Sunday, August 1, 2021
Homeदेश-समाजगोमांस तस्करों को पकड़ने गई यूपी पुलिस पर हमला: जवाबी मुठभेड़ में तस्कर मजीद...

गोमांस तस्करों को पकड़ने गई यूपी पुलिस पर हमला: जवाबी मुठभेड़ में तस्कर मजीद घायल, चार अन्य फरार

थानाक्षेत्र के लखनऊ-बांगरमऊ मार्ग पर बने मुरव्वतपुर तिराहे के पास गोवंश की हत्या कर उनके मांस का कारोबार किया जा रहा था। जब पुलिस को इसकी सूचना हुई तो वह मंगलवार तड़के करीब 3 बजे वहाँ पहुँचे। लेकिन तस्करों ने पुलिस को देखकर गोली चला दी।

उत्तर प्रदेश के उन्नाव के आसीवान थाना क्षेत्र के एक गाँव में गोमांस तस्करी का मामला सामने आया है। खबर है कि पुलिस टीम पर वहाँ अचानक गोमांस तस्करों ने हमला किया जिसके बाद दोनों ओर से गोलियाँ चलनी शुरू हो गईं। घटना में एक तस्कर के पैर पर गोली लगी। वहीं पुलिस को छानबीन में आरोपित के पास से असलहा बरामद हुआ।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के मुताबिक, थानाक्षेत्र के लखनऊ-बांगरमऊ मार्ग पर बने मुरव्वतपुर तिराहे के पास गोवंश की हत्या कर उनके मांस का कारोबार किया जा रहा था। जब पुलिस को इसकी सूचना हुई तो वह मंगलवार (जुलाई 6, 2021) तड़के करीब 3 बजे वहाँ पहुँचे। लेकिन तस्करों ने पुलिस को देखकर गोली चला दी। 

बाद में जवाबी कार्रवाई करते हुए पुलिस ने भी फायरिंग की। पुलिस से हुई इस मुठभेड़ में थानाक्षेत्र के गाँव मुशीराबाद का रहने वाला गोमांस तस्कर मजीद पुत्र बच्चा घायल हो गया। पुलिस ने उसे स्थानीय अस्पताल पहुँचाया फिर उसे  जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। 

पुलिस के मुताबिक, उन्होंने आरोपित के घर से भरी मात्रा में गोमाँस बरामद किया है। उसे पकड़ने के दौरान चार व्यक्ति भागने में सफल रहे जिनकी तलाश में पुलिस दबिश दे रही है। 

उल्लेखनीय है कि गौवंश की हत्या का मामला पिछले दिनों यूपी के सोनभद्र से आया था। वहाँ पुलिस ने जिले के बरवाखड़ गाँव के नवनिर्वाचित प्रधान रकमुद्दीन को गिरफ्तार किया था। एक अधिकारी के अनुसार रकमुद्दीन के अलावा चार अन्य लोग भी गौहत्या के आरोप में गिरफ्तार किए गए थे।

स्थानीय नागरिकों ने बताया था कि, रकमुद्दीन कथित तौर पर चुनाव जीतने पर मतदाताओं को बीफ पार्टी देने का वादा किया था। 6 मई 2021 की देर रात बीफ पार्टी और गौहत्या की खबर जैसे ही ग्रामीणों को लगी तो उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी थी। एक पुलिस अधिकारी ने बताया था कि गौहत्या के आरोप में ग्राम प्रधान को चार अन्य लोगों के साथ गिरफ्तार किया गया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मस्जिद के सामने जुलूस निकलेगा, बाजा भी बजेगा’: जानिए कैसे बाल गंगाधर तिलक ने मुस्लिम दंगाइयों को सिखाया था सबक

हिन्दू-मुस्लिम दंगे 19वीं शताब्दी के अंत तक महाराष्ट्र में एकदम आम हो गए थे। लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक इससे कैसे निपटे, आइए बताते हैं।

मानसिक-शारीरिक शोषण से धर्म परिवर्तन और निकाह गैर-कानूनी: हिन्दू युवती के अपहरण-निकाह मामले में इलाहाबाद HC

आरोपित जावेद अंसारी ने उत्तर प्रदेश में 'लव जिहाद' के खिलाफ बने कानून के तहत हो रही कार्रवाई को रोकने के लिए इलाहाबाद हाईकोर्ट का रुख किया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,404FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe