Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजपाली, सूरत, वडोदरा… हर जगह एक जैसा तनाव: कहीं सड़क पर फेंके मवेशी के...

पाली, सूरत, वडोदरा… हर जगह एक जैसा तनाव: कहीं सड़क पर फेंके मवेशी के सिर, कहीं झील में मिले मांस के टुकड़े

वडोदरा की मशहूर सूर सागर झील में भी मांस का बड़ा टुकड़ा मिलने से सनसनी फैल गई। इस सूर सागर झील में भगवान शिव की प्रतिमा भी स्थापित है, जिसके बाद लोगों ने कार्रवाई की माँग की है।

राजस्थान के पाली शहर में 4 मवेशियों के सिर मिलने से तनाव फैल गया। इन सिरों पर चमड़ी नहीं थी, ऐसे में स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया कि ये सिर गौवंश के हैं। स्थानीय लोगों ने कार्रवाई की माँग करते हुए जयपुर-जोधपुर हाईवे को भी ब्लॉक कर दिया। इस बीच राजस्थान पुलिस ने जमकर लाठियाँ भाँजी और करीब 3 घंटे की मशक्कत के बाद हाईवे को खुलवाया। वहीं, दूसरी तरफ गुजरात के सूरत में मांस के बड़े टुकड़े मिलने से तनाव फैल गया, तो वडोदरा की मशहूर सूर सागर झील में भी मांस का बड़ा टुकड़ा मिलने से सनसनी फैल गई। इस सूर सागर झील में भगवान शिव की प्रतिमा भी स्थापित है, जिसके बाद लोगों ने कार्रवाई की माँग की है।

पाली में जमकर बवाल, जाँच जारी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, राजस्थान के पाली शहर के बजरंग बाड़ी इलाके में बांडी नदी के पास गुरुवार (20 जून 2024) रात को मवेशियों के शवों के कटे अवशेष पड़े होने की सूचना पर मस्तान बाबा क्षेत्र में हंगामा हो गया। गौभक्तों के साथ हिन्दूवादी संगठनों ने मवेशी के अवशेष को देखकर हंगामा किया। भीड़ मस्तान बाबा चौराहे पर जमा हो गई और टायर जला कर विरोध जताया। चौराहे पर लोग धरना देकर बैठ गए। इस दौरान पुलिस ने हल्का बल प्रयोग भी किया, जिसमें चार लोग घायल हो गए।

एएसपी विपिन कुमार शर्मा ने बताया कि बांडी नदी के पास चार से ज्यादा सिर मिले हैं, जिन पर चमड़ी नहीं थी। अब जाँच के बाद ही यह पता चलेगा कि ये सिर किस जानवर के हैं। हिंदू संगठनों का कहना है कि ये गोवंशों के अवशेष हैं। मवेशियों के कटे सिर मिलने की सूचना के बाद लोग बजरंग बाड़ी इलाके में एकत्र हो गए। इस बीच, रात 11 बजे मवेशियों के अवशेष का पोस्टमार्टम करने वाली टीम को लेकर लौट रहे पशुपालन विभाग के ड्राइवर देवीलाल स्कार्पियो को अचानक भीड़ के पास ले आया, जिससे लोग और ज्यादा आक्रोशित हो गए। भीड़ ने स्कार्पियो को घेर लिया और ड्राइवर से मारपीट कर दी।

सूरत के पाल में मिला पशु का सिर

इस बीच, सूरत में जैन देरासर के पास एक जानवर का कटा हुआ सिर मिलने से हड़कंप मच गया। यह मामला सूरत के पाल इलाके में मणिभद्रा रेजीडेंसी के पास का है। आसपास डेरासर हैं और यहाँ जैनियों की अच्छी आबादी रहती है। यहाँ बुधवार (19 जून) सुबह सरेआम एक जानवर का कटा हुआ सिर मिला। तभी जैन समुदाय के महाराजा, नेता और स्थानीय लोग इकट्ठा हो गए और पुलिस को भी सूचना दी गई।

मौके पर पहुँचे जैन मुनि ने कहा, ”पाल में हिंदू-जैन बड़ी संख्या में रहते हैं, इस तरह से गाय का गला काटने का प्रयास करना एक बुरा कृत्य है। एक वर्ग को उकसाने के लिए यह कृत्य किया गया है। इसके अलावा अन्य संत और जैन समुदाय के अन्य सदस्य भी मौके पर पहुँचे और पुलिस से धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचाने वाले अपराधियों का पता लगाने और उन्हें कड़ी सजा देने की अपील की। पुलिस ने बताया है कि इस मामले में एफएसएल अधिकारी को बुलाकर अवशेष सौंप दिया गया है। जाँच के बाद पता चलेगा कि अवशेष किस पशु का है।

वडोदरा के सूर सागर में मिला जानवर का टुकड़ा

वडोदरा की प्रसिद्ध सूरसागर झील में बुधवार (19 जून) को जानवर के मांस का एक टुकड़ा मिला, जिसके गाय का होने का संदेह है। सूचना मिलते ही हिंदू संगठन मौके पर पहुंचे और फिर पुलिस को भी सूचना दी गई।

वडोदरा बजरंग दल के एक कार्यकर्ता ने कहा कि जानवर के मांस का टुकड़ा गोमांस जैसा लग रहा है। यह वडोदरा शहर की शांति भंग करने का प्रयास है। हम माँग करते हैं कि जिसने भी यह कृत्य किया है उसका पता लगाकर उसे गिरफ्तार किया जाए और कड़ी कार्रवाई की जाए।।

बता दें कि सूरसागर झील के मध्य में भगवान शिव की एक विशाल प्रतिमा स्थापित की गई है। वहीं पुलिस ने मामले का संज्ञान लेते हुए सैंपल एफएसएल को भेज दिए हैं। एफएसएल जाँच के बाद पता चलेगा कि टुकड़ा गोमांस का है या नहीं। फिलहाल आगे की जाँच चल रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जगन्नाथ मंदिर के ‘रत्न भंडार’ और ‘भीतरा कक्ष’ में क्या-क्या: RBI-ASI के लोगों के साथ सँपेरे भी तैनात, चाबियाँ खो जाने पर PM मोदी...

कहा जाता है कि इसकी चाबियाँ खो गई हैं, जिस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सवाल उठाया था। राज्य में भाजपा की पहली बार जीत हुई है, वर्षों से यहाँ BJD की सरकार थी।

मांस-मछली से मुक्त हुआ गुजरात का पालिताना, इस्लाम और ईसाइयत से भी पुराना है इस शहर का इतिहास: जैन मंदिर शहर के नाम से...

शत्रुंजय पहाड़ियों की यह पवित्रता और शीर्ष पर स्थित धार्मिक मंदिर, साथ ही जैन धर्म का मूल सिद्धांत अहिंसा है जो पालिताना में मांस की बिक्री और खपत पर प्रतिबंध लगाने की मांग का आधार बनता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -