Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाजसारे ट्रैक्टर लेकर आओ, हर कोई दिल्ली आओ, पुलिस हमें पीट रही-गाली दे रही…...

सारे ट्रैक्टर लेकर आओ, हर कोई दिल्ली आओ, पुलिस हमें पीट रही-गाली दे रही… AAP नेता के खाट से जंतर-मंतर पर रात को दंगल

पूनिया की वीडियो के बीच में कुछ पहलवानों को गुस्से में कहते सुना जा सकता है- "सभी लोग ट्रैक्टर लेकर आओ, ट्रैक्टर लेकर दिल्ली आओ।"

दिल्ली के जंतर-मंतर पर चल रहे पहलवानों के प्रदर्शन में पहलवानों और पुलिस के बीच झड़प की खबर है। एक वीडियो सामने आई है जिसमें कुछ लोग फोल्डिंग बेड लेकर प्रोटेस्ट में घुसते दिख रहे हैं, वहीं दिल्ली पुलिस उन्हें ऐसा करने से रोक रही है। इस दौरान रेसलर्स को बार-बार ‘वीडियो बना लो-वीडियो बना लो’ कहते और पुलिस से भिड़ते देखा जा सकता है।

घटना के बाद बजरंग पूनिया समेत अन्य पहलवानों का बयान आया। इसमें वह सारे देशवासियों से कह रहे हैं कि उनके प्रदर्शन को लोग समर्थन देने दिल्ली के जंतर-मंतर आएँ। पूनिया कहते हैं, “हमें पूरे देश के साथ की जरूरत है। हर किसी को दिल्ली आना चाहिए। पुलिस हमारे विरुद्ध तो बल इस्तेमाल कर रही है, बहन-बेटियों के साथ गाली-गलौच कर रही है, बद्तमीजी हो रही है, लेकिन बृजभूषण का कुछ नहीं हो रहा।”

पूनिया की इसी वीडियो के बीच में कुछ पहलवानों को गुस्से में कहते सुना जा सकता है- “सभी लोग ट्रैक्टर लेकर आओ, ट्रैक्टर लेकर दिल्ली आओ, सुबह नहीं होनी चाहिए। सुबह सभी यहीं पर सबसे पहले आओ।”

दिल्ली पुलिस ने इस झड़प के बाद बताया कि जंतर-मंतर पर चल रहे पहलवानों के प्रदर्शन के दौरान आप नेता सोमनाथ भारती प्रदर्शन स्थल पर फोल्डिंग बेड लेकर पहुँचे थे। जब पुलिस ने उन्हें रोकने का प्रयास किया तो समर्थक भड़क गए और बेड को ट्रक से नीचे फेंकने का प्रयास किया। इस बीच छोटी झड़प हो गई। पुलिस ने सोमनाथ भारती समेत 2 को हिरासत में लिया है।

डीसीपी प्रणव ने भी इस संबंध में बताया, “अनुमति न होने के बावजूद सोमनाथ भारतीय जंतर-मंतर पर प्रदर्शन में फोल्डिंग बेड लेकर आए। हमने बस उन्हें घुसने नहीं दिया तो उस पर झड़प गुई। उन्होंने महिला पहलवानों से बदसलूकी पर कहा कि साइट पर महिला पुलिसकर्मी लगातार तैनात हो रखी हैं। हमने पहलवानों से कहा है कि वो अपनी शिकायत दें और पुलिस उसपर निष्पक्ष जाँच करेगी। जिस पुलिसकर्मी पर इन्होंने नशे में होने का आरोप लगाया है कि उसका भी मेडिकल करवाया जा रहा है जो भी एक्शन लेना होगा वो भी लेंगे।”

बता दें कि इससे पहले भारतीय ओलंपिक संघ की अध्यक्ष पीटी ऊषा ने जंतर-मंतर पर बैठे खिलाड़ियों से बात की थी। उन्होंने आश्वासन दिया था कि पहलवानों की समस्या पर गौर किया जाएगा और जल्द समाधान होगा। वहीं दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर मिल रही पुलिस सुरक्षा को पहलवानों ने लेने से मना कर दिया। पहलवानों ने कहा कि अगर वे जंतर-मंतर पर भी सुरक्षित नहीं है, तो वे कही भी सुरक्षित नहीं है। वे यहाँ शांतिपूर्वक धरना दे रहे हैं। उन्हें किसी से भी कोई दिक्कत नहीं है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बांग्लादेश में आरक्षण खत्म: सुप्रीम कोर्ट ने कोटा व्यवस्था को रद्द किया, दंगों की आग में जल रहा है मुल्क

प्रदर्शनकारी लोहे के रॉड हाथों में लेकर सेन्ट्रल डिस्ट्रिक्ट जेल पहुँच गए और 800 कैदियों को रिहा कर दिया। साथ ही जेल को आग के हवाले कर दिया गया।

‘कमाल का है PM मोदी का एनर्जी लेवल, अनुच्छेद-370 हटाने के लिए चाहिए था दम’: बोले ‘दृष्टि’ वाले विकास दिव्यकीर्ति – आर्य समाज और...

विकास दिव्यकीर्ति ने बताया कि कॉलेज के दिनों में कई मुस्लिम दोस्त उनसे झगड़ा करते थे, क्योंकि उन्हें RSS के पक्ष से बहस करने वाला माना जाता था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -