई।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हिंदू धर्म और RSS का उड़ाया मजाक: मीडिया गिरोह ने मुक्ति को मौत से जोड़ा, वीडियो से खुल गई इनकी पोल

स्क्रीनशॉट को शेयर करते हुए चिश्ती ने आश्चर्य जताया कि क्या कॉन्ग्रेस-मुक्त-भारत में 'मुक्त' वास्तव में 'मौत' के लिए इस्तेमाल किया गया है।

ईद में तिरंगा बिछाया, उसके ऊपर खाना खाया: असम में 6 गिरफ्तार, रेजिना परवीन सुल्ताना के घर हो रही थी दावत

असम पुलिस ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि अभयपुरी के टेंगनामारी गाँव की रेजिना परवीन सुल्ताना के घर में डाइनिंग टेबल पर भारतीय ध्वज...

कॉन्ग्रेस नेता और बॉक्सर विजेंद्र सिंह Randya पर फँसे: घेर रहे थे BJP को, अब ‘गाली नहीं है’ पर दूसरे दे रहे सफाई

कॉन्ग्रेस नेता व बॉक्सर विजेंद्र सिंह ट्विटर पर किए गए एक आपत्तिजनक ट्वीट को लेकर फँस गए हैं। कॉन्ग्रेस नेता ने Randya लिख कर...

Tauktae का कहर, 6 की मौत: कर्नाटक, महाराष्ट्र, गुजरात, गोवा में भारी बारिश, प्रभावित राज्यों के CM के साथ गृहमंत्री की बैठक

अरब सागर में बने चक्रवाती तूफान Tauktae ने पश्चिमी भारत के समुद्री तटों पर दस्तक दे दी है। इसकी वजह गुजरात, महाराष्ट्र और गोवा समेत...

इजराइली बेबस बाप की गोद में बेटी और आसमान में फटता रॉकेट: रोंगटे खड़े कर देने वाला वीडियो वायरल

यह वीडियो फिलिस्तीन के आतंकी संगठन हमास द्वारा किए गए हमले का है। आप इस वीडियो में देख सकते हैं कि किस तरह एक बेबस पिता..

हमास और PIJ के टॉप 30+ आतंकियों को उड़ा दिया: नाम और फोटो के साथ इजराइल ने कहा – अभी और मारेंगे

इजराइल और हमास के बीच खूनी संघर्ष सातवें दिन भी जारी है। इजराइल डिफेंस फोर्स ने 30 से अधिक हमास और फिलिस्तीनी इस्लामिक जिहादियों को...

प्रचलित ख़बरें

ईद पर 1 पुलिस वाले को जलाया जिंदा, 46 को किया घायल: 24 घंटे के भीतर 30 कट्टरपंथी मुस्लिमों को फाँसी

ईद के दिन मुस्लिम कट्टरपंथियों ने 1 पुलिसकर्मी के साथ मारपीट की, उन्हें जिंदा जला दिया। त्वरित कार्रवाई करते हुए 30 को मौत की सजा।

पैगंबर मोहम्मद की दी दुहाई, माँगा 10 मिनट का समय: अल जजीरा न्यूज चैनल बिल्डिंग के मालिक को अनसुना कर इजरायल ने की बमबारी

इस वीडियो में आप देख सकते हैं कि बिल्डिंग का मालिक इजरायल के अधिकारी से 10 मिनट का वक्त माँगता है। वो कहता है कि चार लोग बिल्डिंग के अंदर कैमरा और बाकी उपकरण लेने के लिए अंदर गए हैं, कृपया तब तक रुक जाएँ।

ईद में नंगा नाच: 42 सदस्यीय डांस ग्रुप की लड़कियों को नंगा नचाया, 800 की भीड़ ने खंजर-कुल्हाड़ी से धमकाया

जब 42-सदस्यीय ग्रुप वहाँ पहुँचा तो वहाँ ईद के सांस्कृतिक कार्यक्रम जैसा कोई माहौल नहीं था। जब उन्होंने कुद्दुस अली से इस बारे में बात की तो वह उन्हें एक संदेहास्पद स्थान पर ले गया जो हर तरफ से लोहे की चादरों से घिरा हुआ था। यहाँ 700-800 लोग लड़कियों को घेर कर खंजर से...

इजरायल के विरोध में पूर्व पोर्न स्टार मिया खलीफा: ट्वीट कर बुरी तरह फँसीं, ‘किसान’ प्रदर्शन वाला ‘टूलकिट’ मामला

इजरायल और फिलिस्तीनी आंतकियों के बीच संघर्ष लगातार बढ़ता ही जा रहा है। पूर्व पोर्न-स्टार मिया खलीफा ने गलती से इजरायल के विरोध में...

इजरायली सेना ने अल जजीरा की बिल्डिंग को बम से उड़ाया, सिर्फ 1 घंटे की दी थी चेतावनी: Live Video

गाजा में इजरायली सेना द्वारा अल जजीरा मीडिया हाउस की बिल्डिंग पर हमला किया गया है। यह बिल्डिंग पूरी तरह ध्वस्त हो गई है।

इजरायली रॉकेट से मरीं केरल की सौम्या… NDTV फिर खेला शब्दों से, Video में कुछ और, शीर्षक में जिहादियों का बचाव

केरल की सौम्या इजरायल में थीं, जब उनकी मौत हुई। वह अपने पति से बात कर रही थीं, तभी फिलिस्तीनी रॉकेट उनके पास आकर गिरा। लेकिन NDTV ने...
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,371FansLike
94,783FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe