Wednesday, July 28, 2021
Homeदेश-समाज'4 साल से उससे अलग हूँ... फिर भी उसने मेरा iPad छीन लिया, ED...

‘4 साल से उससे अलग हूँ… फिर भी उसने मेरा iPad छीन लिया, ED को झूठी गवाही देने के लिए मजबूर किया’

रतुल पुरी की पत्नी कविता ने कहा कि रतुल ने उन्हें चेतावनी दी थी कि कि वो ईडी के पास न जाएँ और न ही किसी अनजान नंबर से आने वाले कॉल का जवाब दे।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी को पिछले 80 दिनों से हिरासत में रखा गया है। उन पर अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले और अन्य मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप दर्ज हैं। अब रतुल की पत्नी कविता ने उन पर आरोप लगाया है कि वो उन्हें (कविता को) प्रवर्तन निदेशालय (ED) के सामने झूठा बयान देने के लिए मजबूर कर रहे थे।

कविता ने कहा कि रतुल ने उन्हें चेतावनी दी थी कि कि वो ईडी के पास न जाएँ और न ही किसी अनजान नंबर से आने वाले कॉल का जवाब दे। साथ ही कविता ने यह भी बताया कि रतुल ने उनका टैबलेट (आईपैड) छीन लिया था और फिर वापस माँगने पर यह कहकर देने से इनकार कर दिया कि आयकर विभाग के छापे के दौरान खो गया। बता दें कि ईडी द्वारा कविता के आईपैड को सबूत के रूप में माँगा जा रहा है। 

कविता ने जाँच एजेंसी को बताया कि वो पिछले चार साल से रतुल पुरी से अलग रही हैं। ईडी के सामने बयान दर्ज कराते हुए उन्होंने कहा कि रतुल पुरी ने उनको जुलाई में एक पत्र लिखने के लिए मजबूर किया कि वह जाँच में शामिल नहीं हो सकतीं, क्योंकि उन्हें औरंगजेब रोड स्थित अपने ससुर दीपक पुरी के घर जाना था। कविता फिलहाल हयात रीजेंसी होटल में रह रही हैं।

ईडी ने 2 नवंबर को दिल्ली की एक विशेष अदालत के समक्ष एक पूरक आरोप पत्र के हिस्से के रूप में कविता के बयान को पेश किया और तर्क दिया कि पुरी न्यायिक हिरासत में होने के बावजूद अपनी गर्लफ्रेंड के जरिए सबूतों को नष्ट करने में लगे हैं और गवाहों को धमकी दे रहे हैं।

विशेष अदालत ने ईडी की पूरक चार्जशीट का संज्ञान लिया है। ईडी के सूत्रों ने दावा किया है कि इससे पहले भी पुरी के कई करीबी दोस्त और सहयोगी, जो उनके खिलाफ बयान दर्ज करने के लिए स्वेच्छा से एजेंसी के समक्ष पहले पेश हुए थे, उनको भी धमकी दी जा रही है। उन लोगों ने बताया कि उन्हें पुरी द्वारा चेतावनी दी गई थी कि वे पुरी के अकाउंटेंट के पास से बरामद डायरी में उनके नामों के खिलाफ प्रविष्टियों को स्वीकार न करें।

ईडी के सूत्रों ने दावा किया कि डायरी में पुरी के वित्तीय लेनदेन को सूचीबद्ध किया गया था। ईडी ने विशेष अदालत को यह भी बताया कि इस मामले में एक महत्वपूर्ण गवाह और पुरी के अकाउंटेंट केके खोसला गायब हैं। खोसला, रतुल पुरी के नकद लेन-देन का रिकॉर्ड रखते थे। आयकर विभाग ने रतुल पुरी की कंपनी मोजर बिअर पर छापेमारी के दौरान यह डायरी बरामद की थी। इसके बाद ईडी ने उन लोगों को समन करना शुरू किया था, जिनके नाम का इस डायरी में उल्लेख था। जब से डायरी मिली है, तभी से केके खोसला का कुछ पता नहीं है।

इस डायरी में कथित रूप से कई लोगों के साथ नकद लेन-देन दिखाया गया है और कुछ प्रविष्टियों को रतुल पुरी के पिता दीपक पुरी द्वारा काउंटर-साइन किया गया था। एजेंसी ने दावा किया कि जिन लोगों के नाम का डायरी में उल्लेख था, उनसे पूछताछ के दौरान, सभी ने उन्हें किए गए भुगतान की पुष्टि की है।

डायरी में प्रविष्टियों से संबंधित मामले में जिन लोगों से पूछताछ की गई, उसमें संदीप नारंग, महिपाल, अवध बिहारी गिरि और वेद प्रकाश दामिजा का नाम शामिल है। ये सभी जानकारी अब न्यायिक रिकॉर्ड का हिस्सा है। ईडी को दिए ताजा बयान में नारंग ने बताया कि 26 जुलाई को जब वो ईडी ऑफिस से लौटे और रतुल पुरी को पता चला कि उन्होंने एजेंसी को उनके नाम के खिलाफ नकद लेन-देन की प्रविष्टियों की पुष्टि की है, तो रतुल पुरी ने उनसे उनके बयान को वापस लेने के लिए कहा। पुरी ने नारंग से कहा कि उन्हें किसी तरह की पुष्टि नहीं करनी चाहिए थी।

ईडी ने मामले में गवाहों को प्रभावित करने के कई अन्य उदाहरणों का हवाला दिया, जिसमें वीवीआईपी चॉपर घोटाले में आरोपित राजीव सक्सेना को धमकाने का भी आरोप शामिल है। ईडी के आरोप पत्र में कहा गया है कि पुरी ने सक्सेना को अपने पिता और चाचा के खिलाफ साक्ष्यों को जाँच अधिकारियों के समक्ष साझा न करने के लिए दबाव बनाया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दामाद के परिवार का दिवालिया कॉलेज खरीदेगी भूपेश बघेल सरकार: ₹125 करोड़ का कर्ज, मान्यता भी नहीं

छत्तीसगढ़ की कॉन्ग्रेस सरकार ने एक ऐसे मेडिकल कॉलेज के अधिग्रहण की तैयारी शुरू की, जो सीएम भूपेश बघेल की बेटी दिव्या के ससुराल वालों का है।

एक शक्तिपीठ जहाँ गर्भगृह में नहीं है प्रतिमा, जहाँ हुआ श्रीकृष्ण का मुंडन संस्कार: गुजरात का अंबाजी मंदिर

गुजरात के बनासकांठा जिले में राजस्थान की सीमा पर अरासुर पर्वत पर स्थित है शक्तिपीठों में से एक श्री अरासुरी अंबाजी मंदिर।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,580FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe