Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाज'नारकोटिक्स जिहाद' वाले पादरी ने अब 'छद्म सेक्युलरिज्म' को लेकर चेताया, कहा- केरल में...

‘नारकोटिक्स जिहाद’ वाले पादरी ने अब ‘छद्म सेक्युलरिज्म’ को लेकर चेताया, कहा- केरल में बढ़ रही है कट्टरता

पादरी ने अपने पिछले बयान (नारकोटिक्स और लव जिहाद) का बचाव किया और कहा कि जो लोग इन बुराइयों के खिलाफ अपनी आवाज नहीं उठाते हैं, असल में वो इस तरह की बुराइयों को बढ़ावा देते हैं। इन बुराइयों को नजरअंदाज करने के बजाय ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो इस पर विचार करने की जरूरत है।

‘नारकोटिक्स और लव जिहाद’ वाले बयान के बाद केरल के सायरो मालाबार कैथोलिक चर्च के पाला डॉयसीज बिशप ‘जोसेफ कल्लारंगट‘ ने अब धर्मनिरपेक्षता पर बयान दिया है। उन्होंने केरल में बढ़ती कट्टरता और साम्प्रदायिकता पर चिंता व्यक्त की और कहा, “छद्म धर्मनिरपेक्षता भारत को तबाह कर देगी। इसलिए असली धर्मनिरपेक्षता की रक्षा करने की आवश्यकता है।”

चर्च से जुड़े अखबार ‘दीपिका’ में लिखे एक आर्टिकल में पादरी ने अपने पिछले बयान (नारकोटिक्स और लव जिहाद) का बचाव किया और कहा कि जो लोग इन बुराइयों के खिलाफ अपनी आवाज नहीं उठाते हैं, असल में वो इस तरह की बुराइयों को बढ़ावा देते हैं। इन बुराइयों को नजरअंदाज करने के बजाय ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो इस पर विचार करने की जरूरत है।

उन्होंने कहा, “धर्मनिरपेक्षता भारत का मूल है और ‘दिखावे की धर्मनिरपेक्षता’ भारत को तबाह कर देगी। हमारा संविधान धर्मनिरपेक्षता पर आधारित है। सभी धार्मिक समुदायों और धर्मनिरपेक्ष समुदाय को एक साथ रहना सीखना चाहिए। सभी धर्मों का सम्मान किया जाना चाहिए।” पादरी ने केरल में साम्प्रदायिक घटनाओं के बढ़ने और इसके ध्रुवीकरण पर अपनी चिंता व्यक्त की और कहा कि धर्मनिरपेक्षता का वास्तविक लाभ किसे मिलता है, इस पर अब सवाल उठने लगे हैं।

नारकोटिक्स जिहाद पर भी दिया था बयान

पिछले महीने जोसेफ कल्लारंगट ने एक बयान में कहा था कि केरल में कैथोलिक लड़कियाँ अब ‘लव और नारकोटिक्स जिहाद’ की शिकार हो रही हैं। उन्होंने कहा था कि केरल में एक खास ग्रुप है जो विभिन्न इलाकों में कैथोलिक और हिंदू युवाओं को ड्रग व अन्य नशा का आदी बना रहा है। ऐसे लोगों का मकसद दूसरे धर्म को भ्रष्ट करने का है।

इसके अलावा बिशप ने ये भी कहा था कि केरल में ‘लव जिहाद’ होने से इनकार करने का कोई भी प्रयास सच्चाई से मुँह मोड़ लेने जैसा है। बिशप ने कहा था कि मुस्लिम विचारों को जबरदस्ती लाने की योजना चल रही है। सभी कैथोलिकों को इसके बारे में पता होना चाहिए और सतर्क रहना चाहिए।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मेरे बेटे को मार डाला’: आधुनिक पश्चिमी सभ्यता ने दुनिया के सबसे अमीर शख्स को भी दे दिया ऐसा दर्द, कहा – Woke वाले...

लिंग-परिवर्तन कराने वाले को उसके पुराने नाम से पुकारना 'Deadnaming' कहलाता है। उन्होंने कहा कि इसका अर्थ है कि उनका बेटा मर चुका है।

‘बंद ही रहेगा शंभू बॉर्डर, JCB लेकर नहीं कर सकते प्रदर्शन’: सुप्रीम कोर्ट ने ‘आंदोलनजीवी’ किसानों को दिया झटका, 15 अगस्त को दिल्ली कूच...

सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब और हरियाणा के बीच शंभू बॉर्डर को अभी बंद ही रखने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा किसान JCB लेकर प्रदर्शन नहीं कर सकते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -